PreviousNext

विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में अनिवार्य रूप से गाया जाए राष्ट्रगान एवं वंदेमातरम

Publish Date:Sat, 12 Aug 2017 09:12 PM (IST) | Updated Date:Sat, 12 Aug 2017 10:55 PM (IST)
विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में अनिवार्य रूप से गाया जाए राष्ट्रगान एवं वंदेमातरमविश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में अनिवार्य रूप से गाया जाए राष्ट्रगान एवं वंदेमातरम
प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि सभी विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में राष्ट्रगान एवं वन्देमातरम अनिवार्य रूप से गाया जाए।

देहरादून, [जेएनएन]: प्रदेश के विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर करने के लिए प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डा. धन सिंह रावत द्वारा प्रदेश के कुलपतियों, रजिस्ट्रार तथा संबंधित अधिकारियों के साथ शनिवार को सचिवालय में समीक्षा बैठक आयोजित की गयी।

बैठक में शिक्षा मंत्री ने प्रदेश के सभी कुलपतियों को निर्देश दिए है कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में शिक्षा की उच्च गुणवत्ता को बेहतर करने की आवश्यकता है, जिसके लिए सभी को अच्छे प्रयास करने होंगे। 

उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति तैयार की जा रही है, जिसके लिए उत्तराखंड सरकार से सुझाव मांगे गए हैं। इसके लिए उन्होंने भारत सरकार को सुझाव भेजने के लिए सभी अधिकारियों को आपसी समन्वय के साथ सुझाव तैयार करते हुए नोडल अधिकारी भी नामित करने के निर्देश दिए।

 उच्च शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डा धन सिंह रावत ने निर्देश दिए कि सभी विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में राष्ट्रगान एवं वंदेमातरम अनिवार्य रूप से गाया जाए तथा एक माह में तिरंगा झंडा अनिवार्य रूप से लगाया जाए। उन्होंने कहा कि जिन विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में बायोमैट्रिक मशीन नहीं लगी है, उन विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेजों में बायोमैट्रिक मशीन 30 अगस्त, 2017 तक अनिवार्य रूप से लगाएं जाएं।

उन्होंने छात्रों की समस्याओं के समाधान के लिए समाधान पोर्टल बनाने के निर्देश दिए। शैक्षिक कैलेंडर घोषित किया जाए तथा इसका कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। सभी विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेजों में 180 दिन पढ़ाई अनिवार्य रूप से किया जाए तथा इसमें छात्रों की उपस्थिति 75 प्रतिशत होना अनिवार्य है। यदि किसी छात्र की उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम होती है, तो उनके अभिभावकों को भी सूचित किया जाए। 

 उच्च शिक्षा मंत्री कहा कि सुपर 100 क्लासेज चलाई जाएगी, जिसमें 50 बच्चों को अल्मोड़ा तथा 50 बच्चों को श्रीनगर में कोचिंग दी जाएगी। उच्च शिक्षा मंत्री ने निर्देश दिए कि उच्च शिक्षा में 100 प्रतिभावान बच्चों की सूची तैयार की जाए, जिन्हें लैपटाप दिए जाए सभी जनपदों के विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेजों में ई-लाईब्रेरी की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रत्येक विश्वविद्यालय को वाई-फाई कनैक्टिविटी से भी जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2019 तक उत्तराखंड को पूर्ण साक्षर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके लिए सभी विश्वविद्यालय 5-5 गावों को गोद लेकर पूर्ण साक्षरता के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहयोग करेंगे, जिसमें प्राईवेट विश्वविद्यालय भी शामिल होंगे।

 उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा सभी विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेजों में समय से छात्र संघ चुनाव करने के निर्देश दिए, जिसमें गढ़वाल मंडल में 10 सितम्बर 2017 से पूर्व एवं कुमांऊ मंडल में 25 सितंबर, 2017 तक अनिवार्य रूप से छात्र संघ चुनाव किए जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेजों में छात्र-छात्राओं का दुर्घटना बीमा किया जाए। उन्होंने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में जीर्णसीर्ण अतिथि गृह व छात्रावासों की मरम्मत के भी निर्देश दिए। 

 उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत द्वारा स्थानीय परेड ग्राउंड में 28 अगस्त, 2017 से 5 सितंबर 2017 तक आयोजित होने वाले पुस्तक मेले के आयोजन के संबंध में भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिसमें प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर से भी साहित्यकारों को भी आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 'पढ़ेगा भारत तो बढ़ेगा भारत' की तर्ज पर 'पढ़ेगा उत्तराखंड तो बढ़ेगा उत्तराखंड’ थीम रखा गया है। 

 उन्होंने कहा कि मेले का शुभारम्भ 28 अगस्त, 2017 को प्रदेश के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री द्वारा संयुक्त रूप से किया जायेगा। उन्होंने पुस्तक मेले के दौरान संस्कृति विभाग को नुक्कड नाटक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जाने एवं प्रतिदिन 300 से 400 बच्चों को कार्यक्रम में शामिल करने के निर्देश दिए। मेले के दौरान शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस बल की तैनाती एवं नगर निगम को सफाई व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए।  

 इस दौरान अपर मुख्य सचिव डा. रणबीर सिंह, अपर सचिव सविन बंसल, गढ़वाल एवं कुमांऊ मण्डल के विश्वविद्यालयों के कुलपति व रजिस्ट्रार आदि उपस्थित थे।

 

 यह भी पढ़ें: मत होइए निराश क्योंकि अभी भी है एमबीबीएस-बीडीएस में दाखिले का मौका

यह भी पढ़ें: प्रो सीएम शर्मा भरसार विश्वविद्यालय के वीसी नियुक्त

यह भी पढ़ें: गुरुरामराय मेडिकल कॉलेज ने दी एकलपीठ के इस फैसले को चुनौती

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:National anthem and vandematram compulsory in Universities and Degree Colleges(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

रुड़की में श्रीकृष्ण लीला का किया गया मंचनबेटी पैदा होने पर बहू को घर से निकाला
यह भी देखें