देवभूमि में पर्यटक शहरों के प्रवेशद्वार पर बनेंगे टीएचसी

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 06:39 PM (IST) | Updated Date:Sat, 22 Apr 2017 06:00 AM (IST)
देवभूमि में पर्यटक शहरों के प्रवेशद्वार पर बनेंगे टीएचसीदेवभूमि में पर्यटक शहरों के प्रवेशद्वार पर बनेंगे टीएचसी
'अतिथि देवो भव:' के सूत्र पर सूचना सेंटरों से इतर कुमाऊं व गढ़वाल मंडल में पर्यटक सहायता केंद्र (टीएचसी) स्थापित किए जाएंगे। इसकी शुरुआत धर्म नगरी हरिद्वार से की जाएगी।

रानीखेत, [मनीष साह]: हिमालयी राज्य में धार्मिक व ग्रामीण पर्यटन के साथ ईको एवं टी-टूरिज्म की कवायद के बीच सैलानियों को रिझाने के लिए नायाब योजना तैयार कर ली गई है। विभिन्न राज्यों व विदेश से पहुंचने वाले पर्यटकों को जहां तेज तर्रार गाइड पहाड़ की खूबियों से रूबरू कराएंगे, वहीं पर्यटक स्थलों की सीमा में कदम रखते ही प्रवेश द्वार पर उनकी विशेष आवभगत होगी। 'अतिथि देवो भव:' के सूत्र पर सूचना सेंटरों से इतर कुमाऊं व गढ़वाल मंडल में पर्यटक सहायता केंद्र (टीएचसी) स्थापित किए जाएंगे। इसकी शुरुआत धर्मनगरी हरिद्वार से की जाएगी। 

बीते वर्ष चारधाम यात्रा की सफलता के बाद पर्यटन मंत्रालय ने उत्तराखंड को टूरिस्ट स्टेट की पहचान दिलाने की दिशा में तेजी से कदम बढ़ा लिए हैं। खासतौर पर मेहमान सैलानियों को किसी भी समस्या से दो-चार न होना पड़े और उन तक शानदार मेहमाननवाजी का संदेश पहुंचे, इसके लिए कुमाऊं व गढ़वाल में हरेक पर्यटक शहर के प्रवेश द्वार पर टूरिस्ट सहायता केंद्र स्थापित किए जाएंगे। 

इन केंद्रों पर बाकायदा पर्यटन विभाग के गाइड व कर्मचारी सैलानियों का स्वागत करेंगे। उनकी मनपसंद डिश ही नहीं बल्कि भौगोलिक जानकारी, जैव विविधता, पशु पक्षियों के संसार, तीर्थ व पर्यटक स्थलों के एतिहासिक तथ्यों से अवगत कराएंगे। ये टीएचसी पार्किंग व रेस्टोरेंट से भी लैस होंगे। महत्वाकांक्षी योजना के पहले चरण में हरिद्वार में टूरिस्ट हेल्प सेंटर स्थापित किया जाएगा। पर्यटन विकास की इस नायाब पहल को अमलीजामा पहनाने के लिए हरिद्वार में भूमि चयनित कर ली गई है। 

यहां यहां बनेंगे टीएचसी 

चिड़ि‍यापुर (हरिद्वार), आसारोली, जसपुर, किच्छा, खटीमा, रुद्रपुर, काशीपुर, हल्द्वानी, नैनीताल, रानीखेत, अल्मोड़ा, कौसानी, जागेश्वर, पिथौरागढ़ आदि। 

विभिन्न पर्यटक शहरों के प्रवेश द्वारों पर स्थापित होंगे टूरिस्ट हेल्प सेंटर

संयुक्त निदेशक पर्यटन पूनम चंद्रा का कहना है कि प्रदेश के विभिन्न पर्यटक शहरों के प्रवेश द्वारों पर टूरिस्ट हेल्प सेंटर स्थापित किए जाने की योजना है। यहां सैलानियों को प्रदेश की खूबसूरती, भौगोलिक, धार्मिक व तीर्थाटन, वन संपदा आदि के साथ ही औषधीय गुणों से भरपूर वनस्पतियों आदि की जानकारी दी जाएगी। उन्हें पर्वतीय व्यंजनों की ओर भी आकर्षित किया जाएगा। 

 यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के बुग्याल बनेंगे स्कीइंग रिजोर्टस: सतपाल महाराज

यह भी पढ़ें: टूरिज्म सर्किट में होंगे उत्तराखंड के महाभारतकालीन स्थल

यह भी पढ़ें: कार्यकर्ताओं में जोश फूंकने को बनी टीम राहुल में उत्तराखंड को भी जगह 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के सीएम बोले, सरकार की मंजिल भ्रष्टाचारमुक्त विकास

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:THC will be built on the entrance of tourist city(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें