PreviousNext

ग्लोबल वार्मिग का खतरा हो सकता है नियंत्रण से बाहर

Publish Date:Mon, 31 Mar 2014 04:07 PM (IST) | Updated Date:Mon, 31 Mar 2014 04:10 PM (IST)
ग्लोबल वार्मिग का खतरा हो सकता है नियंत्रण से बाहर
यदि दुनिया के देश गर्म होने वाली गैसों के प्रदूषण में कमी नहीं लाते तो ग्लोबल वार्मिग से होने वाला नुकसान बेकाबू हो सकता है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में यह चेतावनी दी गई है।

योकोहामा। यदि दुनिया के देश गर्म होने वाली गैसों के प्रदूषण में कमी नहीं लाते तो ग्लोबल वार्मिग से होने वाला नुकसान बेकाबू हो सकता है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में यह चेतावनी दी गई है।

ह्वाइट हाउस का कहना है कि वह इस रिपोर्ट को काम करने की मांग के रूप में देख रहा है। अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि इस बारे में निष्क्रियता बरतने के विनाशकारी परिणाम होंगे। जलवायु परिवर्तन पर अंतर-सरकारी पैनल ने योकोहामा में सोमवार को 2610 पृष्ठों की रिपोर्ट जारी की। इसके चेयरमैन राजेंद्र पचौरी ने कहा कि आज काम किए जाने की जरूरत है। गैसों के उत्सर्जन में कमी लाए बिना ग्लोबल वार्मिंग का खतरा नियंत्रण से बाहर हो सकता है। रिपोर्ट के एक लेखक व इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ द रेड क्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसाइटीज के एक शीर्ष अधिकारी मार्टिन वैन आल्स्ट ने कहा, 'यदि हम शीघ्र ही ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन कम नहीं करते हैं तो संबंधित खतरे का नियंत्रण हमारे हाथ से निकल जाएगा। इसे लेकर खतरा पहले से ही बढ़ चुका है।' नोबेल पुरस्कार विजेता वैज्ञानिकों की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 21 वीं सदी में यूरोप में गर्मी की लहर, अमेरिका में जंगलों की आग, ऑस्ट्रेलिया में सूखा और मोजांबिक, थाइलैंड व पाकिस्तान की भीषण बाढ़ से पता चलता है कि किस प्रकार मानवता मौसम की मार को झेल रही है। रिपोर्ट में कहा गया कि जलवायु में अधिक परिवर्तन होने पर इस तरह का खतरा और बढ़ सकता है।

पढ़ें: ग्लोबल वार्मिग में गिरावट के बावजूद गर्म रहेगी धरती

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Global warming dials up our risks UN report says(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच गोलाबारीलापता विमान को खोजने की कोई समय सीमा नहीं: एबॉट
यह भी देखें