PreviousNext

आम लोगों के स्वास्थ्य पर मंडरा रहा खतरा

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 01:00 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 01:00 AM (IST)
आम लोगों के स्वास्थ्य पर मंडरा रहा खतराआम लोगों के स्वास्थ्य पर मंडरा रहा खतरा
संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: जिले की खाद्य सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। जिला खाद्य विभा

संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: जिले की खाद्य सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। जिला खाद्य विभाग दूसरे जनपद के अधिकारियों के भरोसे संचालित हो रहा है।

जनपद गठन को 19 वर्ष हो चुके हैं। लेकिन, जिले में अधिकारियों की कमी आज भी खल रही है। जिले के अधिकांश विभाग प्रभारी अधिकारियों के भरोसे ही संचालित हो रहे हैं। जिससे जनता को आवश्यक कार्य करवाने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वर्तमान में खाद्य सुरक्षा विभाग का भी यही हाल बना है। वर्तमान में जिले में पौड़ी जिले के जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी के भरोसे ही संचालित हो रहा है। ऐसे में खाद्य सामग्री की नियमित जांच नहीं हो रही है। ऐसे में लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ होना स्वाभाविक है। पूर्व में जांच के दौरान जिले में बासी मांस से लेकर कई एक्सपायरी सामान को नष्ट किया गया था। तीन दर्जन से अधिक खाद्य सामग्री के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। जिसमें पांच नमून फेल भी हुए हैं। त्योहार सीजन में यह समस्या और बढ़ जाती है। बाहरी क्षेत्रों से आने वाले नकली दूध, मावा एवं मिठाइयों के आने की शिकायतें भी मिलती रहती हैं। जिले में एक जिला खाद्य अधिकारी, चार खाद्य सुरक्षा अधिकारी, एक कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का पद सृजित है। जिसमें एक खाद्य सुरक्षा अधिकारी जिला मुख्यालय तथा एक-एक अधिकारी अगस्त्यमुनि, जखोली एवं ऊखीमठ में तैनात होना था। विगत डेढ़ वर्ष पूर्व भी जिले में एक अधिकारी भरोसे ही पूरे जनपद का स्वास्थ्य का जिम्मा था। उनके साथ अन्य अधिकारी न होने से उन्हें भी छापेमारी अभियान चलाने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। उनका अल्मोड़ा ट्रांसफर होने से उनके स्थान पर किसी अधिकारी की यहां स्थायी तैनाती नहीं हो सकी है। जिससे रुद्रप्रयाग शहर के साथ ही तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि, जखोली, ऊखीमठ, गुप्तकाशी, गौरीकुंड बडे़ कस्बों में नियमित छापेमारी की कार्रवाई नहीं हो पाती है।

वर्तमान में जिले की स्थिति-

जिला खाद्य अधिकारी- 1 पद रिक्त

खाद्य सुरक्षा अधिकारी- 4 पद रिक्त

कम्प्यूटर आपरेटर- 1 पद रिक्त

चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी- 1 पद रिक्त

जिले में खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को लेकर समय-समय पर शासन से पत्राचार किया जा रहा है, लेकिन अभी तक अधिकारी नहीं मिले हैं।

डॉ. आरपी बडोनी

मुख्य चिकित्साधिकारी, रुद्रप्रयाग

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    टीकाकरण कम होने पर डीएम ने जताई नाराजगीरुद्रप्रयाग में बारह वर्ष बाद भी नहीं बना मोटर पुल
    यह भी देखें