नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले वो कौन सी 15 बातें हैं जिनके बारे में आपको जरूर पता लगाना चाहिए। इन बातों का ध्यान रखने पर न तो आपको नुकसान होगा और नहीं आपको बाद में पछताना पड़ेगा। तो जानते हैं इन 15 बातों के बारे में जो बनाएंगी आपके सेकेंड हैंड कार को सपनो का कार

ओडोमीटर की करें जांच

सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले कार के ओडोमीटर की जरूर जांच कर लें। दरअसल कई बार ज्यादा दाम पर बेचने के लिए कार के ओडोमीटर से छेड़छाड़ कर दी जाती है। सीधी भाषा में समझें तो अगर गाड़ी 1 लाख किलोमीटर चली है, तो ओडोमीटर से छेड़छाड़ कर के इसे 40,000 किलोमीटर आसानी से किया जा सकता है।

दलालों से रहें सावधान

सेकेंड हैंड कार खरीदते वक्त दलालों से सावधान रहें। दरअसल कमीशन के चक्कर में ब्रोकर्स आपको कार की गलत जानकारी बता कर इसे बेंच तो देतें हैं, जिससे बाद में आपको परेशानी का सामना करना पड़ता है।

अथोराइज्ड कंपनी से खरीदें सेकेंड हैंड कार

अच्छा होगा कि आप सेकेंड हैंड कार को किसी अंजान या फिर ब्रोकर से खरीदने के बजाए इसे अथोराइज्ड कंपनी से खरीदें।

कितना आएगा खर्च

सेकेंड हैंड कार खरीदने के बाद भी उसमें कई चीजें रहती हैं जिन्हें ग्राहकों को खुद से कस्टमाइज करना होता है। ऐसे में इस बात का जरूर ध्यान दें कि कार को कस्टमाइज करने में आपको कितना और खर्च करना होगा।

कार का एक्सटीरियर

सेकेंड हैंड कार को खरीदने से पहले कार के एक्सटीरियर को अच्छे से जांच लें कि कहीं उसमें कोई डेंड या स्क्रैच के निशान तो नहीं हैं। इसके अलावा टायर और लाइट्स का क्या हाल है यह भी जरूर देखें।

कार का इंटीरियर

किसी भी कार का इंटीरियर सेक्शन काफी अहम होता है। ऐसे में कार के इंफोसिस्टम, बेल्ट सीट, डैशबोर्ड से लेकर दूसरी चीजों को भी अच्छे से जांच लें।

कैबिन

किसी भी कार में सफर कितना आरामदायक होगा यह इसकी सीटिंग अरेंजमेंट पर निर्भर करता है। जैसे कार की सीट्स कैसी हैं, लेगरूम कैसा है और इसका हेडस्पेस कैसा है। इसलिए सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले जरूर चेक करें की ये फीचर्स आपके कार में कैसे हैं।

कार पर नहीं है कोई लोन

जिस सेकेंड हैंड कार को आप खरीद रहे हैं, उसके बारे में जरूर पता लगा लें कि कहीं यह कार लोन पर तो नहीं है? और अगर लोन पर ली गई है तो क्या कार के मालिक ने इसका लोन पूरा चुका दिया गया है या नहीं?

कार का बैकग्राउंड

सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले पता लगा लें कि कार का बैकग्राउंड कैसा है? इसका इस्तेमाल घरेलू काम के लिए किया गया है या फिर कॉमर्शियल कामों के लिए।

अपराध या एक्सीडेंट में तो नहीं शामिल है कार

सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले जरूर ध्यान दें कि कहीं इससे कोई अपराध तो नहीं किया गया है?

कागज का काम करें पूरा

सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले सभी जरूरी कागज देंखे और इसे अपने पास रखें।

गाड़ी को करें टेस्ट

सेकेंड हैंड कार को खरीदने से पहले इसे हाइवे, शहर और गांव की सड़कों पर चलाकर जरूर टेस्ट करें। इससे आपको कार की असली कंडीशन पता चल जाएगा।

कहीं कार चोरी की तो नहीं है

ऐसे कई मामले देखे गए हैं जहां ग्राहक कार को पैसे देकर खरीदते हैं और बाद में उन्हें पता चलता है कि कार चोरी की है। ऐसे में कार के रजिस्ट्रेशन नंबर और इंश्योरेंस को जांच लें। साथ ही यह भी देखें कि कार का नंबर वही है जो कागज में दिए गए हैं। इसके अलावा यह भी पता लगा लें कि कहीं इस कार को लेकर कहीं कोई FIR तो दर्ज नहीं है।

कार के मालिक का बैकग्राउंड

सेकेंड हैंड खरीदने से पहले उसके मालिक के भी बैकग्राउंड का जरूर पता लगा लें।

कार की बाजार में क्या है कीमत

जिस कार को आप खरीद रहे हैं उसे खरीदने से पहले पता लगा लें कि बाजार में उसकी क्या कीमत है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस