PreviousNext

ये है देश का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन, खतरनाक खाई से गुजरती है ट्रेन तो थम जाती हैं सांसे

Publish Date:Sun, 05 Feb 2017 11:05 AM (IST) | Updated Date:Wed, 28 Jun 2017 12:51 PM (IST)
ये है देश का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन, खतरनाक खाई से गुजरती है ट्रेन तो थम जाती हैं सांसेये है देश का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन, खतरनाक खाई से गुजरती है ट्रेन तो थम जाती हैं सांसे
यह अपने देश का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन है और यहां तक पहुंचने का सफर ही रोमांच से शुरू होता है।

भीड़भाड़ और कोलाहल से दूर जब एकांत में सुकून के पल बिताने का मन करता है तो अक्‍सर हिल स्‍टेशन ही याद आते हैं, प्रकृति को बेहद करीब से देखने और महसूूस करने का इससेे अच्‍छा विकल्‍प तो हो ही नहीं सकता। चारों तरफ बांहे फैलाए ऊंचे पहाड़, हैरान करती गहरी खाइयां, तरह-तरह के पेड़-पौधों वाले घने जंगल और कल-कल करतीं नदियां व बहते झरने...बरबस ही किसी का ध्‍यान अपनी तरफ खींच लेती हैं।

वहीं दूर-दूर तक सुनसान सड़कोंं पर अकेले घूमने का अपना अलग ही रोमांच हैं, मगर लगभग हर हिल स्‍टेशन पर यही नजारा देखने को मिलता है। तो क्‍यों ना, इस बार अगर आप हिल स्‍टेशन जाने की प्‍लानिंग करें तो माथेरान हिल स्‍टेशन जाएं। यह जरा हटके है, क्‍योंकि यह अपने देश का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन है और यहां तक पहुंचने का सफर ही रोमांच से शुरू होता है।

सबसे पहले आपको बता दें कि यह महाराष्‍ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित है और दुनिया की उन गिनी-चुनी जगहों में से एक है, जहां खतरनाक रास्ते होने के कारण किसी भी किस्म की गाड़ियां ले जाने पर सख्त प्रतिबंध है। पर्यटकों को यहां जाने के लिए ट्वॉय ट्रेन का इस्तेमाल करना पड़ता है, जो ऊंचे पहाड़ों के किनारे बेहद कठिन रास्तों से होकर गुजरती है।

घुमावदार रेल ट्रैक और उसके एक किनारे बेहद खतरनाक खाई, आप सोच सकते हैं कि यह सफर जान जोखिम में डालने जैसा है। मगर बताया जाता है कि खाई के किनारे ट्रेन चलाने वाले ड्राइवर को यहां खास ट्रेनिंग दी जाती है, जो बेहद सावधानी से ट्रेन को खाई के बगल से ले जाता है। सफर के पहले पर्यटकों को भी इस रूट पर सावधानी बरतने की चेतावनी दी जाती है।

मुंबई के करीब नेरुल जंक्शन से दो फुट चौड़ी नैरो गेज लाइन पर चलने वाली ट्वॉय-ट्रेन लगभग 21 किमी का सफर तय कर सवारियों को माथेरान बाजार के बीच स्थित रेलवे स्टेशन तक पहुंचाती है। यह ट्वॉय ट्रेन देश के सबसे घुमावदार रेल पाथ पर चलती है, जिसका ग्रेडियंट 1:20 है।

यह भी पढ़ें: यहां के सुंदर पहाड़ पढ़ाते हैं स्‍वच्‍छता के पाठ, नियम-कायदे जान रह जाएंगे हैरान

वैसे तो यहां पूरे साल प्रकृति के अद्भुत नजारे देखने को मिलते हैं, मगर बारिश के मौसम में कच्‍ची सड़कों पर फिसलने का खतरा रहता है। हालांकि इस मौसम का भी अपना अलग मजा है। बारिश में यहां के पहाड़ वाटर फॉल में बदल जाते हैं।

माथेरान को पॉल्यूशन फ्री हिल स्टेशन भी कहा जाता है। मोटर गाड़ियां, प्लास्टिक बैग्स बैन होने के कारण यहां पॉल्यूशन नहीं होता है। वैसे यहां सवारी के लिए घोड़े, खच्चर, हाथ से खींचने वाले रिक्शे और पालकी उपलब्ध रहते हैं, लेकिन आप चाहें तो पैदल घूम कर भी पूरे हिल स्टेशन का मजा ले सकते हैं।

माथेरान में देखने के लिए 20 से ज्यादा व्यू प्वाइंट, झीलें और पार्क हैं, जिनमें मंकी प्वाइंट, इको प्वाइंट, मनोरमा प्वाइंट, सनराइज और सनसेट प्वाइंट प्रमुख हैं।

यह भी पढ़ें: झीलों पर तैरता एक ऐसा घर, जहां कपल अपने हनीमून को बना सकते हैं बेहद रोमांचक

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Matheran is country smallest hill station when train crosses through a deep gorge breathe blows over(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

सूर्यास्‍त का मैजिक देखना हो तो घूमें भारत में ये 10 जगह'बेस्‍ट प्‍लेस फॉर रोमांस' मुन्‍नार जाएं तो ये 6 जगह जरूर घूमें
यह भी देखें