सखी

recipe contest no.  06

रेसिपी प्रतियोगिता नं. 06

Updated on: Sat, 20 Aug 2016 01:49 PM (IST)

सामग्री : रोटी के लिए - 1 कप गेहूं का आटा, 1 कप मैदा, 2 टेबलस्पून तेल, 2-3 टेबलस्पून घी स्टफिंग के लिए - 1 कप मिक्स वेज, 2 टेबलस्पून तेल, 2 टेबलस्पून बारीक कटा हरा धनिया, सब्जी में अगर मसाले हलके हों तो स्वादानुसार नमक, लाल म... और पढ़ें »

दिलचस्प लोग : उनको ये शिकायत है...

Updated on: Sat, 20 Aug 2016 10:02 AM (IST)
        

हमारे आसपास कई ऐसे लोग मौजूद होते हैं, जो अपने जीवन से हमेशा असंतुष्ट रहते हैं। अच्छी से अच्छी बातों में भी ये परेशानी का कोई न कोई सबब ढूंढ ही लेते हैं क्योंकि हमेशा शिकायत करना इनकी आदत में शुमार होता है। आइए मिलते हैं, कुछ ऐसे ही दिलचस्प लोगों से... और पढ़ें »

दुनिया इन दिनों

world these days

Updated on: Sat, 20 Aug 2016 09:49 AM (IST)
        

दुनियाइनदिनों यहां शेरों का नहीं है खौफ अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स के लुजान जू के अंदर लोग न सिर्फ बेखौफ होकर शेरों के करीब चले जाते हैं बल्कि उनकी सवारी भी करते हैं। दुनिया के सबसे खतरनाक जू में शुमार इस चिडिय़ाघर के अंदर लोग शेरों की सवारी करने, उन... और पढ़ें »

कुछ कहते हैं सितारे

star says something

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 03:21 PM (IST)
        

मेष इस महीने आपके जीवन में प्यार, आनंद और संतुष्टि बनी रहेगी। आप उत्साहित और भावुक रहेंगे पर निजी संबंधों व व्यावसायिक परिस्थितियों में संतुलन बनाने की आवश्यकता है। खेलकूद की गतिविधियों में खुद को व्यस्त रख अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखेंगे। बिना ज्यादा... और पढ़ें »

शांति का शत्रु है अहंकार

Ego is the enemy of peace

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 03:04 PM (IST)
        

श्रीमद्भगवद्गीता के सोलहवें अध्याय में श्रीकृष्ण कहते है, 'हे अर्जुन! अहंकार, बल और कामना के अधीन होकर प्राणी परमात्मा से ही द्वेष करने लगता है क्योंकि अहंकार उसे जीत लेता है। अहंकारी पुरुष यह भूल जाता है कि परमात्मा स्वयं उसमें ही बसा है। जो परमात्... और पढ़ें »

श्रावण का स्वागत है हरियाली तीज

Shravan welcome hariyali Teej

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 02:51 PM (IST)
        

ग्रीष्म ऋतु के प्रचंड रूप से त्रस्त होकर लोग वर्षा के आगमन की प्रतीक्षा कर रहे होते हैं। ऐसे में सावन के महीने में पडऩे वाली बारिश की रिमझिम फुहारों की शीतलता से लोगों का मन पुलकित हो उठता है। चारों ओर हरियाली छा जाती है और इसी सुहावने मौसम के स्वागत... और पढ़ें »

बदले की कहानी 'तीन'

revenge story 'TE3N'

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 02:24 PM (IST)
        

कोरियाई फिल्म 'मोंटाज' पर आधारित 'तीन' कोलकाता की पृष्ठभूमि पर बनी थी। इस फिल्म में रहस्य और रोमांच था। सुजॉय घोष ने इसके पहले कोलकाता की ही पृष्ठभूमि पर 'कहानी' का निर्माण और निर्देशन किया था। 'तीन' के वह निर्माता थे। उन्होंने निर्देशन की जिम्मेदारी... और पढ़ें »

उन दिनों कविताएं लिखता था

In those days, used to write poems

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 02:13 PM (IST)
        

उत्तर प्रदेश के बिजनौर से वाया दिल्ली होते हुए मुंबई में रच-बस गए सुशांत सिंह फिल्मों एवं टीवी का परिचित चेहरा हैं। उन्हें उनके ग्रे शेड किरदारों, घनी रौबीली मूंछों और प्रभावशाली आवाज के लिए पहचाना जाता है। फिल्मों में भले ही उन्होंने नकारात्मक किरदा... और पढ़ें »

मजेदार ढंग से बनाएं स्टूल

Create fun way Stool

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 01:50 PM (IST)
        

कई बार अपने घर में स्पेस मैनेजमेंट के कारण हम कम फर्नीचर रखते हैं। बार-बार घर बदलने का झंझट भी हमें ऐसा करने से रोकता है। क्यों न कुछ ऐसा करें कि स्पेस भी ज्य़ादा न घिरे और घर का सीटिंग अरेंज्मेंट भी सही रहे। चलिए, आपको बताते हैं एक तरीका, जिससे जगह भ... और पढ़ें »

ईमानदारी से बढ़कर कुछ भी नहीं

Nothing is more important to be honest

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 01:46 PM (IST)
        

इसी लाइफ में', 'पिज्जा' , 'फितूर', 'पीकू' और 'लाल रंग' जैसी फिल्मों में अपने अभिनय की छाप छोड चुके हाजिरजवाब अक्षय से एक मुलाकात। 1. आपको किन बातों से गुस्सा आता है? मुझे गद्दारों पर बहुत ज्यादा गुस्सा आता है। 2.किस दौर का सिनेमा पसंद है? मुझे 60 और... और पढ़ें »

क्या आप हैं अच्छे नागरिक

are you good citizens

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 12:51 PM (IST)
        

कुछ वर्ष पूर्व हिल स्टेशन पर प्लास्टिक बैग्स, बोतलों और चिप्स के पैकेट्स का कचरा फैलाने वाले पर्यटकों के सामने स्थानीय युवाओं ने ऐसा उदाहरण पेश किया कि वहां मौजूद तमाम लोगों को सबक मिल गया। युवाओं ने सबके सामने कूडा एकत्र किया और एक बडे थैले में भर क... और पढ़ें »

सहजता से स्वीकारें यह बदलाव

Readily accept the change

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 12:00 PM (IST)
        

हर स्त्री के जीवन में बदलाव का एक ऐसा दौर आता है जब उसे पीरियड्स की परेशानियों से छुटकारा मिल जाता है। यह शरीर की सामान्य और स्वस्थ प्रक्रिया है पर इस स्वाभाविक परिवर्तन को स्त्रियां सहजता से स्वीकार नहीं पातीं। भारत में मेनोपॉज की औसत आयु तकरीबन 48 ... और पढ़ें »

क्रिएटिविटी से मिलेगी पहचान

Creativity will be the identification

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 11:50 AM (IST)
        

अपने शौक को आजीविका का साधन बनाने का बडा फायदा है कि आप काम को मजेदार ढंग से कर सकते हैं। ऐसे में न सिर्फ काम में परफेक्शन आता है बल्कि लोग भी आपके काम की सराहना करते हैं, जिससे आपका स्टे्रस लेवल कम होता है और मंजिल पाना भी आसां हो जाता है। क्रिएटिव ... और पढ़ें »

कविता पुस्तक समीक्षा

Poetry Book Review

Updated on: Fri, 19 Aug 2016 10:30 AM (IST)
        

अमीश त्रिपाठी अपनी किताब 'शिवा ट्राइलॉजी' से इतने मशहूर हुए कि उनकी अगली किताब का पाठकों को हमेशा इंतजार रहता है। शिव के बाद उन्होंने पौराणिक पात्र पुरुषोत्तम राजा रामचंद्र पर लिखने का विचार किया। 'सायन ऑफ इक्ष्वाकु' रामचंद्र शृंखला की पहली किताब है।... और पढ़ें »

कहीं इसकी लत न लग जाए

Somewhere not go into addiction

Updated on: Wed, 17 Aug 2016 01:00 PM (IST)
        

अपनी जरूरत के लिए खरीदारी करना तो स्वाभाविक है पर कुछ स्त्रियां शॉपिंग का बहाना ढूंढ रही होती हैं। कभी अपने लिए, कभी सहेली या रिश्तेदार के लिए तो कभी यूं ही टाइम पास के लिए शॉपिंग मॉल की ओर निकल पडऩा उनकी आदत में शुमार होता है। इसीलिए कहा जाता है कि ... और पढ़ें »

कुछ तो लोग कहेंगे

kuch to log kahenge

Updated on: Wed, 17 Aug 2016 12:15 PM (IST)
        

इरादे पर डटी रही सारिका बियानी, रिसडा (पबं.) जब मैंने अपनी नवविवाहिता बहू को आगे पढाने का निर्णय लिया तो लोगों ने कहा कि क्या करेंगी बहू को ज्य़ादा पढा कर, वैसे भी शादी के बाद पारिवारिक जिम्मेदारियों की वजह से लडकियों को पढऩे के लिए समय कहां मिल प... और पढ़ें »

यह भी देखें