PreviousNext

छात्रों के गले में मेड इन चाइना आइकार्ड

Publish Date:Tue, 12 Sep 2017 05:53 PM (IST) | Updated Date:Tue, 12 Sep 2017 10:49 PM (IST)
छात्रों के गले में मेड इन चाइना आइकार्डछात्रों के गले में मेड इन चाइना आइकार्ड
कॉलेजों में प्रतिदिन वंदेमारतम् व राष्ट्रगान अनिवार्य है, लेकिन कुमाऊं के एमबीपीजी कॉलेज में विद्यार्थी जिस परिचय पत्र को गले में टांगेंगे, उस पर मेड इन चाइना लिखा है।

हल्द्वानी, [जेएनएन]: छात्र-छात्राओं में स्वदेश प्रेम की भावना जागृत हो, अपने देश के प्रति सम्मान बना रहे, इसके लिए उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. धन सिंह रावत ने अनूठी पहल की है। महाविद्यालयों में प्रतिदिन वंदेमारतम् व राष्ट्रगान अनिवार्य है। साथ ही कॉलेजों में राष्ट्रीय ध्वज लगाया जा रहा है, शौर्य दीवार बनाई जा रही है, लेकिन कुमाऊं के सबसे बड़े महाविद्यालय एमबीपीजी कॉलेज में नजारा कुछ है। यहां के विद्यार्थी जिस परिचय पत्र (आइकार्ड) को गले में टांगेंगे, उस पर मेड इन चाइना लिखा है।

 करीब 13 हजार छात्र संख्या वाले एमबीपीजी कॉलेज में राष्ट्रगान व वंदेमातम नियमित होता है। तिरंगा लहराता है और शौर्य दीवार भी है। दूसरी ओर कॉलेज में बंट रहे आइकार्ड पर जहां ग्लू कार्ड लिखा है, उसके ठीक नीचे दर्ज है- मेड इन चाइना। सोमवार को कुछ छात्रों की नजर इस पर पड़ी, तो आश्चर्य में पड़ गए। 

ऐसे समय में जब डोकलाम विवाद के चलते चीन में बने सामान का विरोध पुरजोर तरीके से हो रहा है, छात्रों को यह परिचय पत्र हजम नहीं हो रहा। परिसर के अंदर-बाहर इस आइकार्ड को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी हैं। 

 छात्र नेता दीपक पांडेय का कहना है कि शिक्षा मंत्री विद्यार्थियों के मन में देशभक्ति जगाने के लिए प्रयत्न कर रहे हैं। ऐसे में मेड इन चाइना आइकार्ड उचित नहीं है। इससे मंत्री के अभियान को झटका लगा है। एमबीपीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जगदीश प्रसाद का कहना है कि मैंने यहीं के प्रिंटर को आइकार्ड का ठेका दिया है। उसने जो सैंपल दिखाया, उसमें ऐसा कुछ नहीं लिखा था। अगर ऐसा होगा, तो इसकी जिम्मेदारी प्रिंटर की होगी। इस मामले को मंगलवार को देखा जाएगा।

यह भी पढ़ें: शिक्षकों से गलत सवाल पूछ अपनी फजीहत करा बैठे शिक्षा मंत्री

यह भी पढ़ें: यू-सेट: पांच घंटे में देने होंगे 175 सवालों के जवाब

यह भी पढ़ें: एमबीबीएस दाखिला उगाही में ईडी ने 11 ठिकानों पर मारे ताबड़तोड़ छापे

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Made in China I Card in Students Neck(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

सीटीआर के मालखाने में सड़ रहीं हैं वन्यजीवों की खालेंकरंट लगने से किसान की मौत