नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। भारत में इस समय ईंधन की बढ़ी हुई कीमतों को देखते हुए लोग विकल्प के तौर पर सीएनजी और इलेक्ट्रिक गाड़ियों की तरफ तलाश कर रहे हैं। हालांकि, ईवी के लिए बेहतरीन चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर न होने के कारण अभी लोग ईवी लेने से कतरा रहे हैं। लेनिक अगर आप अपने घर और अपने ऑफिस के बाहर चार्जिंग सुविधा पा जाते हैं तो यकीन मानिए ये आपके लिए काफी फायदे का सौदा होगा। इस खबर में आपको बताने जा रहे हैं इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने के बारे में।

मेंटेनेंस कॉस्ट पड़ता है कम

ईंधन से चलने वाली गाड़ियों की तुलना में ईवी को मेंटन रखने के लिए कम मेंटनेंस खर्च लगते हैं। क्योंकि इसमें इंजन की जगह मोटर का प्रयोग होता है इसलिए इसमें इंजन वर्क जैसे खर्च नहीं होते हैं। कुल मिलाकर ईवी की सर्विसिंग करवाने पर आपको इंजन से चलने वाली गाड़ियों की तुलना में कम पैसे खर्च होंगे।

शोर-शराबा से मिलती है निजात

ईंधन से चलने वाली गाड़ियों की आवाज थोड़ी तेज होती है, जिससे यात्रा के दौरान शोर-शराबा का सामना करना पड़ता है, वहीं ईवी काफी स्मूथ तो चलती ही है साथ ही साथ इसके पॉवरट्रेन से आवाज काफी कम निकलती है। जब भी आप ईवी को चलाते हैं तो काफी कोजी-कोजी सा फील होगा।

रनिंग कॉस्ट पड़ती है कम

ईवी गाड़ियों को पसंद करने की असल वजह उसकी रनिंग कॉस्ट है। उदाहरण के तौर पर आगर आपकी ईवी सिंगल चार्ज पर 300 किमी तक जाती है, वहीं इतना चलने के लिए कम से कम लगभग 3 हजार रुपये पेट्रोल से चलने वाली गाड़ियों में लगते हैं। कुल मिलाकर ईवी खरीदने का सबसे अधिक फायदा आप इसकी रनिंग कॉस्ट से उठा सकते हैं। यही असल कारण भी है जिसकी वजह से लोग ईवी को खरीदना पसंद कर रहे हैं।

पेट्रोल पंप के नहीं लगेंगे चक्कर

ईवी को आप घर पर भी चार्ज कर सकते हैं, हालांकि ये सुविधा ईंधन से चलने वाली गाड़ियों के पास नहीं है। हालांकि, ईवी लेकर कहीं दूर चले गए हैं, जहां ईवी चार्जिंग की व्यवस्था नहीं तो वहां आपको ईंधन से चलने वाली गाड़ियों की याद जरूर आ सकती है।

Edited By: Atul Yadav