PreviousNext

दो दिन में नहीं हुआ एक भी घोड़ा-खच्चर का पंजीकरण

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 06:08 PM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 06:08 PM (IST)
दो दिन में नहीं हुआ एक भी घोड़ा-खच्चर का पंजीकरणदो दिन में नहीं हुआ एक भी घोड़ा-खच्चर का पंजीकरण
संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: केदारनाथ यात्रा में लगने वाले घोड़ा-खच्चरों के लिए जिला पंचायत में सोनप्रय

संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: केदारनाथ यात्रा में लगने वाले घोड़ा-खच्चरों के लिए जिला पंचायत में सोनप्रयाग में पंजीकरण का कार्य 20 अप्रैल से विधिवत रूप से शुरू हो गया है। दो दिन में अभी तक एक भी पंजीकरण नहीं हो सका है। अभी घोड़ा-खच्चर मालिक पंजीकरण के लिए जानकारी लेने पहुंच रहे हैं।

जिला पंचायत प्रतिवर्ष केदारनाथ यात्रा के लिए घोड़ा-खच्चरों एवं डंडी-कंडी का पंजीकरण करता है। जिससे जिला पंचायत की आय बढ़ने के साथ ही स्थानीय लोगों को छह माह का रोजगार मुहैया होता है। इसके लिए जिला पंचायत ही रेट निर्धारित भी करती है। गत गुरुवार को सोनप्रयाग में जिला पंचायत ने घोड़ा-खच्चर एवं डंडी-कंडी के लिए पंजीकरण का कार्य शुरू किया था। अभी घोड़ा मालिक के साथ ही डंडी-कंडी मालिक पंजीकरण के लिए जानकारी को पहुंच रहे हैं। पंजीकरण से पूर्व घोड़ा-खच्चर मालिकों पहले अपने पशु का स्वास्थ्य परीक्षण एवं बीमा कराना अनिवार्य होगा। जिसके बाद ही घोड़ा-खच्चरों का पंजीकरण किया जाना है। दो दिन में अभी तक ना ही घोड़ा-खच्चर का पंजीकरण हुआ है, और ना ही डंडी-कंडी का। पंजीकरण कराने की तिथि दो मई तक निर्धारित की गई है। जिला पंचायत के कर निरीक्षक ज्ञानेन्द्र बगवाड़ी ने बताया कि सोनप्रयाग में घोड़ा-खच्चरों का पंजीकरण कार्य विधिवत रूप से शुरू हो गया है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    निर्माण की धीमी रफ्तार पर कार्यदायी संस्था को फटकार12 हजार आबादी पर एक फार्मेसिस्ट नियुक्ति
    यह भी देखें