PreviousNext

सोशल मीडियाः ...जैसे औरंगजेब के बाद आया हो शिवाजी का शासन

Publish Date:Mon, 20 Mar 2017 04:28 PM (IST) | Updated Date:Mon, 20 Mar 2017 04:36 PM (IST)
सोशल मीडियाः ...जैसे औरंगजेब के बाद आया हो शिवाजी का शासनसोशल मीडियाः ...जैसे औरंगजेब के बाद आया हो शिवाजी का शासन
सोशल मीडिया पर हिंदुत्व की विचारधारा के समर्थक जहां इसे औरंगजेब के बाद शिवाजी सरीखा शासन करार दे रहे हैं तो तथाकथित सेक्युलर और कुछ तबकों के लोग इसके विरोध में भी थे।

लखनऊ (जेएनएन)। योगी आदित्यनाथ के शपथग्रहण पर सोशल मीडिया भी इसी माहौल में रंगा नजर आया। हिंदुत्व की विचारधारा के समर्थक जहां इसे औरंगजेब के बाद शिवाजी सरीखा शासन करार दे रहे थे तो तथाकथित सेक्युलर और कुछ तबकों के लोग इसके विरोध में भी थे। मजे की बात यह कि इन विरोध करने वालों की खिलाफत के लिए भी सोशल मीडिया पर एक समूह तैयार हो गया। इस टीम ने योगी का विरोध करने वालों की खूब खबर ले डाली।
योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही सोशल मीडिया पर बधाई, शुभकामनाओं और हौसला बढ़ाने वाले संदेशों में तेजी आ गई। प्रधानमंत्री से लेकर भाजपा के बड़े नेताओं और विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी हस्तियों के औपचारिक शुभकामना संदेशों से इतर एक धारा उन अनौपचारिक बिंदास संदेशों की भी बह रही थी, जहां भावनाओं से लेकर भड़ास तक की खालिस अभिव्यक्ति थी। ऐसी ही एक पोस्ट में नीलेश पांडेय का ट्वीट था- 'यूपी की जनता ऐसा महसूस कर रही है, जैसे औरंगजेब के बाद शिवाजी का शासन आया हो। गिरधर सिंह अपनी पोस्ट में कहते हैं- '...भले ही सात दिन लिए, पर योगी को मुख्यमंत्री बना कर दिल जीत लिया।योगी को मुख्यमंत्री बनाए जाने की खुशी प्रशांत कुमार गुप्ता ने कुछ यूं व्यक्त की- 'मांगा था कट्टा..., मिल गई तोप। शपथग्रहण समारोह में लहराते केसरिया झंडों की ओर इशारा करते हुए राहुल साहू का ट्वीट कहता है- 'आज यूपी वालों को सच में लग रहा होगा कि वे सीरिया से सीधे हिंदुस्तान में आ गए हैैं।
हालांकि योगी के सत्तारूढ़ होने पर सोशल मीडिया पर विरोध के स्वर भी मुखर हैैं। 'नॉट माई सीएम के हैैशटैग से अभिषेक कुमार कमेंट करते हैैं- 'भाजपा ने बहुत बुरा किया..., विकास के नाम पर विष पकड़ा दिया। यहीं पर धारा जहां योगी पर दर्ज मुकदमे गिना रही हैैं, तो माजिद सवाल पूछ रहे हैैं कि योगी सीएम बने तो क्या अब साध्वी प्राची राष्ट्रपति बनेंगी। इसके जवाब में मोनू द्विवेदी और अजय केडिया जहां बरनॉल को आउट ऑफ स्टॉक बताकर चुटकी ले रहे हैैं तो वहीं शीतल सवाल पूछ रही हैैं कि- 'योगी से पहले उदारवादी कहते थे कि मोदी के पास विकास कोई एजेंडा नहीं है और अब योगी को मोदी के विकास के एजेंडे के लिए खतरा बता रहे हैैं।

सन ग्लासेस वाला संन्यासी
बधाई या विरोध से इतर सोशल मीडिया पर एक ऐसा वर्ग भी है, जो लाइट मूड के साथ हर बात का मजा लेता है। इन्हीं में एक जासूस कुट्टी कहते हैैं- 'वोटर विकास चाहते थे..., इसलिए हमने सन ग्लासेस वाला संन्यासी दिया। ध्रुपाल सिंह भी ट्वीट कर चुटकी ले रहे हैैं- 'मोदी जी ने तय किया था कि सीएम उसी को बनाएंगे जिसके पास बीवी की किचकिच न हो। संजीव सिंह कहते हैैं- 'जोगीरा सा रा रा रा..., होली पर यही बोले थे न..., बड़ी जल्दी पूरी हुई इच्छा। 
 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Social media like Shivaji rule came after Aurangzeb(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

लखनऊ में मोबाइल में नकल सामग्री के साथ पकड़ा गया शिक्षकईवीएम मामले को लेकर एक-दो दिन में कोर्ट जाएंगी मायावती
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »