PreviousNext

30 अधिकारी आइटीबीपी की मुख्यधारा में शामिल

Publish Date:Fri, 05 Jul 2013 10:06 PM (IST) | Updated Date:Fri, 05 Jul 2013 10:07 PM (IST)
30 अधिकारी आइटीबीपी की मुख्यधारा में शामिल

जागरण प्रतिनिधि, मसूरी: लगभग एक साल के कठोर प्रशिक्षण के बाद शुक्रवार को आयोजित पासिंग आउट परेड में शपथ लेने के बाद 30 अधिकारी आइटीबीपी की मुख्यधारा में शामिल हो गए। आइटीबीपी अकादमी के निदेशक आइजी हरभजन सिंह ने पासिंग आउट परेड की सलामी ली। इसके बाद प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रशिक्षु अधिकारियों को पुरस्कृत किया। देश की आन, बान और शान की खातिर अपना सर्वोच्च बलिदान देने की शपथ लेने के बाद पास आउट होने वाले अधिकारियों के परिजनों व बल के अधिकारियों ने उनके कंघों पर सितारे सजाये तो खुशी के मारे परिजनों की आंखें छलक पड़ी।

आइटीबीपी अकादमी के परेड ग्राउण्ड में आयोजित पासिंग आउट परेड व शपथ ग्रहण समारोह में अकादमी के निदेशक आइजी हरभजन सिंह ने परेड की सलामी ली। इसके बाद उन्होंने कहा कि आइटीबीपी देश की सीमाओं के साथ ही आंतरिक सुरक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। मुझे आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप सभी अपने परिजनों व देश की जनता की अपेक्षाओं पर हमेशा खरा उतर कर आइटीबीपी का नाम रोशन करेंगे। हाल ही में राज्य में आई दैवीय आपदा के दौरान खोज एवं बचाव अभियान में शहीद हुए बल के जवानों को उन्होंने अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए।

इस अवसर पर निदेशक ने प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रशिक्षु अधिकारियों को पुरस्कार प्रदान किए। इसमें दीपक भट्ट को बेस्ट इनडोर व ओवरऑल बेस्ट ट्रेनी, प्रदीप गुलेरिया को बेस्ट आउटडोर ट्रेनी, अवनीश पुरोहित को बेस्ट मा‌र्क्समैन व बेस्ट एण्ड्यूरेंस ट्रेनी, आशीष पांगती व जिथ जेम्स को बेस्ट स्पो‌र्ट्समैन, दीपांकर नैलवाल व डॉ. कुबेर एस शर्मा को बेस्ट कंडक्ट ट्रेनी की ट्रॉफी से सम्मानित किया गया।

पास आउट होने वालों में उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश से आठ-आठ, बिहार, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश से दो-दो, हरियाण से तीन और जम्मू-कश्मीर, केरल, पश्चिमी बंगाल, नागालैण्ड व महाराष्ट्र से एक-एक अधिकारी हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    कथा से पूर्व निकाली कलश यात्राफौजी व व्यापारी भिड़े, जमकर बवाल
    यह भी देखें