ताज के अलावा भी बुलंद आगरा

Publish Date:Tuesday,Oct 09,2012 04:46:09 PM | Updated Date:Tuesday,Oct 09,2012 04:46:09 PM
ताज के अलावा भी बुलंद आगरा

आगरा किला कहते इसे भी लाल किला ही हैं और यह भी विश्व धरोहर की सूची में शामिल है। अकबर ने 1565 में इसे बनवाया। बाद में शाहजहां ने इसे राजमहल का दर्जा दिया। मोती मसजिद. दीवाने आम, दीवाने खास, जहांगीर महल, खास महल, शीश महल, मुसम्मन बुर्ज- किले के ये सभी हिस्से देखने लायक हैं। यही वो किला है जिसमें 1666 में औरंगजेब ने शिवाजी को कैद कर लिया था और जहां से शिवाजी बाद में भाग निकले थे। किले के बाहर घोड़े पर सवार शिवाजी की एक प्रतिमा भी स्थापित है। फतेहपुर सीकरी अकबर ने आगरा से 35 किलोमीटर दूर फतेहपुर सीकरी में अपनी राजधानी बनाई थी। सीकरी में ही बाबर व राणा सांगा की लड़ाई हुई थी। अकबर ने यहां भव्य महल का निर्माण करवाया लेकिन पानी की कमी के चलते उन्हें इस जगह को छोड़कर आगरा किले में जाने को मजबूर होना पड़ा। फतेहपुर सीकरी में ही 1601 में अकबर ने बुलंद दरवाजा बनवाया था। फतेहपुर सीकरी को मुगल स्थापत्य कला के सबसे शानदार नमूनों में से एक माना जाता है। यहीं शेख सलीम चिश्ती का भी मकबरा है जिनके नाम पर अकबर ने जहांगीर का नाम सलीम रखा था। यहीं पर अकबर ने दीन-ए-इलाही की भी नींव रखी थी। महल के भीतर अनूप तालाब, नौबत खाना, पंच महल आदि देखने लायक हैं। इत्माद-उद-दौला जहांगीर की बेगम नूर जहां ने अपने पिता मिर्जा घियास बेग की याद में यह मकबरा बनवाया था। यमुना नदी के किनारे सफेद संगमरमर से बना यह मकबरा अक्सर बेबी ताज के रूप में भी कहा जाता है। इसकी बनावट की छाप कई जगह ताजमहल में दिख जाती है हालांकि मुगल काल के बाकी मकबरों की तुलना में यह छोटा है। लेकिन खूबसूरती में किसी भी मायने में कमतर नहीं। सिकंदरा आगरा से दिल्ली जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर 13 किलोमीटर दूर सिकंदरा में अकबर का मकबरा है। कहते हैं कि अकबर का मकबरा उनकी शख्सियत को पूरी तरह प्रतिबिंबित करता है। यह भी कहा जाता है कि अकबर ने अपने जीते-जी अपने मकबरे की जगह व उसकी बनावट चुन ली थी। जहांगीर ने पिरामिड की शक्ल के इस मकबरे का निर्माण 1613 में पूरा करवाया। आगरा में मुगल काल के अन्य प्रमुख स्थानों में जामा मसजिद, चीनी का रौजा, आराम बाग (भारत में मुगलों का बनाया सबसे पुराना बाग, जिसे बाबर ने 1528 में बनवाया था), मरियम का मकबरा, मेहताब बाग आदि शामिल हैं। इसके अलावा आगरा व आसपास के इलाके में देखने लायक चीजों में स्वामी बाग समाधि (राधास्वामी पंथ के संस्थापक शिव दयालसिंह सेठ की समाधि), मनकामेश्वर मंदिर (रावतपुरा में शिव का प्राचीन मंदिर) व गुरु का ताल (सिकंदरा के निकट बना तालाब जहां आज गुरुद्वारा है) भी प्रमुख हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Tags:Jagran Yatra, Dinaik Jagran

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, travel-tourism Desk)

यह भी देखें

प्रतिक्रिया दें

English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें



Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      कुछ पल गुजारे चिनाब के किनारे
      नजरों से दूर एक द्वीप
      कुदरत और शिल्प का मिलन