PreviousNextPreviousNext

नव संवत्सर, संस्कृति स्वागत का अवसर

Publish Date:Fri, 08 Mar 2013 10:02 PM (IST) | Updated Date:Fri, 08 Mar 2013 10:03 PM (IST)

बस्ती : चैत्र वर्ष प्रतिपदा यानी कि भारतीय नव वर्ष यानी कि नव संवत्सर हमारी संस्कृति और संस्कारों के स्वागत का अवसर होता है। विविध कार्यक्रमों के माध्यम से इस क्षण का अभिनंदन किया जाएगा।

यह बातें हुई गुरुवार को समाजसेवी अखिलेश दुबे के आवास पर कैलाश दुबे की अध्यक्षता में आयोजित तैयारी बैठक में। उन्होंने कहा कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा संवत् 2070, 11 अप्रैल को है। इस दिवस को भव्यतम बनाने के लिए तमाम योजना तय की गयी है। रूपरेखा पर चर्चा करते हुए पं.सरोज मिश्र व अभय पाल ने कहा कि इस दिन अमहट पुल से प्रभात फेरी के रूप में कलश यात्रा निकाली जाएगी जो गायत्री शक्तिपीठ परिसर में समाप्त होगी। वहां विशाल हवनोत्सव होगा। प्रभात फेरी के स्वागत के लिए जगह जगह तोरण द्वार बनाए जाएंगे, इसमें शामिल झांकियों का जगह जगह पूजन-आरती होगी। दोपहर दो बजे शहर के टाउन हाल में स्कूली बच्चों की रंगोली, पोस्टर व निबंध प्रतियोगिता होगी। शाम चार से छह बजे तक प्रबुद्धजनों की विचार संगोष्ठी होगी। शाम छह बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा। आयोजन समिति में शामिल वशिष्ठ नगर सेवा न्यास, रामकृष्ण भाव प्रचार सेवा समिति, बस्ती विकास समिति, विवेकानंद शोध संस्थान सहित अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों सहित डा.वीरेंद्र त्रिपाठी, दिनेश चंद्र त्रिपाठी, सत्येंद्र शुक्ल जिप्पी आदि मौजूद रहे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

शिक्षक संघ ने बुलाई आमसभामौनी बाबा ने किया गोशाला के गेट का शिलान्यास

 

अपनी भाषा चुनें
English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें

Name:
Email:

Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

 

    वीडियो

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      नव वर्ष के स्वागत में भजन संध्या
      संवत्सर के प्रथम दिवस हुई सृष्टि की रचना
      प्रतिभाओं को दें अवसर: डीएम