नई दिल्ली, अंकित दुबे। Monster को हिंदी में राक्षस कहा जाता है और इस बात का सही मायना हमें तब पता चला जब Ducati Monster 821 के साथ दिल्ली से मसूरी तक हमने रफ्तार भरी। सबसे पहले हम Ducati की Monster के बारे में बता दें, यह कंपनी की दुनियाभर में सबसे ज्यादा बिकने वाली मोटरसाइकिल है और वैश्विक बाजार में आए इसे 26 साल से ज्यादा हो चुके हैं। तब से ही, यह कंपनी की सबसे ज्यादा बिकने वाली मोटरसाइकिल रही है, चाहें देश हो या विदेश। हमारे अंदर भी इस बाइक को चलाने का जुनून उमड़ रहा था और हम चाहते थे कि बाइक के साथ थोड़ी लंबी यात्रा की जाए, ताकि इसकी परफॉर्मेंस के साथ फीचर्स को करीबी से समझा जाए। तो फिर, क्या इस बाइक ने हमें वाकई खुश किया? यह बात आज आपको हम अपने इस यात्रा वृत्तांत (Travelogue) में बताने जा रहे हैं।

दिल्ली से पहाड़ों की रानी - मसूरी तक करीब 300 किलोमीटर की यात्रा मैने और मेरे दोस्त ने तय की उसके पास भी Ducati की Scrabmler 1100 मौजूद थी। दो डुकाटी, दो दोस्त और तपती दोपहरी। करीब 7 घंटे की इस यात्रा ने हमें काफी कुछ सिखाया और वाकई थकावट ने भी हमारी उत्सुकता कम नहीं की। दिल्ली से निकले तो सुबह 7 बजे थे लेकिन पहुंचते-पहुंचते कब 1 बज गया हमें पता ही नहीं चला, पता चला तो बस तपती दोपहरी का, जिसने हमें अंदर से काफी झकझोर दिया था क्योंकि हम पूरे राइडिंग गियर और पीठ पर बैग के साथ यात्रा कर रहे थे। Ducati Monster 821 को भारत में लॉन्च हुए 1 साल ही हुआ है, लेकिन इस बाइक की राइडिंग क्वालिटी और पावर ने मुझे काफी हद तक प्रभावित किया है।

दिल्ली से मेरठ तक Monster की रफ्तार 70 से 80 kmph तक रही और इस दौरान हमें ट्रैफिक का काफी सामना करना पड़ा। दिन का समय हमने इसलिए भी चुना था क्योंकि हम लंबी दूरी तक ट्रैफिक में इसकी परफॉर्मेंस भापने के साथ प्रकृति के दर्शन भी करना चाहते थे।

सड़कों पर Ducati Monster 821 को लोगों ने खूब निहारा और NH34 पर जब हम ढाबे पर लंच करने रुके तो काफी लोगों ने हमसे बाइक के बारे में पूछताछ की और फोटो भी खिंचवाई। खैर ये तो शुरुआती सफर था, आगे हमारे पास दो हाइवे - NH344 और NH307 थे, जहां हमें बाइक की परफॉर्मेंस के बारे में काफी कुछ पता चलना बाकी रह गया था।

ट्रैफिक में चलाने के दौरान Monster से ज्यादा हमें गर्मी ने परेशान किया। अब हमने चुना ही गर्मी का समय था तो परेशान होना भी लाजमी था। लेकिन यहां, बम्पर टू बम्पर ट्रैफिक में Ducati Monster 821 को हम Urban मोड पर चला रहे थे, जिसके चलते इसकी परफॉर्मेंस पूरी तरह कंट्रोल में रहती है और कहीं भी किसी तरह की परेशानी नहीं देती है। क्लच इसका काफी सोफ्ट है और गियर शिफ्ट होने में भी किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई। चौथे गियर तक ही हमने यह ट्रैफिक भरा रास्ता माप दिया। ऐसा इसलिए भी कह सकता हूं, क्योंकि कंपनी ने इसमें मुझे क्विक शिफ्टर लगा कर दिया था। ब्रेक्स ने भी काफी शानदार तरीके से अपना काम किया। करीब 100 किलोमीटर तक हमने इसे ट्रैफिक में चलाया और यहां मैं कहना चाहूंगा कि अगर गर्मी का मौसम न होता तो ऐसे और 100 किलोमीटर तक मैं इसे आराम से चला सकता हूं।

ट्रैफिक भरी सड़कों का सफर खत्म ही हुआ था और हमारे सामने खुला हाईवे नजर आ रहा था, जहां इस बाइक की असली ताकत का अहसास हमें होने वाला था। बता दें, Monster 821 में तीन राइडिंग मोड्स - Urban, Touring & Sport दिए गए हैं। जिसमें से Urban मोड पर इसकी परफॉर्मेंस नें ट्रैफिक और खुली सड़कों पर हमारा दिल जीत लिया।

अब हमारी बारी थी इसे Touring मोड पर चलाने की, जहां हम बिना रुके आराम से और 100 किलोमीटर तक की दूरी पार करना चाहते थे, हम यहां Sport मोड पर भी चला सकते थे, लेकिन हम पहले Touring मोड पर इसकी परफॉर्मेंस करीब से समझना चाहते थे। NH334 पर हमने बाइक को 5वें गियर तक चलाया और इसकी परफॉर्मेंस को देखते हुए मानों 6ठें गियर की जरूरत ही नहीं है। तेज धूप में भी इसमें दी गई फुली डिजिटल डिस्प्ले साफ दिख रही थी और 3500 से 4000rpm पर कई किलोमीटर तक लगातार चलाने पर इसकी रफ्तार ने हमें काफी खुश किया और इस दौरान बाइक काफी हल्की महसूस हुई। कुल मिलाकर Touring में अगर आप इसे चलाते हैं, तो वाकई आपको इस बाइक से प्यार हो जाएगा।

अब मौका था हमारे पास Sport मोड को Ducati Monster 821 का राक्षसी अंदाज देखने का। हाईवे खत्म होने ही वाला था, तो हमने सोचा चलो इस मोड को भी आजमा लें, राइड-बाय-वायर के चलते बाइक रोकने की जरूरत नहीं पड़ी और Touring मोड से Sport मोड पर आसानी से इसे बदल दिया। मोड बदलते ही बाइक का थ्रोटल रिस्पांस और एग्जॉस्ट की आवाज दोनों ही बदल गई, मानों अब रेसिंग ट्रैक की तैयारी हो रही हो। करीब 20-25 किलोमीटर तक Sport मोड पर Monster रास्तों पर हावी होने लगी, दो-सिलेंडर वाली इस बाइक की परफॉर्मेंस कुछ इस तरह देखने को मिली कि तीन सिलेंडर वाली लिटर-क्लास बाइक्स की परफॉर्मेंस भी इसके सामने फीकी पड़ जाए।

देहरादून तक हमारा सफर इन तीनों राइडिंग मोड्स की परफॉर्मेंस को आजमाना था और अब देहरादून से मसूरी तक की सिंगल लेन और शार्प टर्न वाले रास्तें हमारे सामने थे। बता दें, देहरादून से मसूरी तक पहुंचने के दो रास्तें हैं, एक नॉर्मल सड़कों वाला और दूसरा गांव के बीच से निकलने वाला ऊबड़-खाबड़ रास्ता, जहां बजरी और मिट्टी से भरा रास्ता मौजूद है। अगर आप इस रास्ते से बाइक लेकर जाते हैं, तो करीब 25 से 30 किलोमीटर तक आपको सिर्फ ऑफ रोडिंग करने को मिलेगी। Scrambler 1100 तो पहले से ही ऑफ-रोड क्षमता वाली बाइक है, लेकिन Monster 821 से क्या ऑफ-रोडिंग हो सकती है? इसी सवाल के जवाब में मैने भी यही रास्ता चुन लिया।

इस रास्ते में हल्का रिस्क भी था, लेकिन Monster 821 में दिए गए सेफ्टी फीचर्स और 17 इंच के Pirelli Diablo के टायर्स ने मेरा आत्मविश्वास कम नहीं होने दिया और इस बाइक को लेकर ऊबड़-खाबड़ रास्तों पर Urban मोड पर चढ़ाई शुरू कर दी। Brembo के ब्रेक्स और 43 mm डायमीटर फ्रंट फॉर्क्स और रियर मोनोशॉक के साथ पत्थर और गढ्ढे का ज्यादा अहसास ही नहीं हुआ।

नेकेड स्पोर्ट्स बाइक होने के चलते इसका टर्निंग रेडियस काफी कम है, जिसकी वजह से हमें शार्प टर्न वाली चढ़ाई पर दिक्कत महसूस हुई, लेकिन इस परेशानी का एहसास सिर्फ शार्प टर्न पर ही महसूस होगा। हाइवे और शहरी सड़कों पर आपको इस तरह की परेशानी पता भी नहीं चलेगी।

गांव वाला ऊबड़-खाबड़ रास्ता पार करके हम प्लेन रोड पर पहुंचे और फिर मसूरी से Landour के बीच हमने अपने होटल में बाइक पार्क करके रेस्ट किया। कुछ देर रेस्ट करने के बाद हम बाइक को पार्क करके ही मसूरी पैदल घूमने चले गए और डिनर करके रात में समय से सो गए क्योंकि अगले दिन हमें फिर बाइक के साथ मसूरी के भट्टा फाल और कैम्पटी फाल तक जाना था और फिर वापिस दिल्ली की ओर बढ़ना था। मसूरी का मौसम काफी मजेदार था और हल्की-हल्की ठंड ने हमारी सारी थकान मिटा दी।

दूसरे दिन सुबह समय से उठते ही हम अपनी अपनी बाइक उठाकर भट्टा फाल और कैम्पटी फाल की ओर निकल पड़े और कुछ देर वहां के प्राकृतिक नजारे देखने के बाद हम वापिस दिल्ली की ओर चल दिए। एक दिन पहले तो हम गांव की ऊबड़-खाबड़ सड़कों से मसूरी की चढ़ाई की थी, लेकिन अब वापिस जाते वक्त Ducati Monster 821 के साथ हमने प्लेन सड़क चुनी। 50 से 60 kmph की रफ्तार पर हम नीचे की ओर बढ़ रहे थे, हवा भी काफी तेज थी और हर 500 मीटर पर नया मोड। सड़क पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं था, लेकिन यहां टर्न करते वक्त सेफ्टी के तौर पर Monster में दिया गया Ducati Traction Control का आपको अहसास होगा। तेज हवा के चलते भी आप आसानी से इस बाइक को लिटा कर मोड सकते हैं और यहां आपको किसी तरह का कोई खतरा महसूस नहीं होता।

जिस रास्ते से आए थे उसी रास्ते से दिल्ली की ओर निकल गए और करीब 650 किलोमीटर की इस यात्रा में Monster से हमें काफी बेहतर माइलेज भी दिया। ट्रैफिक में इसने 9 से 10 kmpl के बीच माइलेज दिया और हाइवे पर इसने 16 से 17 kmpl का माइलेज दिया। कुल मिलाकर Ducati Monster के साथ अगर आप लंबी दूरी पर जा रहे हैं तो आपको यह कहीं भी निराश नहीं करेगी, स्पोर्टी राइडिंग स्टांस के चलते हल्की थकावट हो सकती है, मगर यह आपको एक मजेदार और आनंदायक राइडिंग का अनुभव देगी।

अगर आपका बजट भी 11 से 12 लाख रुपये के आस-पास है तो इस बाइक को खरीद सकते हैं और इसे Sport मोड पर ट्रैक पर चलाने के साथ रोजाना ऑफिस आने जाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। लंबी दूरी के लिए भी यह आपके लिए एक बेहतर बाइक साबित हो सकती है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ankit Dubey