फिजायें भी बेरंग थींं

Publish Date:Fri Jan 27 10:43:34 IST 2017 | Updated Date:Fri Jan 27 13:44:30 IST 2017

मंजर भी बेनूर थे और फिजायें भी बेरंग थींं,

बस तुम याद आए और मौसम सुहाना हो गया..!!!

यह भी देखें