नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। कार में जितना जरूरी इंजन होता है उनते ही जरूरी उसके अन्य पार्ट्स भी होते हैं। इन पार्ट्स में कार के टायर्स भी शामिल हैं जिनका खास ख्याल ना रखा जाए तो आप हादसे का शिकार हो सकते हैं। कई बार लोग कार के टायर्स में नजर आने वाली छोटी दिक्कतों को नजरअंदाज करते हैं लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। आज हम आपको कार के टायर्स में आने वाली उन्हीं दिक्कतों के बारे में बताने जा रहे हैं जो देखने में तो आम लगती हैं लेकिन ये आपको मुसीबत में डाल सकती हैं।

दरारें

कई बार जब कार का टायर पुराना हो जाता है तो इसपर दरारें बन जाती हैं, जब अप कार चलाते हैं तो ये दरारें और बड़ी हो जाती हैं। अगर आप लंबे सफ़र पर अपनी कार से जाते हैं तो इन दरारों की वजह से टायर्स फटने का खतरा बना रहता है और आप एक्सीडेंट का शिकार हो सकते हैं। ऐसे में टायर पर दरारें दिखने पर इन्हें तुरंत रिपेयर करवाना चाहिए।

ग्रिप

ज्यादा समय तक चलने के बाद टायर्स की ग्रिप घिस जाती है। ऐसे में टायर्स काफी फिसलने लगते हैं और ब्रेक लगाने के बाद भी कार को रोकने में परेशानी आती है। कई बार सड़कों पर गाड़ियों से निकला हुआ ऑयल गिरा होता है ऐसे में इनसे आपकी कार फिसल सकती है और हादसे का शिकार हो सकती है।

ओवर फिलिंग

कई बार टायर में जरूरत से ज्यादा एयर फिलिंग हो जाती है, ऐसे में टायर्स की ग्रिप घराब होती है और अगर ऐसा लंबे समय तक किया जाए तो टायर्स बीच रास्ते में ही फट जाते हैं और कार डिस्बैलेंस हो सकती है। हेमेशा टायर्स में जरूरत के हिसाब से ही एयर फिलिंग करवानी चाहिए।

बबल्स

कई बार कार के टायर के सरफेस पर बबल्स निकल आते हैं। ऐसे में टायर फटने का खतरा रहता है। बीच रास्ते में अगर टायर फट जाए तो कार का संतुलन बिगड़ सकता है, ऐसे में आपको कार के टायर को बदलवा लेना चाहिए।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप