PreviousNext

मुंबई: बेटी को दुष्कर्म से बचाने के लिए मां ने लगा दी जान की बाजी

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 04:08 PM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 05:33 PM (IST)
मुंबई: बेटी को दुष्कर्म से बचाने के लिए मां ने लगा दी जान की बाजीमुंबई: बेटी को दुष्कर्म से बचाने के लिए मां ने लगा दी जान की बाजी
जेठ को बांद्रा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और हत्या का प्रयास करने का आरोप लगाया है।

मुंबई, जेएनएन। अमरावती हरिजन नामक महिला मासीना अस्पताल में अपने जिंदगी की जंग लड़ रही है। दीपक जेठ (25) नाम के आरोपी ने महिला पर कथित रूप से पेट्रोल डाला और आग लगा दी। इस घटना से अमरावती का शरीर तकरीबन 94 फीसद बुरी तरह जल गया।

ये है मामला

पुलिस के मुताबिक, जेठ अमरावती की बेटी से जबरदस्ती करने की कोशिश कर रहा था, उसे रोकने की कोशिश में अमरावती ने अपनी जान की बाजी लगा दी। जानकारी के मुताबिक यह घटना 14 अप्रैल को हुई जब करीब 11 बजे बांद्रा स्थित गणेश नगर में अमरावती की 18 साल की बेटी अपने घर के बाहर बैठी थी।

ज्योति (बदला हुआ नाम) ने बताया कि उस दिन मैं जब घर से बाहर किसी काम से जा रही थी, उसी वक्त मेरे ऊपर पेट्रोल डाला गया, इससे पहले कि मैं आग की चपेट में आ पाती, मैं मदद के लिए भागी और मैंने अपने शरीर पर पानी डाला। कुछ देर बाद जब घर लौटी तो मैंने देखा कि मेरी मां बुरी तरह आग में झुलस रही थी, उनके साथ अन्य कांता और उसकी दो साल की बेटी भी आग की चपेट में आ गई थी। उन्हें सायन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

आरोपी गिरफ्तार

अमित जेठ को बांद्रा पुलिस ने हत्या की कोशिश के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया है। 


अमरावती ने कहा फांसी पर लटका देखना चाहती हूं

एक रिपोर्टर ने भायकुला में मासीना हॉस्पिटल का दौरा किया, उन्होंने बताया कि अमरावती काफी दर्द में थी, फिर भी उसने अपनी इच्छा व्यक्त करने के लिए हिम्मत इकट्ठा की और कहा, "मैं उसे फांसी पर लटका देखना चाहती हूं, जिसने मेरे और मेरे परिवार के साथ यह सब क्या किया है, उन्होंने कहा कि इसके लिए उसे कीमत चुकानी पड़ेगी।"

18 लाख रुपये का बन चुका है बिल

डॉक्टरों का कहना है कि अमरावती को ग्राफ्टिंग के लिए त्वचा दान की ज़रूरत हो सकती है, ताकि उनके शरीर को पूरी तरह ठीक किया जा सके। उनके मेडिकल बिल पहले से ही 18 लाख रुपये का बन चुका है, इसके बाद ग्राफ्टिंग की प्रक्रिया दुगनी महंगी होगी।

मदद के लिए गुहार लगा रहा परिवार 

महंगे इलाज के चलते ज्योति और उसके दो छोटे भाई अपनी मां के मेडिकल बिलों का भुगतान करने के लिए कोई रास्ता खोज रहे हैं। ज्योति के पिता, पेशे से एक माली हैं वो कि मदद मांगने में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें: तिरुवनंतपुरम: 16 साल की लड़की बनी 12 साल के लड़के के बच्चे की मां

यह भी पढ़ें: चचेरी बहन के साथ ससुराल में करता था रेप, मां कहती थी चुप रहो

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Mother who stood up to sex pest set ablaze(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

धनुष के मां-बाप का दावा करने वाले दंपति को लगा झटका, केस हुआ खारिजमुंबई में बैंक आफ इंडिया की इमारत में लगी आग
यह भी देखें