PreviousNext

मौनी अमावस्या स्नान पर्व आज, संगम नगरी में उमड़ा जनसैलाब

Publish Date:Thu, 26 Jan 2017 10:56 PM (IST) | Updated Date:Fri, 27 Jan 2017 09:43 AM (IST)
मौनी अमावस्या स्नान पर्व आज, संगम नगरी में उमड़ा जनसैलाबमौनी अमावस्या स्नान पर्व आज, संगम नगरी में उमड़ा जनसैलाब
प्रशासन का अनुमान है कि इस महापर्व पर करीब डेढ़ करोड़ लोग स्नान करेंगे। गुरुवार की शाम तक एक करोड़ श्रद्धालु मेला क्षेत्र पहुंच चुके थे।

जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : माघ मेले का प्रमुख स्नान पर्व मौनी अमावस्या आज है। इस महापर्व पर संगम में डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है। प्रशासन का अनुमान है कि इस महापर्व पर करीब डेढ़ करोड़ लोग स्नान करेंगे। गुरुवार की शाम तक एक करोड़ श्रद्धालु मेला क्षेत्र पहुंच चुके थे।

मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर रायबरेली में लिफ्ट कैनाल बंद कराए जाने के बाद गुरुवार की शाम तक पर्याप्त मात्रा में पानी प्रयाग पहुंच गया है। ऐसा प्रशासन का दावा है। पिछले तीन दिन से गंगा में पानी की कमी को लेकर संत आक्रोश जता रहे थे। मकर संक्रांति के मुकाबले मौनी अमावस्या पर्व पर स्नानघाटों की संख्या बढ़ाकर 18 कर दी गई है। शुक्रवार की भोर से ही स्नान शुरू हो जाएगा। शहर के जंक्शन, प्रयाग, दारागंज, नैनी एवं झूंसी रेलवे स्टेशन पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ गुरुवार की देर रात पहुंच चुकी थी। स्नान पर्व पर सुरक्षा के लिहाज से व्यापक प्रबंध किए गए हैं। भारी वाहनों के शहर में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

यह भी पढ़ें: दुर्लभ संयोगः सदियों बाद 24 घंटे से अधिक समय मौनी अमावस्या पुण्ययोग

वाराणसी, भदोही से आने वाले वाहनों को हंडिया से डायवर्ट कर नवाबगंज बाईपास से भेजा जा रहा है। इसी तरह जौनपुर से आने वाले वाहनों को सहसों चौराहा, लखनऊ, रायबरेली और प्रतापगढ़ की ओर से आने वाले वाहनों को नवाबगंज सोरांव बाईपास, कानपुर से आने वाले वाहनों को कोखराज बाईपास और शंकरगढ़ से आने वाले वाहनों को गौहनिया घूरपुर कर्मा रोड की तरफ से डायवर्ट कर दिया गया है। प्रशासन ने चार पहिया वाहनों के लिए अतिरिक्त पार्किंग स्थल की व्यवस्था की है।

ये है मौनी अमावस्या पर व्यवस्था

-मेला क्षेत्र में 8560 फीट स्नानघाट का निर्माण।

- 450 टेंट के रैन बसेरे।

-मेला क्षेत्र के अलावा शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में 12 एंबुलेंस अतिरिक्त लगाई गईं।

-हाईवे के थानों पर क्यूआरटी के साथ किसी अनहोनी से निपटने के लिए एंबुलेंस तैनात की गई हैं।

-सुरक्षा के मद्देनजर मेला में पुलिस और सुरक्षाबलों की ड्यूटी तीन की जगह दो शिफ्ट में लगाई गई है।

-स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय, बेली, काल्विन, डफरिन समेत मेला हॉस्पिटल में अलग से 110 बेड की व्यवस्था की गई है।

आ गए प्रमुख संत-महात्मा

मौनी अमावस्या स्नान पर्व में शामिल होने के लिए प्रमुख साधु-संतों का आगमन हो चुका है। इन प्रमुख संतों में जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती, अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि, जगद्गुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, जगद्गुरु स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती, स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ, जगद्गुरु बिनैका बाबा, महामंडलेश्र्वर माधवदास, महामंडलेश्वर संतोष दास, महंत रामतीर्थदास, स्वामी महेशाश्रम, स्वामी हरिचैतन्य ब्रह्मचारी एवं देवप्रभाकर शास्त्री जैसे नाम शामिल हैं।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Mauni amavasya festival today million people will take bath in holy sangam(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

70वीं वर्षगांठ पर भारत-रूस अपने संबंधों को इस तरह से देंगे नया आयामयौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे मेघालय के राज्यपाल ने इस्तीफा दिया
यह भी देखें