PreviousNext

बिश्नोई राजस्थान,हरियाणा में करेंगे भाजपा का सहयोग

Publish Date:Wed, 13 Mar 2013 11:45 AM (IST) | Updated Date:Thu, 14 Mar 2013 04:35 AM (IST)
बिश्नोई राजस्थान,हरियाणा में करेंगे भाजपा का सहयोग

नरेंद्र शर्मा, जयपुर। राजस्थान और हरियाणा में नए राजनीतिक समीकरण बने हैं। हरियाणा जनहित कांग्रेस अब दोनों प्रदेशों में भाजपा का सहयोग कर सरकार बनाएगी। हजकां के अध्यक्ष कुलदीप बिश्नोई ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वसुंधरा राजे के साथ एक मंच पर यह घोषणा की। दोनों ने 'नया हरियाणा, नया राजस्थान' का नारा दिया है।

बीकानेर स्थित बिश्नोई समाज के तीर्थ स्थल पर मंगलवार को आयोजित वार्षिक मेले में कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि दोनों प्रदेशों में कांग्रेस चुनाव हारेगी और भाजपा के साथ मिलकर हजकां सरकार बनाएगी। देशभर से आए बिश्नोई समाज के समक्ष इस घोषणा के कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। विशेषकर राजस्थान में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर। कुलदीप के पिता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल देश में बिश्नोई समाज के बड़े नेता माने जाते थे। राजस्थान के बिश्नोई समाज में तो उनका बड़ा प्रभाव था। वे ही उम्मीदवारों की हार-जीत तय करते थे। भजन लाल के बाद अब उनके बेटे कुलदीप उस भूमिका में हैं।

भजन लाल के अलावा राजस्थान में बिश्नोई समाज के एक और दिग्गज नेता रामसिंह बिश्नोई थे, लेकिन उनका भी निधन हो गया है। रामसिंह बिश्नोई के बेटे और कांग्रेस विधायक मलखान सिंह वर्तमान में नर्स भंवरी के अपहरण व हत्या मामले में जेल में बंद हैं। अब वे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कट्टर विरोधी हैं। पिछले दिनों कोर्ट में पेशी पर जाते समय पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में नया रास्ता तलाशने और कांग्रेस से बिश्नोई समाज का मोहभंग होने की बात कही थी। अब कुलदीप बिश्नोई द्वारा वसुंधरा राजे को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनते हुए देखने और भाजपा के समर्थन की घोषणा से कांग्रेस की चिंता बढ़ गई है। इस नए गठबंधन से चिंतित मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पार्टी के बिश्नोई नेताओं से सक्रिय होने के लिए कहा है। एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, वसुंधरा राजे के माध्यम से कुलदीप बिश्नोई की भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह से बातचीत हुई है। इसी में राजस्थान एवं हरियाणा विधानसभा चुनाव में हजकां द्वारा भाजपा का समर्थन किए जाने की योजना बनी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    वकीलों ने किया न्यायिक कार्य का बहिष्कार अवैध बालगृह से छुड़ाए गए 51 बच्चे
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें