PreviousNext

धरती को सुरक्षा देने वाली ओजोन परत की सेहत सुधरी

Publish Date:Thu, 11 Sep 2014 06:37 PM (IST) | Updated Date:Thu, 11 Sep 2014 06:37 PM (IST)
धरती को सुरक्षा देने वाली ओजोन परत की सेहत सुधरी
पृथ्वी की सुरक्षात्मक ओजोन परत सुधार की सही राह पर और आगामी कुछ दशकों में इसकी स्थिति अच्छी हो सकती है। इसकी वजह ओजोन परत के क्षरण के खिलाफ संयुक्त अंतरराष्ट्रीय कार्रवाई है।

जेनेवा, आइएएनएस। पृथ्वी की सुरक्षा छतरी कही जाने वाली ओजोन परत में सुधार हो रहा है। आगामी कुछ दशकों में इसकी स्थिति अच्छी हो सकती है। इसकी वजह ओजोन परत के क्षरण के खिलाफ संयुक्त अंतरराष्ट्रीय कार्रवाई है।

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम [यूएनईपी] और विश्व मौसम विज्ञान संगठन [डब्ल्यूएमओ] द्वारा यह निष्कर्ष निकाला गया है।

क्यों जरूरी ओजोन परत

ओजोन परत गैस का एक नाजुक कवच है जो पृथ्वी की सूर्य से निकलने वाली पराबैंगनी किरणों से रक्षा करता है।

क्या हो गया इसे

पृथ्वी के पर्यावरण प्रदूषण और

रेफ्रीजरेशन और एयर कंडीशन से निकालने वाली गैसों से इसमें काफी नुकसान की आशंका जताई गई थी। इन गैसों को हम आमतौर पर क्लोरोफ्लोरोकार्बन और हैलोन के रूप में जानते हैं, जिसका उपयोग रेफ्रिजरेटरों, स्प्रे केन आदि में होता है।

अब क्या है स्थिति

मांट्रियल प्रोटोकाल के तहत ओजोन परत को नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों को लेकर जो कार्रवाई की गई है, उससे ओजोन परत के सुधरकर 1980 के स्तर पर वापस आने की संभावना है।

क्या है मांट्रियल प्रोटोकाल

दुनिया के तमाम देशों के बीच इस प्रोटोकाल पर 16 सितंबर, 1987 को हस्ताक्षर किया गया था। इसका उद्देश्य था ओजोन परत के नुकसान के जिम्मेदार तत्वों के उत्पादन को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करना।

वर्ष 1987 में ओजोन क्षरण तत्वों में हर साल उत्सर्जित होने वाले करीब 10 गीगाटन कार्बन डाईऑक्साइड का योगदान था।

अब क्या हाल है

उत्सर्जनों में मांट्रियल प्रोटोकाल की वजह से अब 90 फीसद से अधिक की कमी आई है। फिलहाल प्रतिवर्ष 0.5 गीगाटन कार्बन डाईऑक्साइड का उत्सर्जन हो रहा है।

पढ़ें: ओजोन परत को नुकसान पहुंचाने वाली चार नई गैसों की खोज

पढ़ें: ओजोन परत पहले जैसी होने में लगेंगे 40 साल

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:ÏÚÌè ·¤ô âéÚÿææ ÎðÙð ßæÜè ¥ôÁôÙ ÂÚÌ ·¤è âðãÌ âéÏÚè(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

सीमा विवाद का न्यायसंगत समाधान चाहता है चीनमोदी के स्वागत समारोह की एंकर होंगी 'मिस अमेरिका' नीना
यह भी देखें