नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। अगर आपके पास ड्राइविंग से जुड़े सारे दस्तावेज हैं और आप यातायात नियम का पालन भी कर रहे हैं, तक भी आपको 10,000 रुपये तक का चालान देना पड़ सकता है। जी हां, मोटर व्हीकल (संशोधन) एक्ट, 2019 के तहत कई ऐसे नियम है जिसमें वाहन से जुड़े सारे दस्तावेज होने के बावजूद भी आपको जुर्माने के साथ-साथ जेल जाना पड़ सकता है। तो चलिए इन नियमों को जानते हैं।

आपातकालीन वाहनों को देने होगा रास्ता

अगर आप चाहते हैं कि ड्राइविंग करते समय आप पर कोई कार्यवाई नहीं की जाए, तो आपको पता होना चलिए कि सड़क पर आपातकालीन वाहनों को रास्ता देना जरूरी है और मोटर व्हीकल (संशोधन) एक्ट, 2019 के तहत इसे अनिवार्य बनाया गया है। जब कभी भी ऐसे वाहन आपके पीछे हॉर्न बजायें तो अपनी गाड़ी को सड़क पर साइड में ले लें और आपातकालीन वाहनों को ओवरटेक करने दें। इस नियम को अनदेखा करने पर आपके ऊपर कार्यवाई की जा सकती है और नियम तोड़ने की सूरत में आपको 10 हजार रुपए का जुर्माना लगा सकता है।

जुर्माने के साथ जाना पड़ सकता है जेल

अगर आप आपातकालीन वाहनों को रास्ता नहीं देते हैं तो आपको जेल भी जाना पड़ सकता है। 2019 एक्ट के मुताबिक, फायर ब्रिगेड और एम्बुलेंस जैसे आपातकालीन वाहनों को रास्ता नहीं देने पर मोटर व्हीकल (संशोधन) एक्ट, 2019 की धारा 194E के तहत चालान काट सकता है। इस स्थिति ,में चालक को 10,000 रुपए तक का जुर्माना या फिर 6 महीने की जेल हो सकती है। इसके अलावा जुर्माना और सजा दोनों हो सकने की भी संभावना है।

हॉर्न बजाने पर भी लग सकता है जुर्माना

सड़क पर तेज हॉर्न बजाने पर आपको 12 हजार तक जुर्माने के रूप में देना पड़ सकता है। संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार अगर कोई ड्राइवर सड़क पर प्रेशर हार्न का उपयोग करता है तो उसको 10 हजार रुपये का चालान भरना पड़ेगा, वहीं अगर नो हार्न जोन पर कोई व्यक्ति हार्न बजाते पकड़ा जाता है तो उसे 2 हजार रुपये का चालान भरना पड़ेगा।

Edited By: Sonali Singh