PreviousNext

विश्व लीग सेमीफाइनल : अर्जेंटीना से हारी महिला हॉकी टीम

Publish Date:Mon, 17 Jul 2017 06:43 PM (IST) | Updated Date:Mon, 17 Jul 2017 06:43 PM (IST)
विश्व लीग सेमीफाइनल : अर्जेंटीना से हारी महिला हॉकी टीमविश्व लीग सेमीफाइनल : अर्जेंटीना से हारी महिला हॉकी टीम
भारतीय महिला हॉकी टीम को विश्व लीग सेमीफाइनल के आखिरी ग्रुप मैच में दुनिया की तीसरे नंबर की टीम अर्जेंटीना ने 3 -0 से हरा दिया।

जोहानिसबर्ग, प्रेट्र। भारतीय महिला हॉकी टीम को विश्व लीग सेमीफाइनल के आखिरी ग्रुप मैच में दुनिया की तीसरे नंबर की टीम अर्जेंटीना ने 3 -0 से हरा दिया। भारत को क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड से खेलना है।

अर्जेंटीना के लिए रोशियो सांचेज (दूसरे मिनट), मारिया ग्रानाटो (14वें मिनट) और नोएल बिरियोनुएवो (25वें मिनट) ने गोल किए। वहीं, भारतीय टीम एक भी गोल नहीं कर सकी। अर्जेंटीना ने दूसरे ही मिनट में रोशियो के गोल की मदद से बढ़त बना ली थी। भारतीय गोलकीपर सविता ने शुरुआत से ही कई गोल बचाए। उन्होंने पहला शॉट बचा लिया, लेकिन रोशियो ने दूसरे शॉट पर गोल कर दिया। भारतीय टीम बराबरी का गोल करने के करीब पहुंची, जब नमिता टोप्पो के पास पर वंदना कटारिया ने हमला किया, लेकिन विरोधी गोलकीपर ने उसे कामयाब नहीं होने दिया। सविता ने पहले 15 मिनट में चार गोल बचाए।

अर्जेंटीना ने पहला पेनाल्टी कॉर्नर छठे मिनट में हासिल किया, लेकिन नमिता ने इस पर गोल नहीं होने दिया। मारिया ग्रानाटो ने 14वें मिनट में गोल करके अर्जेंटीना को 2-0 से बढत दिलाई। भारत को 23वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन रानी के शॉट को विरोधी गोलकीपर ने बचा लिया। अर्जेंटीना को 25वें मिनट में पेनाल्टी स्ट्रोक मिला, जिसे नोएल ने गोल में बदला।

अर्जेंटीना को 34वें मिनट में लगातार पेनाल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन भारतीय गोलकीपर रजनी इतिमारपू ने उसे बचा लिया। हाफ टाइम के बाद सविता की जगह रजनी ने गोलकीपिंग का जिम्मा संभाला था। आखिरी क्वार्टर में भारतीय डिफेंडरों ने अर्जेंटीना को कोई गोल नहीं करने दिया। 

 

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें


क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Argentina beat India(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

रामकुमार और करमन को करना पड़ा फाइनल में हार का सामनाकभी सोचा नहीं था कि इतने विंबलडन खिताब जीतूंगा : फेडरर
यह भी देखें