PreviousNext

अनीसू पंडित की हत्या के बाद खून-खराबे के आसार

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 01:52 AM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 01:52 AM (IST)
अनीसू पंडित की हत्या के बाद खून-खराबे के आसारअनीसू पंडित की हत्या के बाद खून-खराबे के आसार
मेरठ : पोदीवाड़ा में घर के समीप पुरानी रंजिश के चलते हिस्ट्रीशीटर अनीसू पंडित पर फाय¨रग कर दी थी। चार

मेरठ : पोदीवाड़ा में घर के समीप पुरानी रंजिश के चलते हिस्ट्रीशीटर अनीसू पंडित पर फाय¨रग कर दी थी। चार गोली लगने से घायल अनीसू ने चार दिन बाद दिल्ली में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। अनीसू की हत्या के बाद खून-खराबे के आसार बढ़ गए है। परिवार के लोगों ने ऐलान कर दिया कि खून का बदला खून से लिया जाएगा। उधर, पुलिस ने अभी तक नामजद किए आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की।

कोतवाली के बनी सराय निवासी हिस्ट्रीशीटर अनीसू पंडित मीट का बड़ा सप्लायर था। शनिवार को अनीसू स्कार्पियो में सवार होकर अपने साथी अफाक, भाई वसीम, इमरान और वसीम बुनकर के साथ लिसाड़ी थाने के समीप मंडप में होने वाली कुरैशी बिरादरी की पंचायत में जा रहे थे। स्कार्पियो में अनीसू आगे की सीट पर बैठे थे। कार को अफाक चला रहा था। घर के करीब सौ मीटर की दूरी पर पहुंचते ही। सामने से आए बाइक सवार हमलावरों ने अनीसू की कार पर ताबड़तोड़ फाय¨रग कर दी। लोकप्रिय अस्पताल में उपचार देने के बाद अनीसू को दिल्ली रेफर कर दिया। चार दिनों के बाद अनीसू ने दम तोड़ दिया। अनीसू की हत्या के बाद कोतवाली के पोदीवाड़ा में तनाव का माहौल बन गया। अनीसू की हत्या में चाचा हाजी शाह आलम ने उम्रदराज, उम्र पुत्रगण यासिन, जीशान पुत्र इरफान, मोबिन पुत्र मिद्दू, असलम पुत्र कल्लू, शहजाद समेत सात लोगों को नामजद किया था। अभी तक पुलिस एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई। देर रात पोस्टमार्टम के बाद अनीसू का शव दिल्ली से घर पर लाया गया। एसएसपी जे रविंदर गौड ने कहा कि हमलावरों की तत्काल गिरफ्तारी की जाएगी।

10 साल की रंजिश और 04 कत्ल

हिस्ट्रीशीटर अनीसू की हत्या के बाद मीट सप्लायरों में रंजिश बढ़ गई है। चाचा शाह आलम ने ऐलान किया कि खून का बदला खून से लिया जाएगा। दरअसल, इस दुश्मनी की शुरूआत 2007 से हुई थी। उस समय अनीसू पंडित के सप्लायरों को शरीफ के पिता अब्दुल हमीद ने तोड़ लिया था। इसी को लेकर 2007 में कमेले के अंदर शरीफ के छोटे भाई नफीस की हत्या कर दी गई थी। 26 मार्च 2008 को अनीशु पंडित के भाई रईसुद्दीन की लिसाड़ीगेट के प्रहलाद नगर में हत्या कर दी गई थी। दोनों ओर से एक-एक हत्या होने के बाद समझौता हो गया था। 27 अक्टूबर 2014 को लिसाड़ीगेट रोड पर शरीफ की हत्या कर दी गई थी। उसमें अनीसू पंडित को नामजद किया था। तभी ने शरीफ का परिवार अनीसू पंडित के पीछे पड़ा हुआ था।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    मुख्यमंत्री लखनऊ में प्रधानों को देंगे 'योगी मंत्र'मेरठ में 50 दिन में पूरा करना होगा सीएम योगी का टास्क
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें