PreviousNext

फेंगशुई के ये उपाय आपके जीवन में अच्‍छे भाग्य व सुख शांति लाएंगे

Publish Date:Thu, 16 Mar 2017 11:23 AM (IST) | Updated Date:Fri, 17 Mar 2017 09:20 AM (IST)
फेंगशुई के ये उपाय आपके जीवन में अच्‍छे भाग्य व सुख शांति लाएंगेफेंगशुई के ये उपाय आपके जीवन में अच्‍छे भाग्य व सुख शांति लाएंगे
चीन में दरवाजे की ओर पांव करके सोना मृत्यु का सूचक माना जाता है। वास्तव में मृत शरीर इसी अवस्था में रखा जाता है, जो उसके लिए अच्छा माना जाता है।

 घर में सौभाग्य बढ़ाने का अद्भुत उपाय है फेंगशुई। फेंगशुई का प्रयोग भाग्य में वृद्धि और दुष्प्रभाव को कम करने में किया जाता है। पौधे फेंगशुई के उपयोगी स्रोत हैं। ये यांग ऊर्जा का निर्माण करते हैं और घर में सौभाग्य लाते हैं। ताजा फूल घर में सजाए जा सकते हैं, लेकिन अगर ये मुरझाने लगें तो इन्हें फौरन हटा देना चाहिए। ताजा फूल जीवन के प्रतीक हैं और मुरझाए हुए मृत्यु के सूचक हैं और ये यीन ऊर्जा छोड़ते हैं। फूलों को शयनकक्ष में रखने की बजाए ड्रॉइंगरूम में रखना ठीक होगा।

आपके घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा का कोना पृथ्वी तत्व का क्षेत्र है और यह रिश्तों तथा विवाह संबंधी इच्छाओं से जुड़ा हुआ है। हरे पौधे काष्ठ तत्व के प्रतीक हैं। काष्ठ पृथ्वी को नष्ट कर देता है। इस दिशा में हरे पौधे का होना, इस क्षेत्र की पृथ्वी ऊर्जा के लिए हानिकारक है। वैवाहिक संभावनाएं भी इससे कमज़ोर हो जाएंगी। दक्षिण दिशा का क्षेत्र अग्नि तत्व है, जो प्रसिद्धि से संबंधित है। तत्वों के विनाशकारी चक्र के अनुसार जल, अग्नि को नष्ट करता है। इसलिए यहां पर पानी वाला चित्र लगाना आपके नाम व साख के लिए हानिकारक है। यदि इस क्षेत्र में नीले रंग की कोई वस्तु रखी हो तो उसे भी तुरंत हटा दें, क्योंकि नीला रंग भी जल तत्व का प्रतीक है। पवनघंटी, घर में सौभाग्य बढ़ाने का अद्भुत उपाय है। पवनघंटी में लगी हुई घड़ियों की संख्या तथा जिस पदार्थ से पवनघंटी बनी होती है, दोनों का बहुत महत्व है। पवनघंटी हर क्षेत्र में नहीं लटकाया जाना चाहिए। इनके लटकाने की जगाह बहुत महत्वपूर्ण होती है। छह घड़ियों वाली पवनघंटी का स्थान ड्रॉइंगरूम की उत्तर-पश्चिम दिशा का कोना है, क्योंकि इस कोने का तत्व धातु है और पवनघंटियां धातु की प्रतीक है।

फेंगशुई के अनुसार, घर के किसी भी खंड की शक्ति में वृद्धि करने के लिए फूलों का बड़े पैमाने पर प्रयोग किया जाता है। पियोनिया का फूल सामान्य रूप से स्त्रियों से संबंधित फूल माना जाता है। यदि लड़कियां विवाह के योग्य हैं तो उस घर में पियोनिया के फूलों का चित्र लगाना बहुत लाभकारी साबित होगा। इसका सबसे उपयुक्त स्थान ड्रॉइंगरूम है। इससे परिवार को विवाह का मनचाहा सौभाग्य प्राप्त हो सकता है। नारंगी व नींबू के वृक्ष सौभाग्य व सम्पन्नता के प्रतीक हैं। सुनहरे रंग की नारंगी सोने की प्रतीक है। अपने बगीचे की दक्षिण-पश्चिम दिशा के कोने में नारंगी का पौधा लगाइए, क्योंकि घर का यह क्षेत्र सम्पत्ति का सूचक है।
ड्रैगन, उत्तम यांग ऊर्जा का प्रतीक है। इसका संबंध पूर्व दिशा से है। इस दिशा का तत्त्व काष्ठ है, इसलिए लकड़ी की नक्काशी वाला ड्रैगन अच्छा रहता है। मिट्टी व स्फटिक से बना हुआ ड्रैगन भी रख सकते हैं, परन्तु धातु का कभी मत रखिए, क्योंकि पूर्व दिशा में धातु, लकडी को नष्ट कर देती है। ड्रैगन यांग ऊर्जा का प्रतीक होने के कारण रेस्ट्रॉन्ट, दुकानें, जहां पर ऊर्जा की अधिक आवश्यकता होती है लोगों का आना जाना अधिक रहता है। वहां पर भी पूर्व दिशा में चित्र रखना बहुत अच्छा होता है। इसे शयनकक्ष में न लगाएं, क्योंकि वहां यांग ऊर्जा की जरूरत नहीं होती है।
क्रीम रंग के चीनी मिट्टी के फूलदान में पीले रंग के फूल रखिए. आपसी संबंध बढ़ाने के लिए यह एक सरल उपाय है। अपने घर में दक्षिण-पश्चिम दिशा के कोने में क्रीम रंग की चीनी मिटटी के फूलदान में पीले रंग के कृत्रिम फूल रखें। यह क्षेत्र स्नेहपूर्ण संबंधों का क्षेत्र है। हंसते हुए बुद्ध की मूर्ति धन-दौलत के लिए मानी जाती है। इससे घर में संपन्नता सफलता और आर्थिक समृद्धि आती है। हंसते हुए बुद्ध की मूर्ति, जहां रखी जाती है वह स्थान बहुत महत्वपूर्ण होता है। इसे लगभाग 30 इंच की ऊंचाई पर मुख्य द्वार के सामने रखना चाहिए। हंसते हुए बुद्ध की मूर्ति मुख्य द्वार से घर में प्रवेश करने वाली ऊर्जा का अभिनंदन करती है। यह ऊर्जा और ज्यादा समृद्धि देती है।
यदि किसी कारण वश इस स्थान पर यह मूर्ति रखना संभव न हो, तो इसे बगल वाली टेबल अथवा कोने की टेबल पर रखा जा सकता है, ताकि तिरछी ही सही वह मुख्य द्वार के सामने हो और उसका चेहरा मुख्य द्वार की ओर हो। हंसते हुए बुद्ध की मूर्ति बेडरूम अथवा भोजन कक्ष में नहीं रखनी चाहिए। सम्पत्ति के इस देवता की पूजा या अराधना नहीं की जाती, बल्कि इसे सजा कर रखा जाता है, क्योंकि इसकी उपस्थिति शुभ मानी जाती है।
आपके घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा का कोना प्रेम, रोमांस और स्नेह से जुड़ा होता है । इस क्षेत्र का तत्व पृथ्वी है। इस क्षेत्र की शक्ति बढ़ाने का बेहतर उपाय असली स्फटिक के दो गोलों का इस्तेमाल करना है। असली स्फटिक के कारण आपके बेडरूम की दक्षिण-पश्चिम दिशा का कोना सक्रिय हो जाता है और आपके प्रिय व्यक्तियों के साथ घर में सुख शान्ति लाता है। स्फटिक के गोलों को कम से कम एक हफ्ते तक नमक के पानी में रखना चाहिए। पश्चिमी देशों की परंपरा के अनुसार लव बर्ड्‍स प्रेम के मुख्य प्रतीक माने जाते हैं, जबकि चीनी संस्कृति में मैडरिन बत्तख का जोड़ा नौजवान पति पत्नियों के बीच प्यार् का प्रतीक होता है। इन्हें घर की दक्षिन-पश्चिम दिशा के कोने में अथवा बेडरूम की दक्षिन-पश्चिम के कोने में रखा जा सकता है, क्योंकि यह दिशा पारस्परिक संबंधों और रोमैंस की है। यदि आप अकेले हैं और विवाह करने के इच्छुक हैं तो आप इन बत्तखों की पेंटिंग अपने बेडरूम में लटका सकते हैं अथवा एक जोड़ी बत्तख अपने बेडरूम में रख सकते हैं। पर, इस बात का ध्यान रखें कि आप केवल बत्तख का एक जोड़ा रखेंगे। न अकेली एक बत्तख रखेंगे और न ही तीन बत्तखें रखेंगे।
गोल्डफिश मछली घर को अपने ड्रॉइंगरूम में रखें, इसके रखने की सही दिशाएं, पूर्व, दक्षिण-पूर्व तथा उत्तर हैं। मछलियां रखना सौभाग्य बढाने का एक कारगर उपाय है। अपने घर के लघु मछली घर अथवा फिश बाउल में 9 गोल्डफिश रखें। इनमें 8 मछलियां लाल या सुनहरी और एक काले रंग की होनी चाहिए। यदि आपकी गोल्डफिश मर जाती है तो आप मायूस न हों उसे बदल दें और नई मछली ले आएं। कहा जाता है कि जब आपके घर की कोई गोल्डफिश मर जाती है तो वह अपने साथ कई दुर्भाग्यों को भी लो जाती है। अगर ऐसा न हुआ तो यह आपत्ति आपके घर के किसी सदस्य पर आती है। पानी वाली वस्तुएं अगर सही स्थान पर रखी जाए तो भाग्य के लिए लाभदायक है। इनको शयन कक्ष में न रखें।
अपने घर के दरवाजे के हैंडल में सिक्के लटकाना घर में पैसे लाने का सबसे बढिया रास्ता है। आप तीन पुराने चीनी सिक्कों को लाल रंग के धागे अथवा रिबन में बांध कर अपने घर के हैंडल में लटका सकते हैं। इससे घर के सभी लोगों को लाभ होगा। ये सिक्के दरवाजे के अंदर की ओर लटकाने चाहिए न कि बाहर की ओर। कृपया इस हद तक न जाएं कि घर के सभी दरवाजों के हैंडल में लटकाने लगें। केवल मेन दरवाज़े के हैंडल में सिक्के लटकाने हैं।
डबल बेड पर एक ही गद्दा होना चाहिए। पति-पत्नी का दो अलग-अलग पलंग पर सोना बुरी बात नहीं है, पर यह अलग होने का कारण बन जाता है। चीन में दरवाजे की ओर पांव करके सोना मृत्यु का सूचक माना जाता है। वास्तव में मृत शरीर इसी अवस्था में रखा जाता है, जो उसके लिए अच्छा माना जाता है। परन्तु, जीवित के लिए यह स्थिति अत्यधिक हानिकारक है। इसको थोड़ा इससे बचा कर रखें। आईनों से एक प्रकार की ऊर्जा बाहर निकलती है। यह ऊर्जा कितनी अच्छी या कितनी अधिक खराब हो सकती है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आईना किस स्थान पर लगा हुआ। शयन कक्ष में आईना लगाना वर्जित है। पलंग के सामने आईना बिल्कुल नहीं होना चाहिए, क्योंकि इससे पति पत्नी के वैवाहिक सम्बन्धों में भारी तनाव पैदा होता है। पलंग पर सो रहे पति-पत्नी को प्रतिबिंबित करने वाला आइना तलाक तक का कारण बन सकता है।
तीन टांगों वाला मेढक बहुत भाग्यशाली माना जाता है। मुंह में सिक्के लिए हुए तीन टांगों वाले मेढक की उपस्थिति बहुत महत्वपूर्ण होती है। इसे अपने घर के भीतर मुख्य दरवाजे के आसपास रखना चाहिए। रसोई या शौचघर के भीतर इसे मत रखिए। ऐसा करना दुर्भाग्य को आमंत्रित करता है । प्रतिदिन सबेरे पूजा-पाठ करने के पश्चात गायत्री मंत्र का जाप कीजिए। समूचा घर इसकी पवित्र तरंगों से भर उठेगा। यदि आप हिन्दू नहीं हैं, तो अपने धर्म की कोई पवित्र धुन बजा सकते हैं, इससे नकारात्मक ऊर्जा घर से बाहर चली जाती है। खुले स्थान पर झाड़ू रखना अपशकुन माना जाता है, इसलिए इसे छिपा कर रखें। भोजन कक्ष में झाड़ू भूलकर भी खुले स्थान में न रखें, क्योंकि अन्न और आय के साफ होने का प्रतीक है। यदि अपने घर के बाहर द्वार के सामने झाड़ू उल्टा करके रखते हैं, तो यह घुसपैठियों से आपके घर की रक्षा करता है। पर यह कार्य केवल रात के समय किया जा सकता है। दिन के समय झाड़ू छिपा कर रखना चाहिए, ताकि किसी को नज़र न आए। किसी स्थान अथवा स्फटिक की वस्तु को शुद्ध करने के लिए नमक मिले पानी का उपयोग किया जाता है। यह जल घर में स्थित नकारात्मकता को दूर करने में बहुत सहायक सिद्ध होता है। घर में प्रतिदिन नमक मिले पानी से पोंछा लगाना बहुत शुभ माना जाता है। पोंछा लगाने वाले पानी में पांच चममच सादा समुद्री नमक मिलाया जा सकता है। इससे किसी भी नकारात्मक ऊर्जा को कम किया जा सकता है।
प्रत्येक घर में भगवान की पूजा करने के लिए धूप व अगबत्तियों का प्रयोग करते हैं। अगरबत्तियों की मोहक सुगंध से आसपास का वातावरण सुगंधित हो उठता है। ये बहुत ही उपयोगी होती हैं। क्योंकि, इनसे नकारात्मक ऊर्जाओं वाली वायु शुद्ध हो जाती है। धूप जलाने से ऊर्जा का सृजन होता है, स्थान पवित्र हो जाता है व मन को शान्ति मिलती है। इसलिए, प्रतिदिन अगरबत्तियां और धूप जलाना अति उत्तम और बहुत ही शुभ है।
फेंगशुई में लम्बी आयु के लिए बांस के पौधे बहुत शक्तिशाली प्रतीक माने जाते हैं। बांस प्रतिकूल परिस्थितियों में भी भरपूर वृद्धि का प्रतिनिधित्व करते हैं और किसी भी प्रकार के तूफानी मौसम का सामना करने का सामर्थ्य रखने के प्रतीक हैं। यह पौधा अच्छे स्वास्थ्य का प्रतीक है। यह अच्छे भाग्य का भी संकेत देता है, इसलिए आप बांस के पौधों का चित्र लगाकर उन्हें शक्तिशाली बना सकते हैं।
किसी भी दरवाजे पर आगे या पीछे की ओर अथवा दरवाजे के मार्ग में कैलेन्डर कभी न लटकाएं, क्योंकि दरवाजे के ऊपर विशेष रूप से मुख्य दरवाजे के ऊपर कैलेन्डर या घड़ी लटकाना घर के सदस्यों की आयु के लिए बुरा है। प्रतीकात्मक रूप से इसका यह मतलब होता है कि आपकी ज़िन्दगी के कितने दिन शेष बचे हैं ।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:These feng shui measures will bring good luck and happiness in your life(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

जानें, इस साल चैत्र नवरात्र की क्‍या है खास तिथि व शुभ मुहूर्तनवरात्रि पर हम क्‍यों करते हैं व्रत, व्रत में इन बातों का जरूर रखें खास ध्‍यान
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »