PreviousNext

कुशवाहा समाज का रहा है गौरवशाली इतिहास

Publish Date:Sun, 02 Sep 2012 06:32 PM (IST) | Updated Date:Sun, 02 Sep 2012 06:34 PM (IST)

गाजीपुर : कुशवाहा समाज का इतिहास गौरवशाली रहा है। यदि समाज के लोगों को अपने अतीत का सही बोध हो जाए तो उन्हें विकास करने से कोई रोक नहीं सकता। मुख्य अतिथि पूर्व प्रधानाचार्य कोमल कुशवाहा रविवार को एमजेआरपी स्कूल, जगदीशपुरम में कुशवाहा महासभा की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि समाज को विकास की मुख्यधारा में लाने के लिए राजनीतिक रूप से शक्तिशाली बनाना होगा। राजनीतिक ताकत के लिए आर्थिक समृद्धि की जरूरत है। समाज के लोग अपनी सामाजिक एवं राजनीतिक प्रतिबद्धताओं को पहचानें तभी सफल होंगे। पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा ने कहा कि जिस वंश में महात्मा बुद्ध, चंद्रगुप्त मौर्य, सम्राट अशोक जैसे महान लोग पैदा हुए आज वह समाज दिग्भ्रमित हो गया है। विकास के लिए सभी लोगों को मिलकर प्रयास करना होगा। पूर्व विधान परिषद सदस्य ब्रजभूषण कुशवाहा ने कहा कि संगठित होकर समय को अनुकूल बना सकते हैं। संघर्ष के अलावा कोई विकल्प नहीं है। शिक्षा के माध्यम से समाज को चरित्रवान, संस्कारवान बनाने के साथ ही विकास की ओर ले जा सकते हैं। इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। बैठक में पूर्व विधायक उमाशंकर कुशवाहा, देवनाथ कुशवाहा, श्याम नारायन, राम नरेश, राधेश्याम, ओमप्रकाश अकेला, रामेश्वर, अनिल, नरेंद्र, गुलाब, तूफानी, अशोक, संतोष आदि उपस्थित थे। जिलाध्यक्ष धनजय मौर्य व संचालन सपा के जिला महासचिव राजेश कुशवाहा ने किया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर

कमेंट करें

    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)
    30 को फतेहाबाद में सम्मेलन करेगा नायक समाज : हरिकेशनाबालिग लड़की से की छेड़छाड़, पीटा
    यह भी देखें

    अपनी प्रतिक्रिया दें

    अपनी भाषा चुनें
    English Hindi


    Characters remaining

    लॉग इन करें

    निम्न जानकारी पूर्ण करें

    Name:


    Email:


    Captcha:
    + =


     

      मिलती जुलती

      • जागरण न्यूज़ मिनट

        पेश है 1 मिनट में इस समय की सभी बड़ी खबरें..

      • आधार हैं हम समाज का..

        मुरादाबाद में गुरुवार, 7 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर यूनिवर्सिटी की छात्राओं ने दिया संदेश।

      यह भी देखें
      Close