लोकसभा के लिए जौनपुर से भाग्य आजमाएंगे रविकिशन

Publish Date:Sat, 16 Feb 2013 09:06 PM (IST) | Updated Date:Sat, 16 Feb 2013 09:41 PM (IST)
लोकसभा के लिए जौनपुर से भाग्य आजमाएंगे रविकिशन

जागरण संवाददाता, वाराणसी। भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रविकिशन आगामी लोकसभा चुनाव में जौनपुर से भाग्य आजमाएंगे। कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने की पूरी संभावना है। उनका कहना है कि वह शुरू से ही कांग्रेस से जुड़े रहे। अब खुले तौर पर राजनीति में आने की ख्वाहिश है। यदि इस बार टिकट मिला तो ठीक वरना फिर कभी नहीं। वह शनिवार को फातमान रोड स्थित काशी गोमती संयुत ग्रामीण बैंक शाखा में मीडिया से मुखातिब थे। एक सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि जब सेंसर बोर्ड किसी फिल्म को पास कर देता है तो उस पर स्टेट आदि की रोक नहीं लगनी चाहिए। चाहे वह विश्वरूप हो या अन्य कोई फिल्म। उनकी फिल्म जिला गाजियाबाद 22 फरवरी को रिलीज होगी। यह फिल्म गत वर्ष ही रिलीज होनी थी लेकिन फिल्म के शीर्षक को लेकर विवाद था और फिल्म पर स्टे लग गया। फिल्म मोहल्ला अस्सी लगभग पूरी हो चुकी है, मार्च के आखिर तक यह रिलीज हो जाएगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Tags: # ravi kishan , # to contest , # election , # from jaunpur , # uttar pradesh , # congress ,

Web Title:ravi kishan to contest election from jaunpur

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

 

अपनी भाषा चुनें
English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें

Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

 

  • Manoj Dubey | Updated Date:01 Jul 2013, 11:04:51 PM

    मित्रो, रवि किशन अगर भा ज पा से चुनाव लड़ते तो हिन्दु समाज समर्थन करता लेकिन रविकिशन ऐसी पार्टी से चुनाव लड़ रहे है जो की केवल मुसलमान के लिए कम करती है,मैआप से जौनपुर के विधायक नदीम जावेद के बारे में पूछना चाहूँगा की नदीम जावेद कभी भी हिन्दू के लिए कोई काम किया है नहीं तो आप बताये कोई भी हिन्दू कांग्रेस को कैसे वोट देगा

यह भी देखें

स्थानीय

    यह भी देखें
    Close
    राहुल चाहें तो सी बीच पर वाइन का गिलास लेकर आराम करें
    जौनपुर में जाति की तपिश से टकरा रही लहर
    2171 उम्मीदवारों को भारी पड़ा चुनाव खर्च का ब्योरा न देना