PreviousNext

सिर्फ 9 साल की भारतीय ने फतह किया रूस का माउंट एल्‍ब्रस, बनाया रिकॉर्ड

Publish Date:Tue, 20 Jun 2017 09:49 AM (IST) | Updated Date:Tue, 20 Jun 2017 09:49 AM (IST)
सिर्फ 9 साल की भारतीय ने फतह किया रूस का माउंट एल्‍ब्रस, बनाया रिकॉर्डसिर्फ 9 साल की भारतीय ने फतह किया रूस का माउंट एल्‍ब्रस, बनाया रिकॉर्ड
धनश्री ने परिवार के साथ कार्डियो, चढ़ाई करने की तकनीक और सांस लेने के व्यायाम करने का गहन प्रशिक्षण लिया था। वे चढ़ाई के दौरान तीन दिन तक सूर्य के प्रकाश को नहीं देख पाए।

नई दिल्ली, जेएनएन। गुजरात के सूरत की नौ साल की बालिका धनश्री मेहता ने रूस के माउंट एल्ब्रस को फतह कर लिया है। वह इस शिखर को छूने वाली सबसे छोटी बालिका हैं। यह चोटी सात महाद्वीपों की अलग-अलग सबसे ऊंची चोटियों में से एक है।

बताया जा रहा है कि धनश्री और उसके 13 साल के भाई जानम तथा उसके माता-पिता सारिका और जिग्नेश मेहता ने 10 जून को इस चोटी पर चढ़ाई शुरू की थी। धनश्री ने यूरोप की सबसे ऊंची चोटी को शनिवार को छुआ। परिवार की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, धनश्री ने कहा 'मैं बहुत खुश हूं, इस खुशी को शब्दों में अभिव्यक्त नहीं कर सकती। सर्वोच्च पर्वतों में से किसी एक के ऊपर कैसा महसूस करते हैं, यह शब्‍दों में बयां नहीं किया जा सकता। सबसे अच्छी बात यह है कि मेरा परिवार पूरे समय मेरे साथ था। मौसम खतरनाक था, लेकिन हमने एक सेकंड भी एक-दूसरे कि लिए असुरक्षित महसूस नहीं किया।'

धनश्री ने परिवार के साथ कार्डियो, चढ़ाई करने की तकनीक और सांस लेने के व्यायाम करने का गहन प्रशिक्षण लिया था। वे चढ़ाई के दौरान तीन दिन तक सूर्य के प्रकाश को नहीं देख पाए। परिवार वाले बताते हैं कि हमारे प्रशिक्षण और तैयारी ने वास्तव में हमारी मदद की। धनश्री की मां सारिका जो कि 'बाइकिंग क्वीन' की संस्थापक और मनोचिकित्सक हैं ने बताया कि एक वक्त हम पहाड़ पर तूफान में बुरी तरह से फंस गए थे और हमने पीछे हटने का फैसला किया। लेकिन बच्चों के दृढ़ निश्चय को देख कर हमने आगे बढ़ने का इरादा जारी रखा।

इसे भी पढ़ें: अंगूठे से एक मिनट में 75 पुश अप

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Nine year old Indian girl Dhanshree becomes youngest to climb Mount Elbrus(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

योगासनों से बदल गई जीवन की दशा और दिशायोग की अलख जगा रहे मुस्लिम भाई-बहन
यह भी देखें