PreviousNext

योगी आदित्यनाथ को सुशासन और विकास के मंत्र के साथ यूपी का राज

Publish Date:Sat, 18 Mar 2017 09:15 PM (IST) | Updated Date:Sun, 19 Mar 2017 10:58 AM (IST)
योगी आदित्यनाथ को सुशासन और विकास के मंत्र के साथ यूपी का राजयोगी आदित्यनाथ को सुशासन और विकास के मंत्र के साथ यूपी का राज
भारतीय जनता पार्टी ने सुशासन और विकास के मंत्र के साथ योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी है। वह प्रदेश के 32 वें मुख्यमंत्री होंगे।

लखनऊ (जेएनएन)। भारतीय जनता पार्टी ने सुशासन और विकास के मंत्र के साथ योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी है। वह प्रदेश के 32 वें मुख्यमंत्री होंगे। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा को उप मुख्यमंत्री बनाया गया है। रविवार को योगी आदित्यनाथ दोनों उप मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ कांशीराम स्मृति उपवन में शपथ लेंगे। केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने लोकभवन के मीडिया सेंटर में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों के नाम की घोषणा की। लोकभवन में नायडू ने कहा कि उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत के साथ भाजपा सत्ता में आयी है। मोदी का एक ही मंत्र है विकास। योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उप्र की नई सरकार सिर्फ विकास और सुशासन के लिए काम करेगी। अन्य दल केवल धर्म और जाति के नाम पर लोगों को भड़काने में लगे रहे, भाजपा ने विकास के लिए काम का एजेंडा आगे रखा और भरपूर जनसमर्थन मिला। इस दौरान योगी आदित्यनाथ, केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा भी मौजूद थे। इसके पहले दल के नेता के चयन के लिए लोकभवन में ही हुई भाजपा विधायकों की बैठक में वेंकैया नायडू और राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र यादव बतौर पर्यवेक्षक आये थे। पांच बजे यह बैठक आयोजित थी लेकिन, सवा घंटे बाद शुरू हो सकी।
बातचीत कर विधायकों का मन जाना
बैठक के बाद वेंकैया ने पत्रकार वार्ता में बताया कि वह और उनके सहयोगी भूपेन्द्र ने सुबह विधायकों से बातचीत कर सबका मन जाना। वरिष्ठ नेताओं के बीच भी चर्चा की। इसके बाद दल की बैठक में उन्होंने अनुरोध किया कि कोई वरिष्ठ विधायक किसी का नाम प्रस्तावित कर सकता है। वेंकैया के इस अनुरोध के बाद पिछली विधानसभा में भाजपा दल के नेता रहे शाहजहांपुर के विधायक सुरेश खन्ना ने योगी आदित्यनाथ का नाम प्रस्तावित किया। योगी का नाम प्रस्तावित होने के बाद विधायक दारा सिंह चौहान, स्वामी प्रसाद मौर्य, एसपी बघेल, वीरेन्द्र सिंह सिरोही, मुकुट विहारी वर्मा, हृदय नारायण दीक्षित, रीता बहुगुणा जोशी, धर्मपाल सिंह, समेत 11 लोगों ने समर्थन किया। योगी का नाम आने के बाद वेंकैया ने किसी और का नाम प्रस्तावित करने की बात कही लेकिन, किसी और का नाम नहीं आया। सभी ने एक स्वर से समर्थन दिया। इसके बाद 32वें मुख्यमंत्री के लिए योगी के नाम पर मुहर लग गयी। 
योगी ने किया उपमुख्यमंत्रियों का प्रस्ताव 
भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी ने विधायकों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। इसके बाद उन्होंने अनुरोध किया कि उत्तर प्रदेश बहुत बड़ा प्रदेश है। यहां सुशासन और बेहतर ढंग से दायित्व संभालने के लिए उन्हें दो प्रमुख सहयोगी बतौर उप मुख्यमंत्री चाहिए। योगी का प्रस्ताव आने के बाद वेंकैया नायडू ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से बातचीत की। इस दौरान आपस में चर्चा के बाद केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा का नाम उप मुख्यमंत्री के लिए तय किया गया था। अमित शाह की ओर से अनुमति मिलते ही उपमुख्यमंत्री के लिए केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा का नाम तय हो गया। योगी ने इनके नाम घोषित कर दिए। बैठक में भाजपा के प्रदेश प्रभारी ओमप्रकाश माथुर, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र, अपना दल सोनेलाल की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर भी मौजूद थे। कलराज मिश्र ने केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा को आशीर्वाद दिया। 
मोदी और शाह की मौजूदगी में शपथ ग्रहण 
वेंकैया नायडू ने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह रविवार को कांशीराम स्मृति उपवन में सवा दो बजे होगा। इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, संसदीय बोर्ड के सदस्य मौजूद रहेंगे। बताया कि योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य की इच्छा है कि सभी भाजपा शासित और गठबंधन वाले राज्यों के मुख्यमंत्री भी समारोह में आएं। वेंकैया ने बताया कि भाजपा शासित राज्यों के अलावा एनडीए गठबंधन के आंध्रप्रदेश, नगालैंड, सिक्किम, तथा जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री के भी आने की संभावना है। वेंकैया ने जम्मू की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से खुद बातचीत की है। 
नेपाल सीमा पर पकड़ा गया संदिग्ध युवक
नेपाल सीमा पर एसएसबी ने इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के साथ एक संदिग्ध युवक को पकड़ा है। उसे इंडो-नेपाल बार्डर पर एसएसबी कजरिया ने लखीमपुर  के नदी घाट के निकट शुक्रवार रात दबोचा। एसएसबी कजरिया ने आरोपी युवक को उसके पास से मिले संदिग्ध उपकरण के साथ गौरीफंटा कोतवाली पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस के अनुसार संदिग्ध युवक रहमान बक्श उर्फ फादर बक्श पलिया क्षेत्र के ग्राम फरसैय्या टांडा का निवासी है। वह कैरियर के रूप में नेपाल सामान ले जाने का काम करता था। उसे लखीमपुर भेज दिया गया है और एटीएस लखनऊ को भी सूचना दे दी गई है। अभी तक कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Yogi Raj in UP with good governance and mantra of development(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

लाइलाज हड्डी की कमजोरी अब कम खर्च में दूर होगीसीएम योगी के साथ केशव प्रसाद व डॉ. दिनेश शर्मा लेंगे डिप्टी सीएम पद की शपथ
यह भी देखें