x

तस्‍वीरें : शनिदेव के इस अनोखे मंदिर में भ्रष्टाचारियों को नहीं मिलती एंट्री

भ्रष्टाचार शब्द लोगों के आचरण से जुड़ा है। लोगों के आचरण में पैठ जमा चुकी भ्रष्टाचार का समूल उपचार सरकार के साथ समाज और उसमें रहने वाले लोगों को ही करना होगा। बेमन से ही सही पर व्यवस्था में ऊपर से नीचे की ओर प्रवाहित हो रही भ्रष्टाचार को खत्म करने की तमाम कोशिशें हुई हैं। ऐसी ही एक कोशिश उस व्यक्ति ने भी की जो सोये हुए नागरिकों को जगाने, उनके हक़ के लिए लड़ने की कोशिशें करता रहा है। पेशे से सामाजिक कार्यकर्ता उस व्यक्ति ने भ्रष्टाचार मिटाने के लिए एक मंदिर का निर्माण कराया है।

कमेंट करें

यह भी देखें