PreviousNext

योग की अलख जगा रहे मुस्लिम भाई-बहन

Publish Date:Tue, 20 Jun 2017 09:55 AM (IST) | Updated Date:Tue, 20 Jun 2017 09:55 AM (IST)
योग की अलख जगा रहे मुस्लिम भाई-बहनयोग की अलख जगा रहे मुस्लिम भाई-बहन
पुण्य कार्य में जुटे हैं ओल्ड फरीदाबाद बाबा नगर निवासी इब्ने हसन और नईम अख्तर के बेटा शाहवेज और बेटी जैनब। दोनों योग प्रशिक्षक हैं।

जासं, फरीदाबाद : धर्म व जाति के नाम पर आज भले ही कुछ लोग भेदभाव रखते हों, लेकिन योग अपने नाम के अनुरूप समाज को आपस में जोड़ने का काम कर रहा है। ऐसे ही पुण्य कार्य में जुटे हैं ओल्ड फरीदाबाद बाबा नगर निवासी इब्ने हसन और नईम अख्तर के बेटा शाहवेज और बेटी जैनब। दोनों योग प्रशिक्षक हैं। स्वयं तो योग करते ही हैं और लोगों को भी योग कराते हैं। शाहवेज बीए में स्नातक हैं, जैनब अभी बीए अंतिम वर्ष में हैं।

पढ़ाई के साथ-साथ दोनों भाई-बहन योग की अलख जगा रहे हैं। भाई-बहन अब अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियों में जुटे हुए हैं। उनका कहना है कि मुस्लिम होकर योग से जुड़ने के कारण उन्हें कई बार कुछ लोगों के विरोध का सामना करना पड़ता है। मां नईम अख्तर का कहना है कि जेनब ने स्कूल टाइम से ही योग को अपना लिया था। उन्होंने बताया कि योग से कई तरह की बीमारियां दूर होती हैं। दोनों भाई-बहन सेक्टर-46 प्रगति अंपार्टमेंट में लोगों को योगाभ्यास करा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : योगासनों से बदल गई जीवन की दशा और दिशा

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Muslim brothers and sisters awaiting yoga(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

सिर्फ 9 साल की भारतीय ने फतह किया रूस का माउंट एल्‍ब्रस, बनाया रिकॉर्डदस वर्ष पूर्व लिया पर्यावरण संरक्षण का प्रण, लगा चुके हैं 5 हजार से ज्यादा पेड़
यह भी देखें