फार्मूला वन रेस की तैयारी में जुटा शासन

Publish Date:Thu, 06 Sep 2012 08:42 PM (IST) | Updated Date:Thu, 06 Sep 2012 09:59 PM (IST)
फार्मूला वन रेस की तैयारी में जुटा शासन
जागरण ब्यूरो, लखनऊ। बुद्ध इंटरनेशन सर्किट ग्रेटर नोएडा में 26-28 अक्टूबर तक आयोजित होने वाली 2012 फार्मूला वन रेस की तैयारी शुरू हो गयी है। गुरुवार को इस संदर्भ में अवस्थापना एवं

जागरण ब्यूरो, लखनऊ। बुद्ध इंटरनेशन सर्किट ग्रेटर नोएडा में 26-28 अक्टूबर तक आयोजित होने वाली 2012 फार्मूला वन रेस की तैयारी शुरू हो गयी है। गुरुवार को इस संदर्भ में अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अनिल कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में रेस की तैयारियों का जायजा लिया गया। पुलिस ने भी सुरक्षा और यातायात के मद्देनजर कार्ययोजना प्रस्तुत की।

गुरुवार को संपन्न हुई बैठक में सरकारी एवं आयोजन समिति के अधिकारियों को इंटरनेशनल सर्किट तक पहुंचने और ट्रैफिक को चुस्त दुरुस्त व सुचारू बनाने के दिशा निर्देश देते हुए गुप्ता ने कहा कि फार्मूला वन रेस देश का एक बड़ा अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजन है और देश-विदेश के दर्शक इसे देखने उत्तर प्रदेश आते हैं। इसलिए आवागमन को बेहतर बनाने के प्रयास किये जायें। उन्होंने कहा कि परिवहन सुविधाओं, रास्तों, टिकट और पार्किंग के विषय में समुचित प्रचार प्रसार किया जाना चाहिए। आयोजन समिति के अधिकारियों से कहा गया कि वे नोएडा-ग्रेटर नोएडा अथारिटी से समन्वय कर ऐसी व्यवस्था करें कि जाम न लगे। इस बार बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट से आवागमन के लिए नोलेज पार्क व नोएडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन से बसों की संख्या बढ़ाकर 200 कर दी जायेगी। कुल चार सौ बसें लगेंगी। दिल्ली के कुछ स्थानों से भी दर्शकों के लिए बसों का संचलन होगा।

नोएडा रमारमण ने बताया कि इस वर्ष नोएडा अथारिटी नोलेज पार्क के पास पार्क एंड राइड सुविधा के लिए अतिरिक्त जमीन देगी जिससे इसकी क्षमता चार हजार से बढ़कर दस हजार हो जायेगी। पार्क एण्ड राइड सुविधा के तहत दर्शकों को निर्दिष्ट पार्किंग से रेस-सर्किट तक ले जाने के लिए बसों का प्रबंध होता है। बैठक में सचिव अवस्थापना व औद्योगिक विकास संजय प्रसाद, आईजी कानून-व्यवस्था बद्री प्रसाद सिंह, नोएडा के जिलाधिकारी एमकेएस सुंदरम, नोएडा के एसएसपी और मेरठ रेंज के डीआइजी भी उपस्थित थे।

पिछली बार सपा ने फार्मूला वन रेस का किया था विरोध:

समाजवादी पार्टी की सरकार इस बार भले फार्मूला वन रेस को लेकर उत्साहित है, लेकिन पिछली बार इसकी जमकर आलोचना की थी। पार्टी के प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा था फार्मूला वन रेस में बीस अरब से ज्यादा रुपये खर्च हुए और रेस खत्म होने पर शराब व शबाब का खुलकर प्रदर्शन हुआ। भारत में जहां 80 फीसदी आबादी 20 रुपये रोज पर गुजर-बसर करती है, वहां राजसी खेल का आयोजन श्मसान में शाही दावत के इंतजाम जैसा है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ने बड़े घरानों से दोस्ती के लिए इस खेल में दिलचस्पी ली और उनके इस खेल प्रेम की बलि नोएडा के वे किसान चढ़ गये, जिनकी 875 एकड़ जमीन जबरन छीनकर फार्मूला वन रेस की सर्किट तैयार की गयी है। इसके बहाने सरकार ने एक उद्योगपति घराने को उपकृत किया। सपा ने स्वतंत्र एजेंसी से प्रायोजक कंपनी में मुख्यमंत्री की साझेदारी की जांच कराने की मांग की थी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Authorities gear up for F1 race(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें