PreviousNext

कभी सोचा नहीं था कि इतने विंबलडन खिताब जीतूंगा : फेडरर

Publish Date:Mon, 17 Jul 2017 06:52 PM (IST) | Updated Date:Mon, 17 Jul 2017 06:52 PM (IST)
कभी सोचा नहीं था कि इतने विंबलडन खिताब जीतूंगा : फेडररकभी सोचा नहीं था कि इतने विंबलडन खिताब जीतूंगा : फेडरर
रोजर फेडरर ने स्वीकार किया कि उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि वह आठ बार विंबलडन खिताब जीतेंगे

लंदन। स्विट्जरलैंड के दिग्गज टेनिस स्टार रोजर फेडरर ने स्वीकार किया कि उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि वह आठ बार विंबलडन खिताब जीतेंगे। उन्होंने कहा कि यदि उनसे कोई कहता कि 2017 में वह दो ग्रैंडस्लैम जीतेंगे तो वह इस पर ठहाका लगाते। उन्होंने फाइनल में मारिन सिलिच को 6-3, 6-1, 6-4 से मात दी थी। 

तीन सप्ताह बाद 36 बरस के होने जा रहे फेडरर ने ब्रिटेन के विलियम्स रेनशॉ (07) और अमेरिका के पीट संप्रास (07) का रिकॉर्ड तोड़कर आठवां विंबलडन खिताब जीता। सोलह साल पहले फेडरर ने संप्रास को हराकर विंबलडन जीता था। अब 19 ग्रैंडस्लैम फेडरर के नाम हैं, जबकि राफेल नडाल उनसे चार खिताब पीछे हैं।

फेडरर ने कहा, 'पीट को हराने के बाद मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मैं इतना कामयाब होऊंगा। मुझे लगा था कि कभी विंबलडन फाइनल तक पहुंचूंगा और जीतने का कोई मौका मिलेगा। कभी सोचा नहीं था कि आठ खिताब अपने नाम करूंगा। इसके लिए या तो आप अपार प्रतिभाशाली हों या माता-पिता और कोच तीन बरस की उम्र से आपको कोर्ट पर तैयार करने में लग जाएं। मैं उन बच्चों में से नहीं था। मुझे पता था कि मैं एक बार फिर खिताब जीतूंगा पर इस स्तर पर कभी नहीं सोचा था। यदि मुझसे कोई कहता कि मैं इस साल दो ग्रैंडस्लैम जीतूंगा तो मैं हंस देता। मालूम हो कि इस साल फेडरर ने विंबलडन ओपन से पहले ऑस्ट्रेलिया ओपन का खिताब जीता था। 

फेडरर विंबलडन में अपना 11वां फाइनल खेलते हुए फिर चैंपियन बने। वह 2014, 2015 में भी फाइनल में पहुंचे थे, लेकिन सर्बिया के नोवाक जोकोविक के हाथों हार गए थे। इसके अलावा 2016 में वह सेमीफाइनल में कनाडा के मिलोस राओनिक के हाथों हार गए थे। विंबलडन में आठ खिताब केअलावा फेडरर पांच बार ऑस्ट्रेलियन ओपन, एक बार फ्रेंच ओपन और पांच बार यूएस ओपन खिताब जीत चुके हैं। 

 

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Do not laugh I never dreamed I hadd be Wimbledon legend(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

विश्व लीग सेमीफाइनल : अर्जेंटीना से हारी महिला हॉकी टीमकरियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर पहुंचे रामनाथन
यह भी देखें