PreviousNext

कबीर नगर का भव्य रूप देख गदगद हुए पीएम

Publish Date:Fri, 23 Dec 2016 02:00 AM (IST) | Updated Date:Fri, 23 Dec 2016 02:00 AM (IST)
कबीर नगर का भव्य रूप देख गदगद हुए पीएम
वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दुर्गाकुंड स्थित कबीर नगर का जायजा लिया जिसे इंटी

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दुर्गाकुंड स्थित कबीर नगर का जायजा लिया जिसे इंटीग्रेटेड पावर डेवलमेंट स्कीम (आइपीडीएस) व हृदय योजना के तहत भूमिगत केबिलिंग व हेरिटेज स्ट्रीट लाइटों से मॉडल के तौर पर तैयार किया गया है। करीब दस मिनट के संक्षिप्त अवलोकन कार्यक्रम में उनका टाइम मैनेजमेंट देखने लायक था। उन्होंने न केवल योजनाओं के बारे पड़ताल की बल्कि बच्चों से भी बात की और योजना को लेकर हो रहे फायदे की बाबत जानकारी। पीएम ने बच्चों से पूछा कि भूमिगत केबल से क्या फायदे हैं तो बच्चों ने बेबाक कहा कि इससे बिजली की चोरी रुकेगी। लाइन लॉस कम होगा। निर्बाध बिजली मिलेगी।

प्रधानमंत्री से मिल कर बच्चे तो काफी खुश थे ही, बड़ों में भी एक झलक पाने की होड़ लगी थी। प्रधानमंत्री को देखने के लिए सुबह से ही लोग जुट गए थे। कालोनी के रहनवार छतों पर खड़े थे। कौतुहल ऐसी कि प्रधानमंत्री कील एक झलक पाने के लिए वे बेताब थे। दोपहर करीब 12 बजकर एक मिनट पर प्रधानमंत्री कबीर नगर पहुंचे तो वहां मौजूद लोगों ने हर-हर मोदी के नारे लगाए जिससे पूरा कबीर नगर गूंज उठा। पीएम वाहन से उतरे तो लोगों का अभिवादन हाथ हिला कर किया। निरीक्षण के दौरान भूमिगत योजनाओं की बाबत पूरी जानकारी बता रहे होर्डिग के पास पहुंच गए। उन्होंने होर्डिग पर लिखी जानकारी को ध्यान से पढ़ा। इस दौरान उन्होंने पीएफसी व आइपीडीएस के अधिकारियों से योजना की प्रगति के बारे में पूछताछ की। अधिकारियों की माने तो प्रधानमंत्री योजनाओं से काफी संतुष्ट नजर आए। इस क्रम में वह स्वागत में खड़े डालिम्स सनबीम स्कूल, रोहनिया व संजय शिक्षा निकेतन, कबीर नगर के बच्चों से बातचीत की। हाथ हिलाते हुए दोपहर करीब 12.10 बजे कबीर नगर से रवाना हो गए हालांकि इससे पूर्व उन्होंने कार के दरवाजे पर खड़े होकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। लोगों की उत्सुकता देख उनके चेहरे पर प्रसन्नता के भाव स्पष्ट झलक रहे थे।

----------------

ध्यान से देखा स्ट्रीट लाइट को

कबीर नगर में लगाए गए हेरिटेज स्ट्रीट लाइट को गौर से देखा। आसमान से सारे तार गायब थे। साफ-सफाई देखकर वह संतुष्ट नजर आए।

100 मीटर चले पैदल

कार्यक्रम स्थल पर करीब 100 मीटर पैदल चल कर उन्होंने भूमिगत केबल का न केवल निरीक्षण किया। अपितु बच्चों के करीब पहुंच कर उनसे बातचीत भी की।

जब बच्चों की थपथपाई पीठ

पीएम ने बच्चों से पूछा कि तुम लोग फेसबुक, वाट्सअप व ट्यूटर यूज करते हो। बच्चों ने कहा कि संडे को इसका उपयोग करते है। बच्चों के जवाब से वह बहुत खुश हुए और उनकी पीठ थपथपाई।

अंतिम क्षण तक लाइट टेस्टिंग

प्रधानमंत्री के पहुंचने से पहले अंतिम क्षण तक हेरिटेज स्ट्रीट लाइटों की जांच होती रही। आने के कुछ ही क्षण पहले इन लाइटों जला दिया गया ताकि योजना की भव्यता नजर आए।

प्रोजेक्टर से प्रचार-प्रसार

कबीर नगर में प्रोजेक्टर भी लगाया गया था जिस पर आइपीडीएस योजना के हत भूमिगत केबलिंग, हेरिटेज स्ट्रीट लाइटों की बाबत जानकारी दी जा रही थी। कबीर नगर का भव्य स्वरूप दिखाया जा रहा था। पीएम के आने से पहले ही पूरे इलाके को सील कर दिया गया था।

ये अधिकारी थे मौजूद

पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक अजय कुमार सिंह, आइपीडीएस के नोडल अफसर अनिल वर्मा, पीएमओ के वरिष्ठ सलाहाकार जेएन द्विवेदी, पीजीसीआईएल के आईएस झा व पीएफसी की राधिका झा आदि मौजूद थे।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    खिचड़ी खाई, छाछ पीयादृश्यता घटी, पांच मिनट विमान में बैठे रहे पीएम
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें