PreviousNext

तो अब रफ्तार पकड़ेगा हाईवे के चौड़ीकरण का कार्य

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 12:00 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 12:00 AM (IST)
तो अब रफ्तार पकड़ेगा हाईवे के चौड़ीकरण का कार्यतो अब रफ्तार पकड़ेगा हाईवे के चौड़ीकरण का कार्य
जागरण संवाददाता, आगरा : नेशनल हाईवे के चौड़ीकरण का कार्य अब रफ्तार पकड़ने की उम्मीद है। आगरा सहित अन्य

जागरण संवाददाता, आगरा : नेशनल हाईवे के चौड़ीकरण का कार्य अब रफ्तार पकड़ने की उम्मीद है। आगरा सहित अन्य जिलों में कई स्थल हैं। जिन्हें अभी तक नहीं हटाया जा सका है। राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद हाईवे के चौड़ीकरण का कार्य तेज होगा।

दिल्ली-आगरा नेशनल हाईवे टू के चौड़ीकरण का कार्य वर्ष 2011 में शुरू हुआ था। वर्ष 2012 से शहरी क्षेत्र के तीन फ्लाईओवर बनना चालू हुए थे। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) की लचर कार्यशैली के चलते चौड़ीकरण धीमा गति से हुआ। शुरू में जमीन अधिग्रहण को लेकर दिक्कतें खड़ी हो गई। यह परेशानी आज तक दूर नहीं हुई है। आगरा में दर्जनभर धार्मिक स्थल ऐसे हैं, जो अभी तक नहीं हटे हैं। इन्हें हटाने के लिए एनएचएआइ के अधिकारियों ने राज्य सरकार के अधिकारियों को पत्र लिखे थे, लेकिन ठोस कदम नहीं उठाया गया। अब भाजपा सरकार बनने के बाद चौड़ीकरण का कार्य तेज होने की उम्मीद है।

संरक्षा के इंतजाम पर भी ध्यान

नेशनल हाईवे के चौड़ीकरण में संरक्षा के इंतजाम पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। धूल उड़ती रहती है और दिल्ली से आगरा तक ठीक तरीके से साइनेज नहीं लगे हैं। जो भी ब्लैक स्पॉट हैं, उन्हें दूर करने का प्रयास नहीं किया गया है।

लगातार बदल रही है फ्लाईओवर की तारीख

शहरी क्षेत्र के नेशनल हाईवे में तीन फ्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है। खंदारी फ्लाईओवर बन चुका है, जबकि सुल्तानगंज की पुलिया और वाटरव‌र्क्स पर काम चल रहा है। सुल्तानगंज की पुलिया फ्लाईओवर तीस जून तक बनकर तैयार हो जाएगा। बता दें कि केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 31 मई तक तीनों फ्लाईओवर का कार्य पूरा करने के आदेश दिए थे।

नहीं बंद हुए अवैध कट

रुनकता से वाटरव‌र्क्स तक दर्जनभर से अधिक अवैध कट हैं। एनएचएआइ द्वारा अभी तक अवैध कट को बंद करने का प्रयास नहीं किया गया है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    छह हत्याओं से दहल गया था तुरकियाएक क्लिक पर हाजिर होगा गाव का विकास
    यह भी देखें