साथ में

Three days of joy

उल्लास के तीन दिन

Updated on: Wed, 05 Oct 2016 01:45 PM (IST)

अक्टूबर का महीना व्रत-उपवास, देवी स्तुति और त्योहारों से भरपूर होता है। दुर्गा पूजा भी इसी समय होती है। दिल्ली स्थित चितरंजन पार्क में इन दिनों भव्य पंडाल लगा कर पूजा की जाती है। और पढ़ें »

पुराने ट्रंक को दें नया लुक

Give a new look to old trunk

Updated on: Sat, 20 Aug 2016 12:26 PM (IST)
        

अगर आप भी इंटीरियर के शौकीन हैं तो आपको बता दें कि इन दिनों पुराने ट्रंक का फैशन जोरो-शोरों से चल रहा है।पुराने ट्रंक को बाहर निकालें और नए अंदाज में सजाकर घर की शान बढ़ाएं। और पढ़ें »

दिलचस्प लोग : उनको ये शिकायत है...

Updated on: Sat, 20 Aug 2016 10:02 AM (IST)
        

यह सच है कि महंगाई आज की शाश्वत समस्या है, जिसका नियंत्रण हमारे हाथों में नहीं है। और पढ़ें »

दुनिया इन दिनों

world these days

Updated on: Sat, 20 Aug 2016 09:49 AM (IST)
        

अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स के लुजान जू के अंदर लोग न सिर्फ बेखौफ होकर शेरों के करीब चले जाते हैं बल्कि उनकी सवारी भी करते हैं।और पढ़ें »

कुछ कहते हैं सितारे

star says something

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 03:21 PM (IST)
        

इस महीने आपके जीवन में प्यार, आनंद और संतुष्टि बनी रहेगी। आप उत्साहित और भावुक रहेंगे पर निजी संबंधों व व्यावसायिक परिस्थितियों में संतुलन बनाने की आवश्यकता है।और पढ़ें »

मजेदार ढंग से बनाएं स्टूल

Create fun way Stool

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 01:50 PM (IST)
        

घर में जब पुराने न्यूजपेपर्स और मैगजींस का अंबार लग जाता है तो एकबारगी समझ नहीं आता कि इनका किया क्या जाए।ऐसे में अगर यह कहा जाए कि इनसे कुछ मजेदार बनाया जा सकता है तो कैसा लगेगा। और पढ़ें »

कविता पुस्तक समीक्षा

Poetry Book Review

Updated on: Tue, 05 Jul 2016 02:27 PM (IST)
        

बिहार के नवादा जिले में जन्मी असीमा भट्ट ने मगध विश्वविद्यालय से मनोविज्ञान में एम.ए. किया और फिर दिल्ली के राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से अभिनय में डिप्लोमा किया।और पढ़ें »

कुछ कहते हैं सितारे

Some say the stars

Updated on: Tue, 05 Jul 2016 01:54 PM (IST)
        

झेन गुरु ओशो कहते हैं, शास्त्र शून्य की तरफ इंगित करते हैं लेकिन शून्य का कोई शास्त्र नहीं होता। शास्त्र मौन होने को कहते हैं लेकिन मौन को प्रकट करने वाला कोई शब्द नहीं होता।और पढ़ें »

कहने में क्या हर्ज है

Updated on: Tue, 05 Jul 2016 01:06 PM (IST)
        

बातचीत के दौरान हम अकसर कुछ वाक्य बार-बार दोहराते हैं,जिन्हें सुनकर दूसरों को हंसी आ जाती है पर आदत के मुताबिक यह तकियाकलाम नहीं छोड़ पाते।आप भी गौर फरमाएं कुछ ऐसे ही जुमलों पर ।और पढ़ें »

कुछ तो लोग कहेंगे

people will say something

Updated on: Tue, 05 Jul 2016 10:58 AM (IST)
        

हमारे आसपास कई ऐसे लोग होते हैं, जो नकारात्मक बातों से दूसरों का मनोबल तोडऩे की कोशिश करते हैं, पर समझदार लोग इससे नहीं घबराते। और पढ़ें »

प्रशंसा से बढ़ाएं आत्मविश्वास

Increase confidence by praise

Updated on: Tue, 05 Jul 2016 10:21 AM (IST)
        

बच्चों को यह समझाना बहुत ज़रूरी है कि बाहरी सुंदरता अस्थायी है। हमारे आंतरिक गुणों से ही व्यक्तित्व का संतुलित विकास होता है। और पढ़ें »

अगर घर में हों पेट्स

if Pets are in the house

Updated on: Sat, 02 Jul 2016 02:03 PM (IST)
        

घर में पेट्स रखना तनावमुक्त रहने का एक अच्छा तरीका है। अगर आप भी किसी पालतू जानवर को अपनाना चाहती हैं तो सबसे पहले घर में अनुकूल वातावरण तैयार करना जरूरी है।और पढ़ें »

रग्स से सजाएं घर

Decorate the house by Rugs

Updated on: Tue, 28 Jun 2016 02:04 PM (IST)
        

घर के किसी कोने को खास बनाने के लिए रग्स या कालीन की बड़ी अहमियत होती है। आजकल मार्केट में मौजूद कलरफुल, फ्लोरल पैटर्न वाले रग्स घर की खूबसूरती में चार-चांद लगा रहे हैं। और पढ़ें »

इयरफोन हो सकता है नुकसानदेह

Earphone can be harmful

Updated on: Sun, 26 Jun 2016 02:18 PM (IST)
        

आजकल लोगों में इयरफोन पर गाने सुनने का चलन बढ़ता जा रहा है लेकिन इससे उनकी श्रवण-शक्ति कमज़ोर पड़ सकती है। इसलिए इयरफोन का इस्तेमाल बहुत सोच-समझ कर करना चाहिए।और पढ़ें »

दुनिया इन दिनों

The world these days

Updated on: Sun, 26 Jun 2016 01:50 PM (IST)
        

एक महिला ने एक साथ पांच स्वस्थ बच्चों को जन्म देने के कुछ वक्त बाद अनोखा फोटो शूट कराया है। और पढ़ें »

सुनने से बन जाएगा बिगड़ा काम

Impaired work will become with Listening

Updated on: Fri, 24 Jun 2016 06:36 PM (IST)
        

क्या आप एक अच्छे वक्ता हैं?अगर हां तो आपको एक अच्छा श्रोता बनने की भी आवश्यकता है।प्रोफेशनल दुनिया में बोलने के साथ-साथ सुनने की कला भी सीखनी जरूरी है,तभी आप लक्ष्य तक पहुंच पाएंगेऔर पढ़ें »

यह भी देखें