जल की हर बूंद है अनमोल, समझें इसकी अहमियत

  • कहते हैं कि पानी की असल अहमियत वही शख्स समझता है, जो तपते रेगिस्ताोन में एक बूंद पानी की खोज के लिए मीलों भटका हो। वह शख्स पानी की कीमत क्या जाने, जो नदी के किनारे रहता है। भारत के कई राज्यों में पीने के पानी की भारी समस्या है। पिछले साल महाराष्ट्र के सूखा प्रभावित मराठवाड़ा के लातूर ज़िले के लोगों को पीने का पानी ट्रेन में भरकर पहुंचाया गया था। दूसरे राज्य तो छोडि़ये देश की राजधानी दिल्ली के ही कई इलाकों में पानी का संकट रहता है। आने वाले समय में ये संकट और बढ़ सकता है।

  • पानी की हर बूंद महत्‍वपूर्ण है, इसे बचाइए। आमतौर पर हमें पानी की कीमत तब मालूम पड़ती है, जब हमारा गला प्‍यास से सूख रहा होता है।

  • अगर हमने पानी को बचाने के बारे में नहीं सोचा तो 20 सालों बाद आज के मुकाबले आधा पानी धरती पर उपलब्‍ध होगा।

  • विश्‍वभर के शहरों में रहने वाले लगभग 18 प्रतिशत लोगों को पीने के लिए साफ पानी भी उपलब्‍ध नहीं होता है।

  • एक आम इंसान दिनभर में सिर्फ 3 से 4 लीटर ही पानी पीता है, लेकिन इससे कहीं ज्‍यादा पानी वह रोजमर्रा के कामों में बर्बाद कर देता है।

  • पानी के बिना जीवन की कल्‍पना नहीं की जा सकती। लेकिन अगर हम पानी को बर्बाद करते रहे, तो एक दिन बूंद-बूंद को तरसेंगे।

  • आज जल संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्‍यकता है। हम बारिश के पानी को इकट्ठा कर इसका इस्‍तेमाल जरूरत पड़ने पर कर सकते हैं।

  • यदि अभी से विश्‍वभर के लोगों ने पानी बचाने के उपायों पर काम नहीं किया, तो अगले 15 सालों में पूरी दुनिया को 40 प्रतिशत पानी की किल्‍लत झेलनी पड़ सकती है।

Tata Tea Jaago Re initiative in association with Jagran

उबले नींबू का पानी पीजिए और फिर देखें ये चमत्‍कारी फायदे उबले नींबू का पानी पीजिए

  • हां
  • नही
  • पता नही
vote now