PreviousNext

नाईक का आतंकी कनेक्शन खंगालने को सरकार ने बनाई टीमें

Publish Date:Sun, 10 Jul 2016 02:02 AM (IST) | Updated Date:Sun, 10 Jul 2016 02:09 AM (IST)
नाईक का आतंकी कनेक्शन खंगालने को सरकार ने बनाई टीमें
विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक के संदिग्ध कनेक्शन की जांच करने के लिए सरकार ने एनआईए और आईबी की नौ टीमें बना दी गई हैं।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। आतंकी मानसिकता को हवा देने वाले विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक के खिलाफ सरकार ने जांच की गति तेज कर दी है। नाईक के भाषणों के विडियो, देश-विदेश के संदिग्ध कनेक्शन के साथ उसकी फंडिग की जांच करने के लिए एनआईए और खुफिया एजेंसी आईबी की नौ टीमें बना दी गई हैं। ढाका आतंकी हमले के गुनहगारों के नाईक से प्रेरित होने के खुलासे के मद्देनजर उसके भाषणों को खंगालने के लिए एक विशेष टीम बनाई गई है।

सरकार के इन कदमों से साफ है कि जाकिर नाईक पर आतंकियों को प्रभावित करने के मामले में शिकंजा गहराता जा रहा है। गृह मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एनआईए और आईबी की टीमें जाकिर के उपदेश वाले भाषणों, उसकी संस्था और पीस टीवी चैनल को मिलने वाले देशी-विदेशी चंदे के साथ उसके बाहर-भीतर के सभी संदिग्ध कनेक्शन को खंगाल रही हैं।

पढ़ें- आतंकियों के अध्यापक जाकिर नाईक का बिहार से भी रहा है नाता ...जानिए

सूत्रों के अनुसार चार टीम जाकिर के पीस टीवी पर दिए गए धार्मिक उपदेशों की सीडी की जांच कर उसका आकलन कर रही है। तीन टीमें नाइक और उसके संगठन की वेबसाइट से लेकर सोशल मीडिया प्लेटफार्म की जांच में जुटी हैं। तो दो टीम उसके फेसबुक अकाउंट को खंगालते हुए उसका विशलेषण कर रही हैं।

सूत्रों के अनुसार नाइक के संगठन को अनुदान के रुप में मिले विदेशी धन और इसके मकसद की जांच करने की भी तैयारी शुरू हो गई है। इसके लिए वित्त मंत्रालय की फाइनेंसियल इंटेलीजेंस यूनिट को सक्रिय कर दिया गया है। तो गृह मंत्रालय इस बात की जांच कर रहा है कि विदेशी अनुदान लेने में जाकिर के संगठन ने एफसीआरए कानून का उल्लंघन तो नहीं किया है।

पढ़ें- नाईक को दूत बता घिरे दिग्गी ने राजनाथ पर साधा निशाना

गौरतलब है कि बांग्लादेश की राजधानी ढाका के आतंकी हमले में शामिल एक आतंकी ने जाकिर नाईक के भाषणों से प्रभावित होकर आतंकी मानसिकता की ओर मुखातिब होने की बात कही थी। मारे गए इस आतंकी ने फेसबुक अकाउंट पर जाकिर की तारीफ की थी। इस खबर के आने के बाद से ही हरकत में आयी केन्द्र सरकार और जांच एजेंसियों ने जाकिर नाईक की आतंकी विचारधारा को फैलाने में भूमिका की जांच शुरू कर दी। शुक्रवार को सरकार ने नाइक के संगठन की वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया। तो सूचना प्रसारण मंत्रालय ने उसके उपदेश दिखाने वाले टीवी चैनल पीस टीवी को नहीं दिखाने का केबल ऑपरेटरों को निर्देश जारी कर दिया।

सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू की अगुवाई में हुई एक उच्चस्तरीय बैठक के बाद आपरेटरों को चैनल का प्रसारण नहीं करने के निर्देश के साथ चेतावनी भी जारी कर दी गई। इसमें कहा गया है कि इस निर्देश का उल्लंघन कर चैनल का प्रसारण करने वाले आपरेटरों के खिलाफ केबल टीवी कानून की धारा के तहत कार्रवाई की जाएगी।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Teams created by the government to find out the terrorist connections Zakir Naik(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

बुरहान की मौत से घाटी में भड़की हिंसा, 11 की मौत, इंटरनेट सेवा पर रोकदूरसंचार घोटाले को लेकर जेटली पर बरसी कांग्रेस
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »