PreviousNext

पाक सीमा पर सैनिकों की संख्या कम कर सकता है भारत

Publish Date:Mon, 14 May 2012 04:43 PM (IST) | Updated Date:Mon, 14 May 2012 04:47 PM (IST)
पाक सीमा पर सैनिकों की संख्या कम कर सकता है भारत
भारत पाकिस्तान से लगी सीमा पर वर्ष 2008 के मुंबई हमले के बाद युद्ध की स्थिति से निपटने के लिए तैनात किए गए सैनिको की संख्या मे कमी कर सकता है। मीडिया रिपोर्ट मे यह बात कही गई है।

इस्लामाबाद। भारत पाकिस्तान से लगी सीमा पर वर्ष 2008 के मुंबई हमले के बाद युद्ध की स्थिति से निपटने के लिए तैनात किए गए सैनिकों की संख्या में कमी कर सकता है। मीडिया रिपोर्ट में यह बात कही गई है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि गत आठ अप्रैल को पाकिस्तानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच इस बारे में सहमति बनी थी। मुंबई हमले के बाद दो वर्ष तक ठप पड़ी शांति वार्ता को बहाल करने के बाद यह पहला ठोस कदम होगा। इसकी औपचारिक घोषणा भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पाकिस्तान यात्रा के दौरान हो सकती है। एक अधिकारी के हवाले से अखबार ने कहा है कि मनमोहन सितंबर या अक्टूबर में पाकिस्तान आ सकते हैं।

जरदारी की एक दिवसीय भारत यात्रा के दौरान उनके साथ गए राजनेताओं का कहना है कि यह महत्वपूर्ण घटनाक्रम पिछले दो वर्ष से पिछले दरवाजे से चल रही बातचीत का नतीजा है। अधिकारियों ने बताया कि मुंबई हमले के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के साथ विवादित सीमा पर खास तौर पर कश्मीर में युद्धकालीन स्थिति में सैनिकों को तैनात कर दिया था। मुंबई हमले के लिए पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को जिम्मेदार ठहराया गया था। विशेषज्ञों के अनुसार युद्धकालीन स्थिति में सीमा पर सेना नियमित चौकसी करती है, जबकि शांतिकाल में सीमा की सुरक्षा का जिम्मा विशेष बलों का होता है। भारत का सीमा सुरक्षा बल तथा पाकिस्तान के रेंजर्स इसे निभाते हैं।

अधिकारियों ने बताया कि भारत के कदम के जवाब में पाकिस्तान ने सियालकोट और अन्य जगहों पर सैनिक तैनात किए। एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी के मुताबिक हालांकि वर्ष 2008 में भारत ने सैनिकों को सीमा पर तैनात किया था, लेकिन उस समय उतना तनाव नहीं था, जितना वर्ष 2002 में भारतीय संसद पर हमले के बाद था। संसद पर हमले के लिए पाकिस्तान के दो आंतकी संगठनों को जिम्मेदार बताया गया था। रक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि भारत के किसी कदम से पाकिस्तान को देश के उत्तर में अधिक सैनिक भेजने का अवसर मिलेगा जहां वह अलकायदा और तालिबान से लड़ रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान यात्रा के दौरान मनमोहन सिंह सियाचिन और सर क्रीक सीमा विवाद के बारे में भी महत्वपूर्ण घोषणा कर सकते हैं। ऐसी संभावना है कि दोनों पक्ष विश्व के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन से सेना हटाने को लेकर सहमत हो सकते हैं, जहां गत सात अपै्रल को हिमस्खलन में 139 पाकिस्तानी सैनिक जिंदा दफन हो गए थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:India orders Army back from attack posts on Pak border?(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

विस्फोटकों का जखीरा बरामद अहमदीनेजाद की हत्या की साजिश नाकाम
यह भी देखें