PreviousNext

टीम इंडिया को पाकिस्तान के साथ खेलने का विरोध करना चाहिए था- शिवसेना

Publish Date:Mon, 19 Jun 2017 12:46 PM (IST) | Updated Date:Mon, 19 Jun 2017 01:16 PM (IST)
टीम इंडिया को पाकिस्तान के साथ खेलने का विरोध करना चाहिए था- शिवसेनाटीम इंडिया को पाकिस्तान के साथ खेलने का विरोध करना चाहिए था- शिवसेना
राउत ने कहा कि मीरवाइज जैसे लोगों को देश छोड़ देना चाहिए साथ ही क्रिकेट टीम को पाकिस्तान के साथ मैच का विरोध करना चाहिए था।

मुंबई, एएनआई। चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया पाकिस्तान से हार गई। इसे लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है। जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने एक ट्वीट पर क्रिकेटर गौतम गंभीर ने ट्वीट किया। इसके बाद शिवसेना भी इस लड़ाई में उतर आई है। 

इस मामले पर अब शिवसेना ने कहा है कि भारत को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट नहीं खेलना चाहिए। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि मीरवाइज जैसे लोग खाते भारत की है और बजाते पाकिस्तान की हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश पाकिस्तान के साथ कोई संबंध नहीं रखना चाहता है फिर वो चाहे किसी भी तरह का क्यों न हो।

राउत ने कहा कि मीरवाइज जैसे लोगों को देश छोड़ देना चाहिए साथ ही क्रिकेट टीम को पाकिस्तान के साथ मैच का विरोध करना चाहिए था। 

उन्होंने कहा कि ये अलगाववादी नेता हमेशा ही पाकिस्तान की बजाते आ रहे हैं। वो भारत में रहकर पाकिस्तान का गुणगान करते हैं। ऐसे मामलों में सरकार को गंभीरता से विचार करना चाहिए। 

आपको बता दें कि मीरवाइज ने पाकिस्तान की जीत पर ट्वीट किया, सब तरफ पटाखों की आवाज आ रही है। ऐसा लग रहा है कि ईद जल्दी आ गई। बेहतर खेलने वाली टीम का दिन रहा। पाकिस्तानी टीम को जीत की बधाई।

इस ट्वीट पर गौतम गंभीर ने लिखा- आपके लिए एक सुझाव है। आप बॉर्डर पार क्यों नहीं चले जाते? वहां आपको बेहतर पटाखे (चाइनीज?) और ईद का जश्न मिलेगा। मैं आपकी पैकिंग में मदद कर सकता हूं।

यह भी पढ़ें: ये हैं भारत की शर्मनाक हार के 4 गुनहगार, पाक के सामने किया शर्मिंदा

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Team India should have opposed playing against Pak says Sena on Gambhir(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

ऑस्‍ट्रेलिया के वीजा के लिए 1 जुलाई से भारतीय कर सकेंगे ऑनलाइन अप्‍लाईजानें, क्‍यों 2000 करोड़ में से सिर्फ 0.4% राशि ही पहुंच पाई PoK से आए लोगों तक
यह भी देखें