नई दिल्ली, अंकित दुबे। भारतीय बाजार में अप्रैल 2020 से सभी वाहनों के लिए BS6 (भारत स्टेज 6) मानक लागू हो जाएंगे और ऐसे में कई कार कंपनियां अपने वाहनों को BS6 पेट्रोल और डीजल इंजन साथ अपडेट कर रही हैं। मगर कुछ कार कंपनियां ऐसी भी हैं जो अप्रैल 2020 से अपनी गाड़ियों में अप्रैल 2020 से डीजल इंजन बंद करने जा रही हैं और इनमें एक Volvo भी शामिल है। हाल ही में Volvo ने अपनी पॉपुलर और एंट्री लेवल XC 40 का पेट्रोल वेरिएंट लॉन्च कर दिया है जो इसी के डीजल वेरिएंट को रिप्लेस करेगी। हमने भी गोवा की सड़कों पर Volvo XC40 T4 R-Design वेरिएंट को चलाया जो कि नए BS6 पेट्रोल इंजन के साथ भारत में बिक्री के लिए उपलब्ध है। तो आइए जानते हैं इस पूरे रिव्यू में कि क्या ये वाकई अपने सेगमेंट में दूसरी गाड़ियों को टक्कर दे पाएगी या नहीं। Volvo XC40 का डीजल वेरिएंट हम पहले ही चला चुके हैं, जिससे हमें एक बेहतर ड्राइविंग का अनुभव मिला था और अब नई XC40 पेट्रोल के बारे में हम क्या कुछ सोचते हैं वो इस रिपोर्ट में आपको बता रहे हैं।

एक्सटीरियर में क्या है बदलाव?

Volvo XC40 कंपनी की सबसे पॉपुलर कार है और सबसे ज्यादा बिकने वाली गाड़ियों में से भी एक है। इस सेगमेंट के ग्राहकों को ये काफी पसंद आती है। कंपनी की यह पहली कॉम्पैक्ट एसयूवी है जो कि कॉम्पैक्ट मॉड्यूलर आर्किटेक्चर (CMA) प्लेटफॉर्म पर बनी है, जो कि अपनी मूल कंपनी Geely Auto से साझा किया है। Volvo XC40 T4 R-Design के एक्सटीरियर में कंपनी ने किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है, केवल T4 बैज और R-Design की ब्रैंडिंग छोड़कर।

सिर्फ फ्रंट ग्रिल के लोगो और रियर एग्जॉस्ट पाइप पर कंपनी ने क्रोम का इस्तेमाल किया है। इसके अलावा कंपनी ने इसके पूरे प्रोफाइल पर ग्लॉसी ब्लैक पेंट स्कीम अपनाई है। फ्रंट में फेमस थॉर के हथोड़े वाले डिजाइन वाली LED हेडलाइट्स और ग्लॉसी ब्लैक ग्रिल नए पेट्रोल वेरिएंट वाली XC40 पर काफी अच्छी लग रही है। इसके अलावा कंपनी ने फ्रंट और रियर स्किड प्लेट पर भी ग्लॉसी ब्लैक पेंट स्कीम का इस्तेमाल किया है। साइड प्रोफाइल में कंपनी ने समान वही 18 इंच के एलॉय व्हील दिए हैं, जो डीजल वेरिएंट में भी मौजूद हैं। इसके अलावा कंपनी ने A पिलर से लेकर C पिलर तक और रूफ रेल्स पर ग्लॉसी ब्लैक पेंट का काफी अच्छा इस्तेमाल किया है। वहीं रियर प्रोफाइल में कंपनी ने समान बूमरैंग जैसी टेललाइट्स दी हैं जो कि XC40 के रियर लुक को हमेशा एक बेहतर रूप देती आई हैं।

इंटीरियर में क्या है नया?

Volvo हमेशा से ही अपनी गाड़ियों के इंटीरियर को काफी प्रीमियम बनाने में आगे रहती है। डैशबोर्ड पर कंपनी ने सॉफ्ट-टच मैटेरियल का काफी ज्यादा इस्तेमाल किया है और इसमें कंपनी ने ऑल-ब्लैक थीम को बरकरार रखते हुए वेंट्स पर पियानो-ब्लैक एसेंट्स का इस्तेमाल किया है। इसके अलावा कंपनी ने इसमें वही 9 इंच का वर्टिकल टच्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम दिया है, जो कि Volvo XC40 के डीजल में भी आता है। स्टीयरिंग और फुली डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर पर भी किसी तरह का कोई बदलाव नहीं दिखता और कंपनी ने सभी सीटें इस बार ब्लैक कलर में रखी हैं। डीजल वेरिएंट में कंपनी ने लावा ऑरेंट सीटें दी थी।

सीटों पर कंपनी ने प्रीमियम लेदर अपहोलस्ट्री दी हैं जो इस गाड़ी को हमेशा से प्रीमियम बनाए रखती है। गियर नॉब पर को इस बार कंपनी ने डबल स्टिचिंग वाली लेदर के साथ दिया है, जबकि डीजल वेरिएंट में यह एक डायमंड लुक के साथ आता है। इसके अलावा एक चीज और आपको यहां काफी ज्यादा पसंद आएगी वो है इसमें दिया गया स्टोरेज स्पेस। आगे वाले दरवाजों में आप दो-दो लीटर की बॉटल आसानी से रख सकते हैं। ग्लॉव बॉक्स भी काफी बड़ा मिलता है। इसके अलावा गियर कंसोल पर भी काफी अच्छा खासा स्पेस मिलता है और यहां कंपनी वायरलेस चार्जर भी ऑफर कर रही है, जो कि अक्सर इस सेगमेंट की सभी कारों में देखा जाता है। रियर सीटों की बात करें तो यहां भी काफी अच्छा खासा स्पेस मिलता है। लंबी हाईट वाले लोगों के लिए भी यहां पर्याप्त हेडरूम, लेगरूम, नी रूम और शोल्डर रूम मिलता है। एवरेज हाईट वाले तीन लोग रियर सीटों पर आसानी से बैठ सकते हैं, लेकिन लंबी हाईट वाले तीन लोगों के लिए यहां थोड़ी परेशानी हो सकती है। कुल मिलाकर इसका इंटीरियर काफी फैला हुआ लगता है और सबसे खास बात इसमें दिया गया पैनोरामिक सनरूफ है, जो कि काफी बड़ा है।

बूट फ्लोर और स्पेस-सेवर स्पेयर व्हील एरिया को हटा दिया जाए तो यहां काफी बड़ा 460 लीटर का बूट स्पेस मिलता है, जिसके जरिए आप काफी सारा सामान रखकर कहीं भी घूमने जा सकते हैं और साथ ही म्यूजिक का एक बेहतर लुत्फ उठाने के लिए इसमें कंपनी Harman Kardon का ऑडियो एक्सपीरियंस मिलता है, जो कि आपको एक क्रिस्टल क्लियर वॉयस देने में सक्षम है।

मिल रहे हैं ये सेफ्टी फीचर्स

सेफ्टी फीचर्स की बात करें तो जैसा कि पहले बताया वोल्वो अपनी किसी भी गाड़ी में सेफ्टी के लिहाज से कोई कसर नहीं छोड़ती। वोल्वो XC40 पेट्रोल में भी डीजल वेरिएं की तरह ही स्टैंडर्ड फीचर्स के तौर पर वोल्वो ऑन-कॉल, लेन कीपिंग एड, ड्राइवर एलर्ट, ऑनकमिंग लेन मिटिगेशन, पायलट असिस्ट एडेप्टिव, क्रूज कंट्रोल, ब्लाइंड स्पॉट इन्फोर्मेशन सिस्टम (BLIS), सराउंड व्यू कैमरा, पार्क असिस्ट पायलट, रियर कॉलिजन वार्निंग और 7 एयरबैग्स दिए गए हैं। इसके अलावा दूसरे सेफ्टी किट के तौर पर फ्रंट और रियर पार्किंग सेंसर्स, ABS, ESP, ट्रैक्शन कंट्रोल, हिल डिसेंट कंट्रोल और मल्टीपल एयरबैग्स शामिल हैं। कुल मिलाकर ये सेफ्टी के मामले में एक पूरे पैकेज के साथ आती है। इसके अलावा आरामदायक सुविधा के तौर पर इसमें इलेक्ट्रिक टेलगेट, ऑटो एलईडी हेडलैंप्स, पैनोरामिक सनरूफ, चार हीटेड सीटें, डुअल जोन क्लाइमेट कंट्रोल भी दिए गए हैं।

चलाने के दौरान कैसी है पेट्रोल इंजन की परफॉर्मेंस?

Volvo XC 40 T4 R-Design वेरिएंट में 2.0 लीटर का पेट्रोल इंजन दिया है, जो 190 bhp की पावर और 300 Nm का टॉर्क जनरेट करता है। ये इंजन 8-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन से लैस है और फ्रंट व्हील पर पावर सप्लाई करता है, जबकि डीजल वेरिएंट इसका 4x4 था। अगर आपने कभी XC40 का डीजल वेरिएंट चलाया हो और फिर आप इसका पेट्रोल वेरिएंट चलाएंगे तो इसकी रिफाइनमेंट में आपको सबसे बड़ा अंतर दिखाई देगा। पेट्रोल इंजन में किसी तरह की कोई वाइब्रेशन दिखाई नहीं देती और सबसे खास बात ये इंजन चुपचाप लो रेव्स पर चलता है। 2500 rpm से कम पर इसमें आपको थोड़ा लैग महसूस होता है क्योंकि टर्बो लगभग इसके ऊपर ही नजर आता है। शुरुआत में इंजन इसका भले ही तेजतर्रार ना लगे लेकिन थ्रोटल रिस्पांस के तेज होते ही आपको ये एक स्पोर्टी फील देने लगती है। हाईवे पर भी XC40 के साथ ओवरटेक करने में कोई परेशानी नहीं होती।

बेहतर ड्राइविंग के लिए कंपनी ने इसमें Eco, Comfort, Dynamic, Off-road और Individual मोड दिए हैं, लेकिन इसका सबसे ज्यादा रिस्पांसिव मोड Comfort और Dynamic नजर आए। गियर शिफ्ट स्मूथ है, लेकिन हल्के थीमे नजर आते हैं। कंपनी ने इसमें Sport मोड नहीं दिया है, पर आप पैडल शिफ्टर के चलते XC40 से स्पोर्टी मजा जरूर ले सकते हैं। ये अब केवल फ्रंट-व्हील ड्राइव के साथ आती है, इसी वजह से आपको ये हल्की तो नहीं लगती, लेकिन तेजतर्रार जरूर नजर आती है। स्टीयरिंग व्हील काफी हल्का है और कॉर्नरिंग के दौरान भी इसमें बॉडी रोल काफी कम देखने को मिलता है। ऑफ-रोड मोड पर स्टीयरिंग और हल्का हो जाता है और इसमें हिल डीसेंट कंट्रोल On हो जाता है।

सस्पेंशन्स भी काफी अच्छे तरीके से काम करते हैं और इसमें आपको किसी तरह की कोई परेशानी नहीं दिखती।कुल मिलाकर कंपनी ने ये गाड़ी लग्जरी और कंफर्ट के साथ हल्की ड्राइविंग फन बनाई है, क्योंकि इसे आप डीजल वेरिएंट की तरह ऑफ-रोड नहीं ले जा सकते।

हमारा फैसला:

Volvo XC40 T4 R-Design अपनी प्रतिस्पर्धी कारों के मुकाबले काफी अलग Package के साथ आती है। इसका किलर डिजाइन, प्रीमियम इंटीरियर और Decent पेट्रोल इंजन इसे किसी प्रीमियम कार से कम नहीं बनाते। इसके साथ ही इसमें सेगमेंट के सबसे ज्यादा सेफ्टी फीचर्स भी शामिल हैं। भारतीय बाजार में ये गाड़ी उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद साबित होगी होगी जो पेट्रोल इंजन वाली एक शांत और सुरक्षित ड्राइव के साथ एक प्रीमियम एंट्री लेवल एसयूवी की तलाश कर रहे हैं। इसकी कीमत 40 लाख रुपये (एक्स शोरूम) है। 

Posted By: Ankit Dubey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस