PreviousNext

पाकिस्‍तान करना चाहता है कुलभूषण जाधव की रॉ चीफ से संबंधों की जांच

Publish Date:Sat, 24 Jun 2017 01:13 PM (IST) | Updated Date:Sat, 24 Jun 2017 01:13 PM (IST)
पाकिस्‍तान करना चाहता है कुलभूषण जाधव की रॉ चीफ से संबंधों की जांचपाकिस्‍तान करना चाहता है कुलभूषण जाधव की रॉ चीफ से संबंधों की जांच
कुलभूषण जाधव को पिछले साल पाकिस्तान ने रॉ का एजेंट बताते हुए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया था।

नई दिल्‍ली, जेएनएन। पाकिस्‍तानी सरकार ने कुलभूषण जाधव का एक नया वीडियो जारी कर फिर उसे जासूसी का दोषी ठहराया है। इस वीडियो में भी जाधव अपना जुर्म कबूत करते नजर आ रहे हैं। साथ ही इस वीडियो में वह रॉ चीफ का भी नाम ले रहे हैं। पाकिस्‍तान अब जाधव से रॉ चीफ के संबंधों की जांच करना चाहता है। 

नए वीडियो में कुलभूषण जाधव ने पाकिस्तान आर्मी चीफ से दया की अपील की है। कुलभूषण जाधव को पिछले साल पाकिस्तान ने रॉ का एजेंट बताते हुए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया था। पाकिस्तान की कोर्ट जाधव को पहले ही फांसी की सजा सुना चुकी है। इस नए वीडियो में जाधव कह रहे हैं कि वह रॉ एजेंट हैं और रॉ चीफ के साथ मिलकर उन्‍होंने आतंकी हमलों की योजना बनाई। 

टाइम्‍स ऑ‍फ इंडिया की खबर के मुताबिक, इस्‍लाबाद में जाधव मामले की जांच कर रहे अधिकारी अब रॉ चीफ से पूछताछ करना चाहती है, क्‍योंकि नए वीडियो में उनका नाम सामने आया है। हालांकि भारतीय अधिकारियों का कहना है कि जाधव का नया वीडियो भी झूठा है, इसे गंभीरता से लेने की आवश्‍यकता नहीं है। इससे पहले जारी वीडियो में जाधव को अनिल गुप्‍ता का नाम लेते दिखाया गया था। इसमें जाधव कह रहा था कि अनिल गुप्‍ता उसे हैंडलर के रूप में इस्‍तेमाल कर रहा था। हालिया वीडियो में जाधव फिर अलग नाम ले रहा है। 

हालांकि विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज पहले ही यह साफ कर चुकी हैं कि जाधव का मामला अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट में चल रहा है। ऐसे में वीडियो जारी कर पाकिस्‍तानी सरकार कोर्ट का अपमान कर रही है। पाकिस्‍तान को ऐसी हरकतें नहीं करनी चाहिए।  

इसे भी पढ़ें: कुलभूषण जाधव के जिंदा होने पर सस्पेंस, भारत ने जताई चिंता

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Pakistan wants RAW chief Anil Kumar probed for links with Kulbhushan Jadhav(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

महिला सुरक्षा में बिहार से भी बदतर है त्रिपुरा: हिमंत बिस्‍व शर्माआतंकी फंडिंग पर बेनकाब हो गया पाक, अमेरिका का भी भरोसा उठा
यह भी देखें