बच्चों पर जबरन अपने विचार न थोपें अभिभावक

Publish Date:Sun, 17 Sep 2017 11:14 PM (IST) | Updated Date:Sun, 17 Sep 2017 11:14 PM (IST)
बच्चों पर जबरन अपने विचार न थोपें अभिभावकबच्चों पर जबरन अपने विचार न थोपें अभिभावक
महराजगंज: अभिभावक बच्चों पर शिक्षा का क्षेत्र चुनने के लिए जबरन अपना विचार न थोपें , बल्कि बच्च

महराजगंज: अभिभावक बच्चों पर शिक्षा का क्षेत्र चुनने के लिए जबरन अपना विचार न थोपें , बल्कि बच्चों को उनकी रुचि के अनुसार शिक्षा का क्षेत्र सुनने का अवसर दें। बच्चों मे तभी सर्वांगीण विकास हो सकेगा। यह विचार मानसिक रोग विशेषज्ञ डाक्टर प्रभात कुमार अग्रवाल ने आरपी इंटर कालेज में आयोजित शैक्षणिक गोष्ठी एवं अभिभावक सम्मेलन में कही। रविवार को दिन में आरपी इंटर कालेज परिसर में आयोजित शैक्षणिक गोष्ठी एवं अभिभावक सम्मेलन में डाक्टर प्रभात कुमार अग्रवाल ने कहा कि कुछ अभिभावकों की यह शिकायत रहती है कि उनके बच्चे का पढ़ने में मन नहीं लगता है यह बच्चों के शैक्षिक रुचि के अनुसार स्थिति उत्पन्न होती है। इस दौरान डिग्री कालेज के प्रवक्ता व कमला इंटरमीडिएट कालेज के प्रबंधक आलोक शर्मा ने बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरुक करते हुए कहा कि शिक्षा को तीन प्रकार में बांटा गया है । प्रथम प्राथमिक शिक्षा द्वितीय माध्यमिक शिक्षा और तृतीय उच्च शिक्षा है। छात्र जीवन में माध्यमिक शिक्षा सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है ।इस दौरान छात्र अपने भविष्य को किस ओर ले जाना चाहते हैं, यह उस पर निर्भर करता है। इस मौके पर ओए जोसेप्स , अधिवक्ता गो¨वद सोनी, श्यामसुंदर सुल्तानिया ,सुभ्रा ¨सह , पंडित अवधेश चौबे ,सहित अन्य लोगों ने भी अपने विचार रखें। इस दौरान आरपी इंटर कालेज के प्रबन्धक डाक्टर पंकज तिवारी , नीरज तिवारी अतिथियों का स्वागत स्वागत तथा और आभार प्रकट किया।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:plan(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें