नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। आज के समय में हर कोई अपना हेल्थ इंश्योरेंस तो कराता है, लेकिन जब कार के इंश्योरेंस की बात आती है तो यह उन्हें बोझ लगने लगता है। हालांकि, कुछ ही लोग समझते हैं कि ये उनके जीवन को आरामदायक बनाने के लिए एक छोटा सा खर्चा है। अगर आपने अपनी कार लोन पर ली है तो आपके लिए यह एक जिम्मेदारी बन जाती है कि आपने कार की सुरक्षा कैसे प्लान की हुई है। कार इंश्योरेस हमेशा आपको एक्सीडेंट या चोरी जैसी घटनाओं से होने वाली परेशानियों से बचाता है। इसके अलावा आता है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जिसके चलते आप लाखों के नुकसान से बच सकते हैं। इस इंश्योरेंस के जरिए अगर आपकी गाड़ी से कोई घायल हो गया हो तो उसे कोई मुआवजा नहीं देना होगा। तो आज हम आपको इस खबर में बता रहे हैं कार इंश्योरेंस के बारे में जो आपके लिए जानना जरूरी है।

1. कानूनी तौर पर जरूरी है कार इंश्योरेंस 

मोटर व्हीकल एक्ट ऑफ इंडिया के तहत सभी वाहनों का इंश्योरेंस कराना अनिवार्य है। बता दें यह गाड़ी के पेपर्स में एक जरूरी पेपर के तौर पर गिना जाता है। अगर आपकी कार ज्यादा पुरानी हो चुकी है तो उसमें भी कम से कम थर्ड पार्टी इंश्योरेंस होना बहुत जरूरी है।

2. कार एक्सीडेंट और चोरी के नुकसान से बचाव

एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में होने वाला हर छठा कार एक्सीडेंट भारत में होता है। ऐसे में एक्सीडेंट होने के बाद कार मरम्मत का खर्चा काफी ज्यादा बैठ जाता है। इस स्थिति में आप कार इंश्योरेंस के जरिए ही अपने इस भारी नुकसान की भरपाई कर सकते हैं। कार इंश्योरेंस में आपको भले ही थोड़ा बहुत प्रीमियम देना हो लेकिन यह किसी अनहोनी के समय बड़े खर्च से बचा लेता है।

3. क्यों है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जरूरी?

अगर आप नई या पुरानी कोई भी कार है तो थर्ड पार्टी बीमा आपके लिए बेहतर जरूरी है। इसे लायबिलिटी कवर के नाम से भी जाना जाता है। कानून के तहत आप थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के बिना कार नहीं चला सकते। आपको बता दें यह पॉलिसी बीमा कराने वाले को नहीं, बल्कि जो तीसरा पक्ष दुर्घटना से प्रभावित होता है, उसे कवरेज देती है। कई बार ऐसा होता है मोटर वाहन चलाते समय किसी दुर्घटना में सामने वाले की मृत्यु होने या उसके घायल होने का पता चलता है और आपके पास उसके इलाज के लिए इतने पैसे नहीं होते। तो सरकार ने इस स्थिति में उस इंसान के लिए इस थर्ड पार्टी बीमा का प्रावधान रखा है, जिसे हर मोटर वाहन के लिए कानूनी तौर पर अनिवार्य कर दिया गया है। इस थर्ड पार्टी बीमा के तहत दुर्घटना में प्रभावित सामने वाले पक्ष को मुआवजा दिया जाएगा। इसलिए हर साधारण बीमा कंपनी को इस बारे में प्रावधान करना होता है।

4. दुर्घटना के बाद समय बचाता है इंश्योरेंस

किसी भी कार दुर्घटना के समय हमें इस बात से और परेशान होती है कि कार में हुए नुकसान को कहां और कैसे ठीक कराया जाए। उस समय ये सभी बातें दिमाग में चलती रहती है। ऐसे में कार इंश्योरेंस आपके बड़े काम आता है। इंश्योरेंस आपको बताता है आपकी कार के लिए आसपास कौन सा अच्छा गैराज है और क्लेम करने के लिए क्या-क्या करना होगा।

5. हेल्थ इंश्योरेंस भी होता है कवर

ज्यादातर कार इंश्योरेंस पॉलिसी दुर्घटना में आपको और आपके साथी यात्रियों को भी कवर करती हैं। अगर आपके इंश्योरेंस में यह नहीं जुड़ा है तो आप इसे एड ऑन भी करा सकते हैं। आपके हेल्थ इंश्योरेंस के साथ यह एक पूरक रूप में काम करता है और यह आपको ऐसे कवर देता है जो आपको अलग से कराए हुए हेल्थ इंश्योरेंस भी नहीं मिलते होंगे।

यह भी पढ़ें: क्या होता है थर्ड पार्टी बीमा, मोटर वाहन के लिए क्यों है जरूरी

Posted By: Ankit Dubey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस