नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। हम अक्सर सुनते हैं कि भारत में खूब जुगाड़ चलता है। यह वह देश है जहां बाइक को रिक्शा और ट्रैक्टर को ट्रक बनने में ज्यादा समय नहीं लगता है। यहां सब जुगाड़ से चलता है। अभी कुछ ही दिन पहले की बात है, जब भारत के एक आम शख्स ने ऐसा ही कुछ करके सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोरी थी। उनका नाम है 'दत्तात्रेय लोहार', इन्होंने देसी जुगाड़ से कुछ ऐसा किया, जिसे देख दिग्गज कार निर्माता कंपनियों के मालिकों की आंखें खुली की खुली रह गईं।

महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने भी इनकी जमकर तारीफ की और उन्होंने दत्तात्रेय लोहार को उस जुगाड़ वाली जीप के बदले बोलेरो देने का ऑफर दिया। कुछ दिन पहले ही आनंद महिंद्रा ने दत्तात्रेय का किक मारकर जीप स्टॉर्ट करने वाला वीडियो ट्वीट किया था। फिर क्या ? उसके बाद तो दत्तात्रेय लोहार द्वारा जुगाड़ से बनी यह जीप सोशल मीडिया पर छा गई। दत्तात्रेय लोहार ने खूब नाम कमाया।

60 हजार में तैयार हुई जीप

आनंद महिंद्रा द्वारा साझा किए गए वीडियो में देखा गया कि एक शख्स जीप को किक मारकर स्टार्ट करता है, जो अमूमन दोपहिया वाहनों में देखा जाता है। आपको बता दें कि महाराष्ट्र के रहने वाले दत्तात्रेय लोहार ने कबाड़ की चीजों से यह जीप तैयार की और इसको पूरी तरह से बनाने में सिर्फ 60,000 रुपए खर्च हुए। दत्तात्रेय के अनोखी जीप का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करने के बाद आनंद महिंद्रा ने उन्हें जीप के बदले में बोलेरो देने का वादा किया था, जिसे उन्होंने अब पूरा कर दिया है।

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा

महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के प्रमुख आनंद महिंद्रा ने किए वादे को निभा दिया है। उन्होंने वादे को पूरा करते हुए आज ट्वीट किया और लिखा, 'खुशी है कि उन्होंने एक नई बोलेरो के लिए अपने वाहन का आदान-प्रदान करने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया। कल उनके परिवार को बोलेरो मिली और हमने गर्व से उनकी रचना का जिम्मा संभाला। यह हमारी रिसर्च वैली में सभी प्रकार की कारों के हमारे संग्रह का हिस्सा होगा और हमें साधन संपन्न होने के लिए प्रेरित करना चाहिए'।

दत्तात्रेय लोहार का परिवार हुआ खुश

आनंद महिंद्रा द्वारा दिए गए ऑफर को स्वीकार करने वाला दत्तात्रेय लोहार उस जुगाड़ वाली जीप के बदले बोलेरो मिलने पर काफी खुश हैं। उनका पूरा परिवार भी काफी उत्साहित है। इसके साथ ही दत्तात्रेय लोहार अब साइंस और टेक्नोलॉजी के एक बढ़िया उदाहरण बन गए हैं और सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रहे हैं।

Edited By: Sarveshwar Pathak