x

तस्वीरें : लै हाथन में लठिया, लटक-लटक कै मारैं सखिया

रसिकन ते अटी रंगीली गली जा घड़ी की बाट जोह रही, बो आय गई। लाड़िली मंदिर की सीढ़िन ते उतर कै हुरियारे हुड़दंग मचात भये आ डटे हैं। केसरिया रंग मै सने ग्वाल-बाल गारी गाय गोपिन ते बाहर निकसवे की मनुहार कर रहे हैं। कछू देर मै अपए अपए घर ते लठिया लै नार नवेली निकस आईं। अब देवर- भाभी की हंसी ठिठोली है उठी। हुरियारेहुरियारिन हिलमिल कै नाच रहे हैं।

कमेंट करें

यह भी देखें