नई दिल्ली (अंकित दुबे)। जिस समय भारतीय बाजार में एसयूवी सेगमेंट ने जोर पकड़ना शुरू किया, उस समय रेनो ने अपनी कैप्चर कॉम्पैक्ट एसयूवी लॉन्च करके एक कड़ी प्रतिस्पर्धा खड़ी कर दी। क्रेटा और एस-क्रॉस जैसी क्रॉसओवर गाड़ियों की तरफ बढ़ने वाले खरीदारों को अब बाजार में कैप्चर का विकल्प भी मिल गया है। डस्टर ने कॉम्पैक्ट एसयूवी स्पेस में रेनो को गंभीरता से ब्रांड के रूप में स्थापित करने के लिए सभी आधारभूत कार्य किए हैं और अब हम यह कहेंगे कि कैप्चर भी फ्रेंच ब्रांड को आगे बढ़ाने की पूरी क्षमता रखती है। जी हां, हम इसलिए ऐसा कह रहे हैं, क्योंकि हमने इस SUV को एक ही दिन में 500 km से ज्यादा चलाया और इसे भारतीय सड़कों के हिसाब से बारीकी से समझा। उबड़-खाबड़ सड़क हो या खुला मखमली हाईवे, बंपर ट्रैफिक हो या शहर की शांत सड़कें, रेनो कैप्चर की परफॉर्मेंस कैसी रही, वह हम आपको आज बताने जा रहे हैं। इतना ही नहीं, हम इस गाड़ी के बारे में क्या कुछ सोचते हैं? इसने कहां हमें निराश किया? वह सबकुछ इस रेनो कैप्चर डीजल के टॉप प्लैटिने वेरिएंट के रिव्यू में बताने जा रहे हैं।

लुक्स और डिजाइन

हमने रेनो कैप्चर डीजल प्लैटिने का पर्ल व्हाइट और प्लेनेट ग्रे रूफ वेरिएंट को चलाया है। रेनो कैप्चर एक वैश्विक स्तर एसयूवी है, लेकिन यह एसयूवी की तरह लगती नहीं है। यह एक जटिल क्रॉसओवर है जिसमें टेलिंग एलिमेंट्स काफी सारे हैं। सबसे पहले बात करते हैं इसके फ्रंट की, यहां हैडलैंप्स फुल LED हैं और इनमें डायनामिक टर्न इंडीकेटर्स दिए गए हैं, जैसे आपने ऑडी में देखे होंगे। नीचे इसमें C-शेप्ड LED DRLs भी लगे हुए हैं। मैने जब इसकी तस्वीरें पहले देखी थी तो यह एसयूवी काफी छोटी लग रही थी, लेकिन जब रियल लाइफ में देखा, वाकई में यह काफी बड़ी दिखती है और इसमें काफी ज्यादा स्पेस दिया गया है। इसका डायमेंशन मारुति एस-क्रॉस और हुंडई क्रेटा से भी ज्यादा है।

दूर से देखने पर सबसे पहले आपको इस कार में नजर आएगा इसका ग्राउंट क्लियरेंस जो कि 210mm है, बता दें यह ग्राउंड क्लियरेंस हुंडई क्रेटा और मारुति एस-क्रॉस से काफी ज्यादा है। इसलिए ऑफ-रोडिंग के दौरान चलाने पर आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, बड़े-बड़े गढ्ढे और स्पीड ब्रेकर ये आसानी से पार कर जाती है। इसमें 17 इंच के क्रिस्टल कट एलॉय व्हील्स दिए गए हैं, जो काफी ज्यादा आकर्षक हैं। फ्यूल टैंक 50 लीटर का है।

रेनो कैप्चर वैसे तो डस्टर के ही प्लेटफॉर्म पर बनी है, लेकिन यह डस्टर से बिल्कुल अलग दिखती है और साइज में उससे बड़ी भी है। इसके टेल लैंप्स भी LED हैं और इसके रूफ पर पीछे एक इंटीग्रेटेड स्पॉयलर दिया गया है। कुल मिलाकर इसका डिजाइन और लुक आपको एक ही नजर में बेहद पसंद आएगा और यह भीड़ में अलग ही नजर आती है।

इंटीरियर

कैप्चर का इंटीरियर आपने पहले किसी रेनो गाड़ी में नहीं देखा होगा, यह डुअल टोन कलर - ब्लैक और व्हाइट में आता है, इसका डैशबोर्ड लेआउट भी काफी अच्छा है। इसमें 7 इंच का टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है और अगर इसके टच एंड फील की बात करें तो, मैं ये नहीं कहूंगा कि यह काफी अच्छा और प्रीमयम है, यहां यह थोड़ा एवरेज है। इसके अलावा इन्फोटेनमेंट सिस्टम ना तो एंड्रॉइड ऑटो के साथ आता है और ना हीं एप्पल कारप्ले और मिरर लिंक के साथ। ये वही टचस्क्रीन है जो आपने सभी रेनो गाड़ियों में देखा होगा। इस मामले में रेनो को अपडेट होने की जरूरत है।

इसका इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर बिल्कुल नया है और इसका डिजाइन सन ग्लासेस से प्रेरित है। इसमें स्पीडो मीटर डिजिटल है। कैप्चर में स्टीयरिंग व्हील नया दिया है और इसमें जो कंट्रोल्स हैं वो डस्टर जैसे ही हैं। क्रूज कंट्रोल आपको स्टीयरिंग पर मिलेगा और जो ऑडियो और ब्लूटूथ कंट्रोल्स हैं, वो आपको डस्टर की तरह ही स्टीयरिंग के पीछे देखने को मिलेंगे। इसे आप काफी आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।

कार की सीटिंग पॉजिशन काफी हाई है, अगर आप इसकी पॉजिशन नीचे रखेंगे तो भी आपको यह ऊंची लगेगी। स्टीयरिंग भी एडजस्टेबल है और इसमें सिर्फ टिल्ट डाउन और अप का विकल्प आता है। टेलिस्कॉपिक एडजस्टमेंट इसमें आपको नहीं मिलेंगे। कार की सीट कुशिंग भी काफी अच्छी है और इसमें आपको बेहतर कंफर्ट मिलता है, जो लंबी दूरी के लिए काफी अच्छा है। बीच में एक आर्मरेस्ट दिया गया है, जिससे आप लॉन्ग ड्राइव के समय कंफर्ट महसूस कर सकते हैं, लेकिन ये आर्मरेस्ट एडजस्टेबल नहीं है, ना यह फोल्ड हो सकता है और ना हीं इसमें कोई स्टोरेज दिया गया है।

अगर स्टोरेज स्पेस की बात करें तो कार में कुछ ज्यादा स्टोरेज स्पेस नहीं है, डोर पैड में आपको 1 लीटर बोतल रखने की जगह मिल जाएगी। फ्लोर कंसोल में जहां कप होलडर्स हैं, वहां आपको 12V का शॉकेट मिलता है, लेकिन अगर आप यहां बोतल या कप रखते हैं तो आपको इस शॉकेट को एक्सेस करना थोड़ा मुश्किल होगा। फीचर्स के तौर पर इन्फोटेनमेंट सिस्टम में नेविगेशन है, रिवर्स पार्किंग कैमरा आपको मिलेगा, इसमें ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल आता है, रेन सेसिंग वाइपर्स दिए गए हैं। इसके अलावा कैप्चर में पुश स्टार्ट बटन आपको मिलता है। कैप्चर में क्रूज कंट्रोल के अलावा एक राइडिंग मोड ईको भी दिया गया है।

सेफ्टी फीचर्स के तौर पर इसमें डुअल एयरबैग्स और ABS स्टैंडर्ड दिए गए हैं। वहीं, टॉप-एंड वेरिएंट में आपको मल्टीपल एयरबैग्स मिलते हैं। रियर सीट में स्पेस काफी अच्छा दिया गया है, हैडरूम और लेगरूम भी काफी अच्छा है। पिछली सीट की चौड़ाई अच्छी है और इसमें तीन लोग आसानी से बैठ सकते हैं। बैक रेस्ट का एंगल काफी अच्छा है और हैड रेस्ट एडजस्टेबल दिया गया है। इसके अलावा रियर AC वेंट्स भी आपको मिलते हैं। रियर सीटें सिर्फ सिंगल फोल्ड होती हैं और इसमें काफी अच्छा बूट स्पेस दिया गया है। यहां बूट लैंप के अलावा ऊपर एक चार्जिंग शॉकेट भी दिया गया है। कुल मिलाकर इंटीरियर स्पेस काफी अच्छा है, लेकिन यहां फीचर्स की थोड़ी कमी महसूस होती है।

हाईवे पर कैसी है परफॉर्मेंस?

रेनो कैप्चर के इंजन की बात करें तो इसमें वही इंजन ऑप्शन दिए गए हैं जो डस्टर में मौजूद हैं। इसमें 1.5 लीटर का पेट्रोल इंजन और 1.5 लीटर का डीजल इंजन दिया गया है। हमने डीजल वेरिएंट चलाया तो यहां सिर्फ बात डीजल इंजन की करेंगे। डीजल इंजन इसका 3,750 rpm पर 108bhp की पावर देता है और यह चलने में काफी स्मूथ है, हाईवे पर इसकी परफॉर्मेंस काफी बेहतरीन है। यमुना एक्सप्रेस वे पर हमने इसे हमने काफी तेज स्पीड पर चलाया और सच कहूं तो यहां आप इसे एक्सेलेरेट करने पर अपने आप को बिल्कुल नहीं रोक पाएंगे। सबसे ज्यादा मजा हमें इसे 2000rpm से 3000rpm के बीच चलाने में आया जहां इसकी स्पीड 100kmph से ऊपर होती है। डीजल इंजन काफी स्मूथ है और तेज स्पीड होने के बाद भी यह इतनी आवाज नहीं करता। इसमें दिए गए 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स काफी स्मूथ हैं, शुरुआत में गियर शिफ्ट करने में थोड़ी दिक्कत हो सकती है, लेकिन एक समय के बाद आप इसे आसानी से शिफ्ट करने लगेंगे।

शहरों में कैसी है परफॉर्मेंस?

रेनो कैप्चर की राइड और हैंडलिंग काफी स्मूथ है, जो रेनो की कारों के लिए हमेशा एक USP रहा है और कैप्चर में आपको एक काफी आरामदायक राइड मिलेगा। भारतीय सड़कों पर मौजूद अगर आप बढ़े-बढ़े गढ्ढों या स्पीड ब्रेकर पर चलाते हैं तो कैप्चर के अंदर आपको इन गढ्ढों का ज्यादा एहसास नहीं होगा। यह एक आरामदायक एसयूवी है और हैंडलिंग के मामले में अगर आप इसे टर्न करते हैं तो यह काफी अच्छा और स्थिर है। माइलेज की बात करें तो कैप्चर शहरों में आपको 14 से 15 kmpl का माइलेज देगी और हाईवे पर आपको 18 से 20 kmpl तक का माइलेज मिलेगा।

हमारा फैसला

कुल मिलाकर अगर आप एक बड़ी और पावरफुल कॉम्पैक्ट एसयूवी खरीदना चाहते हैं, तो रेनो कैप्चर आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकती है। इतना ही नहीं इसका डिजाइन और लुक्स आपको एक ही नजर में बेहद पसंद आएगा। डीजल इंजन की पावर काफी स्मूथ और पावरफुल है, डायमेंशन में भी यह काफी बड़ी है। छोटे परिवार के लिए एक मिड-बजट एसयूवी तलाश रहे खरीदारों के लिए रेनो कैप्चर एक बेहतर कॉप्पैक्ट एसयूवी साबित हो सकती है।

कीमत - 13.25 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली)

Posted By: Ankit Dubey