PreviousNext

साहब, सरकार हमें ये चावल खिला रही, इसे तो जानवार भी न खाए

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 02:46 PM (IST) | Updated Date:Sat, 22 Apr 2017 05:02 AM (IST)
साहब, सरकार हमें ये चावल खिला रही, इसे तो जानवार भी न खाएसाहब, सरकार हमें ये चावल खिला रही, इसे तो जानवार भी न खाए
एक महिला महापौर एवं विधायक विनोद चमोली को राशन की दुकान से मिले चावल दिखाते हुए बोली, 'साहब देखिए, सरकार हमें ये चावल खिला रही है। इसे आदमी तो छोड़ि‍ए इसे जानवर भी न खाए'।

देहरादून, [जेएनएन]: सरकारी राशन के नाम पर जनता को कितनी घटिया गुणवत्ता का चावल खिलाया जा रहा है, इसकी एक तस्वीर गुरुवार को पथरीबाग में पेयजल योजना के शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान नुमाया हुई। जब एक महिला मंच पर पहुंची और महापौर एवं विधायक विनोद चमोली को राशन की दुकान से मिले चावल दिखाते हुए बोली, 'साहब देखिए, सरकार हमें ये चावल खिला रही है। इस चावल की हालत ऐसी है कि आदमी तो छोड़ि‍ए इसे जानवर भी न खाए'।

महिला की यह बात सुनकर कार्यक्रम में मौजूद क्षेत्रीय लोग भी मंच के समीप पहुंच गए। उक्त लोगों ने विधायक चमोली को बताया कि क्षेत्र में राशन की दुकान हमेशा बंद रहती है। हर माह डीलर सिर्फ कुछ लोगों को राशन बांटकर, अधिकांश को यह कहकर वापस भेज देता है कि राशन खत्म हो गया। लोगों ने यह आरोप भी लगाया कि इस बावत सवाल-जवाब करने पर डीलर उनके साथ अभद्रता करता है। 

वहीं, कुछ लोगों ने शिकायत की कि क्षेत्र में राशन की कोई दुकान नहीं है, जिस कारण उन्हें राशन लेने के लिए काफी दूर जाना पड़ता है। इससे भी ज्यादा परेशानी की बात यह कि राशन के लिए तीन-चार चक्कर काटने पड़ते हैं, क्योंकि राशन की दुकान अधिकांशत: बंद रहती है। लोगों ने बताया कि वह कई बार जिला पूर्ति विभाग में शिकायत कर चुके हैं, मगर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। 

विधायक ने दिया आश्वासन

विधायक विनोद चमोली ने बताया कि उन्होंने घटिया चावल का सैंपल ले लिया है। इस संबंध में जिलाधिकारी और जिला पूर्ति अधिकारी से बात की जाएगी। साथ ही राशन की दुकानों और गोदामों पर छापेमारी अभियान चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: फसलों में लगने वाली बीमारियों का जैविक तरीके से होने लगा उपचार

यह भी पढ़ें: चमोली में ग्रामीणों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बना मशरूम मैन

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Sir government is giving us this rice(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

कश्मीर में सैनिकों पर हमले की मुझे जानकारी नहीं: नयनताराउत्तराखंड में 20 फीसद महंगी हो सकती है बिजली की दरें
यह भी देखें