मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। अक्सर भारी बारिश की वजह से सड़क हादसों में इजापा बढ़ जाता है। मानसून में तेज बारिश के चलते सड़कों पर पानी जमा हो जाता है, जिसके चलते सड़कों में मौजूद गढ्ढों का पता नहीं चलता और अक्सर यही गढ्ढे आपके लिए बुरे साबित होते हैं। इतना ही नहीं, ज्यादा तर तो तेज बारिश और भरे हुए पानी के चलते भी आपकी गाड़ी के खराब होने का डर रहता है। आज हम आपको अपनी इस रिपोर्ट में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिन्हें ध्यान में रखकर आप बारिश के दौरान अपनी गाड़ी में आने वाली परेशानी से बच सकते हैं।

गाड़ी में मानसून किट हमेशा रखें

बारिश के सीजन में आपको गाड़ी में मानसून किट जरुर रखनी चाहिए। इस किट में टॉर्च, एक्स्ट्रा फ्यूज, हेडलैंप और टेल लैंप्स बल्ब, छोटी टूल किट, टायर इनफ्लेटर और एक्स्ट्रा वाइपर ब्लेड्स रखें। इसके अलावा पानी, पैकेज्ड फूड आदि रखें ताकि बारिश में फंसने पर आपको दिक्कत ना हो।

टायर्स का ध्यान रखें

बारिश में गीले रोड पर फिसलन हो जाती है। कई बार तेल और दूसरी चीजें सड़क पर बहने की वजह से ये फिसलन और भी तेज हो जाती है। ऐसे में घिसे हुए टायर की वजह से गाड़ियां सड़क पर फिसल सकती हैं और हादसे की वजह बन सकती है। इसलिए जरुरी है कि बारिश के सीजन से पहले घिसे हुए टायर्स को बदल लें। कई टायर्स में ट्रीड-वीयर इंडिकेटर आता है, जो टायर घिसने पर दिखाई देने लगता है। इसलिए अगर आपकी गाड़ी में ये दिखने लगा है तो जल्द ही टायर बदल लें।

विंडस्क्रीन को हमेशा साफ रखें

साफ विंडस्क्रीन आपको साफ नजारा देती है। कई बार धूल-मिट्टी की वजह से विंडस्क्रीन ढंक जाती है और बाहर का नजारा साफ नजर नहीं आता। साथ ही भारी बारिश में विंडस्क्रीन पानी से ढंक जाती है। इसलिए विंडस्क्रीन पर अच्छी क्वालिटी का रिप्लेंट इस्तेमाल करें। इससे विंडस्क्रीन पर कुछ जमेगा नहीं और आपका व्यू ब्लॉक नहीं होगा।

ठीक तरह से ब्रेक चेक करें

सड़क पर चल रही गाड़ी के लिए सबसे जरुरी है ब्रेकिंग सिस्टम। बारिश के मौसम में ये और भी जरुरी हो जाते हैं। अगर आपको लगता है कि आपकी गाड़ी का ब्रेक फ्ल्युड लीक हो रहा है तो इसे तुरंत ठीक कराएं। डिस्क ब्रेक यूनिट महंगी जरुर होती हैं लेकिन जान से कीमती कुछ नहीं होता। साथ ही घिसे हुए ब्रेक पैडल को भी बदल लें। घिसे हुए पैडल से पैर फिसलने का डर रहता है जो सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक हो सकता है।

वाइपर करें चेक

मानसून में वाइपर बहुत जरुरी हो जाते हैं। विंडस्क्रीन पर जमा पानी वाइपर के बिना आपको ड्राइव नहीं करने देगा। इसलिए जरुरी है कि बारिश आने से पहले वाइपर ब्लेड्स को चेक कर लें। कई बार बिना इस्तेमाल किए वाइपर ब्लेड कट जाते हैं जो बारिश के समय पानी नहीं हटा पाते हैं।

कार की बॉडी साफ रखें

जंग लगने से हो रही लीक को रोकने के लिए आपको तुरंत बॉडी शॉप जाना चाहिए। अगर गाड़ी में कहीं जंग लगा है तो उसे तुरंत ठीक करवाएं। ये महंगा जरुर हो सकता है लेकिन ये गाड़ी की बॉडी को आगे खराब होने से बचा लेगा। बॉडी और अंडरसाइड को साफ रखने के लिए नियमित अंतराल पर प्रेशर वॉश करवाते रहें। वॉशिंग के बाद गाड़ी पर पॉलिश जरुर करवाएं। इससे गाड़ी की शाइनिंग तो बढ़ेगी ही साथ ही इस पर प्रोटेक्टिव लेयर भी बन जाएगी।

लीकेज होने से रोकें

कई बार विंडशील्ड या दूसरे ग्लास पैनल चेंज करने की वजह से उसमें जगह रह जाती हैं जो बारिश आने पर आपको दिक्कत दे सकती हैं। इसलिए दरवाजें, पिलर्स और सनरुफ को अच्छे से देख लें। अगर इसमें कहीं से लीकेज हो रहा है तो इसे बंद करें। कई बार रूफ रेक लगाने की वजह से भी हल्के सुराख रह जाते हैं, जो बारिश में आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं।

लाइट्स भी करें चेक

बारिश के दौरान विजिबिलिटी काफी कम होती है। इसलिए सड़क पर चलते समय लाइट्स का इस्तेमाल जरुरी हो जाता है। बारिश के सीजन से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आपकी गाड़ी की हेडलाइट्स (लो बीम, हाई बीम), ब्रेक लाइट और इंडिकेटर सही से काम कर रहे हैं या नहीं। अगर आपको लगता है कि किसी लाइट में कोई फॉल्ट है तो उसे तुरंत ठीक करवा लें। कई बार बैटरी में खराबी की वजह से भी लाइट्स सही से काम नहीं करती हैं। ऐसे में जरुरी हो जाता है कि बैटरी और लाइट्स, दोनों को चेक करवाएं। साथ ही गाड़ी की हेडलाइट्स और टेल-लैंप्स को साफ रखें।

बैटरी पर भी ध्यान दें

बारिश के मौसम में जरुरी है कि आपकी गाड़ी में वायर्स का सही से इंसुलेशन हुआ हो। इस बात का ध्यान रखें कि आपकी गाड़ी की बैटरी, इसके टर्मिनल और लीड अच्छी कंडीशन में हो। बारिश के दौरान बैटरी को हेडलैंप्स, वाइपर आदि की वजह से काफी काम करना पड़ता है इसलिए जरुरी है कि बैटरी का ध्यान रखा जाए।

यह भी पढ़ें:

Kona को टक्कर देने के लिए MG eZS इलेक्ट्रिक एसयूवी UK में हुई लॉन्च, भारत में आएगी इसी साल

Priyanka Chopra Birthday: 5 करोड़ रुपये से भी महंगी कार में घूमती है

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप