PreviousNext

योगी आदित्यनाथ के गांव पंचुर में साथ ही मनी होली-दीवाली

Publish Date:Mon, 20 Mar 2017 09:48 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 04:00 AM (IST)
योगी आदित्यनाथ के गांव पंचुर में साथ ही मनी होली-दीवालीयोगी आदित्यनाथ के गांव पंचुर में साथ ही मनी होली-दीवाली
उत्तराखंड में पौड़ी जिले के छोटे से गांव पंचुर में भी जश्न का माहौल है। गांव का बेटा योगी आदित्यनाथ (अजय मोहन सिंह बिष्ट) ने यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ जो ली है।

ऋषिकेश, [हरीश तिवारी]: रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ उत्तराखंड में पौड़ी जिले के छोटे से गांव पंचुर में भी जश्न का माहौल है। गांव का बेटा योगी आदित्यनाथ (अजय मोहन सिंह बिष्ट) उत्तर प्रदेश जैसे विशाल प्रांत के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ जो ली है। सुबह से ही आसपास के गांवों से लोगों का पंचुर पहुंचना शुरू हो गया। 
कल तक यमकेश्वर प्रखंड की पट्टी उदयपुर बल्ला के लोग ही इस गांव को ठीक से जानते थे, लेकिन अब पूरा देश जानने लगा है। एक दर्जन से अधिक टीवी चैनलों के रिपोर्टर और कैमरामैन भी यहां पहुंच चुके हैं। सभी योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट और मां सावित्री देवी से बातचीत कर गांव के हालात को कैमरों में कैद कर रहे हैं। 
घर के आंगन में गूंज रही ढोल-दमाऊ की सुर लहरियां वातावरण को आनंदमय बना रही हैं। पास ही कई युवाओं की टोली आतिशबाजी करने में लगी है। गांव के लोग योगी के माता-पिता सहित परिजनों को गुलाल लगाकर शुभकामनाएं दे रहे हैं। प्रतीत हो रहा है, मानो होली-दिवाली के त्योहार एक साथ आ गए हैं। ऐसे खुशनुमा माहौल में कब दोपहर हो गई, पता ही नहीं चला।
अब वातावरण शांत है, लेकिन लोगों में एक अजीब ढंग की उत्सुकता है। सभी की नजरें टीवी के पर्दे पर टिकी हैं, जिसमें लखनऊ स्थित कांशीराम स्मृति उपवन में योगी के शपथ ग्रहण समारोह का लाइव प्रसारण चल रहा है। जैसे ही योगी आदित्यनाथ ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में उप्र के 32वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की, वातावरण में तालियों की गड़गड़ाहट गूंज उठी। 
योगी के माता-पिता की आंखों से खुशी के आंसू झरने लगे। यमकेश्वर के कोठार गांव से पंचुर पहुंची योगी की बहन शशि की आंखों के पोर भी नम हो गए। भाई को पराकाष्ठा की ऊंचाइयों पर देख उसके मुंह से बोल नहीं फूट रहे थे।
इस मौके पर टीवी चैनल के प्रतिनिधियों ने योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट के मन की थाह लेनी चाही तो वे बोले सबसे ज्यादा खुशी तो मुझे तब हुई, जब 325 विधायकों का उन्हें समर्थन मिला। यह उप्र के साथ उत्तराखंड के लिए भी खुशी का मौका है। जबकि, छोटे भाई महेंद्र बिष्ट बोले, योगी चाहते हैं कि पहाड़ में शिक्षा का प्रचार हो। खासकर यमकेश्वर ब्लाक में अच्छे स्कूल खुलें। इससे पलायन पर भी अंकुश लगेगा।
क्षेत्र पंचायत सदस्य महावीर सिंह व ग्राम प्रधान आशीष रतूड़ी का कहना था कि योगी ने उत्तराखंड के साथ देश का नाम भी रोशन किया है। योगी के बड़े भाई मानेंद्र बिष्ट की खुशी भी छुपाए नहीं छुप रही थी। और...गांव वालों के तो क्या कहने। शपथ ग्रहण समारोह संपन्न होने के बाद फिर ढोल-दमाऊ की सुर लहरियां गूंजने लगीं और थिरकने लगे युवा-बुजुर्ग, बच्चे हर किसी के कदम। हर चेहरे पर गौरव का भाव था। यही नहीं, पंचुर पहुंचे तमाम संगठनों के प्रतिनिधि भी स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे। 
शपथ ग्रहण समारोह में न पहुंच पाने का मलाल
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट को बेटे के शपथ ग्रहण समारोह में न पहुंच पाने का मलाल है। आनंद ने बताया कि रविवार दोपहर बाद एक बजे उन्हें पत्नी के साथ फ्लाइट पकड़नी थी, लेकिन समय कम होने के कारण परिवार को समारोह टीवी पर देखकर ही संतोष करना पड़ा। 
पौड़ी जिले के पंचूर गांव से देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट तक पहुंचने में तीन घंटे लगते हैं। आनंद के अनुसार उन्हें पहले दिल्ली से जाना था और दिल्ली से लखनऊ की उड़ान पकड़नी थी। उन्होंने बताया कि घर पर मेहमान भी काफी आए हुए हैं। ऐसे में उन्होंने घर पर ही रुकने का फैसला किया।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Celebration in Yogis village Panchur at uttarakhand(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

भ्रष्टाचार मुक्त राज्य भाजपा का मिशन: बलूनीउत्‍तराखंड: ओमप्रकाश को अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री का जिम्मा
यह भी देखें